India

भारत ने गेहूं के निर्यात पर लगाया बैन, जानिए क्या है वजह…

wheat-export-india-bans-wheat-export-with-immediat-effect-wheat-procurement-and-production
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

भारत ने गेहूं के निर्यात पर तुरंत प्रभाव से प्रतिबंध लागू कर दिया है. वहीं हाल ही में भारत ने गेंहू के निर्यात को बढ़ाने का लक्ष्य रखा था. गेंहू के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने एक प्रतिनिधिमंडल भी गठित किया था. जिसे गेहूं निर्यात को बढ़ावा देने की संभावनाओं का पता लगाने के लिए मोरक्को, ट्यूनीशिया और इंडोनेशिया सहित नौ देशों को व्यापार प्रतिनिधिमंडल भेजने की बात सामने आई थी. लेकिन इस घोषणा के ठीक दो दिन बाद ही सरकार ने तत्काल प्रभाव से गेंहू के निर्यात पर रोक लगा दी.

आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार, भारत ने बढ़ती घरेलू कीमतों को नियंत्रित करने लिए ये फैसला लिया है. डीजीएफटी ने कहा, ‘गेहूं की निर्यात नीति तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित है…’यह भी स्पष्ट किया कि भारत सरकार द्वारा अन्य देशों को उनकी खाद्य सुरक्षा जरूरतों को पूरा करने के लिए और उनकी सरकारों के अनुरोध के आधार पर दी गई अनुमति के आधार पर गेहूं के निर्यात की अनुमति दी जाएगी.

ये भी पढ़ें -: सपना चौधरी के साथ खुलेआम गंदी हरकत करने लगा था शख्स, पास खड़े लोग बस हंसते रहे

एक अलग अधिसूचना में, डीजीएफटी ने प्याज के बीज के लिए निर्यात शर्तों को आसान बनाने की घोषणा की. देशभर में पिछले काफी समय से खाद्य सामग्री के दाम तेजी से बढ़ रहे हैं. जिस वजह से लोगों की परेशानी भी बढ़ रही है. अनुमान है कि देश में पेट्रोल-डीजल के साथ-साथ खाद्य पदार्थ भी महंगे होते जा रहे हैं. खाद्य तेल के दाम जहां आसमान छू रहे हैं. जबकि गेहूं के आटे के दाम भी बढ़ गए हैं.

एक जानकारी के मुताबिक पिछले साल के मुकाबले आटे की कीमत करीब 13 फीसदी बढ़ गई है. खुदरा बाजार में अब आटे की अधिकतम कीमत 59 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई है. खुदरा बाजारों में गेहूं के आटे की औसत कीमत सोमवार को 32.91 रुपये प्रति किलोग्राम थी, जो पिछले साल की समान अवधि की तुलना में लगभग 13 प्रतिशत अधिक है. सरकारी आंकड़ों में यह बताया गया है.

ये भी पढ़ें -: स्टेज पर मुस्लिम बच्ची को बुलाने पर भड़के मुस्लिम नेता, आरिफ मोहम्मद खान ने लगाई लताड़

आठ मई, 2021 को गेहूं के आटे का अखिल भारतीय औसत खुदरा मूल्य 29.14 रुपये प्रति किलोग्राम था. मंत्रालय 22 आवश्यक वस्तुओं – चावल, गेहूं, आटा, चना दाल, अरहर (अरहर) दाल, उड़द दाल, मूंग दाल, मसूर दाल, चीनी, गुड़, मूंगफली तेल, सरसों का तेल, वनस्पति, सूरजमुखी तेल, सोया तेल, पाम तेल, चाय, दूध, आलू, प्याज, टमाटर और नमक की कीमतों की निगरानी करता है. इन वस्तुओं की कीमतों के आंकड़े देशभर में फैले 167 बाजार केंद्रों से एकत्र किए जाते हैं.

ये भी पढ़ें -: ज्ञानवापी विवाद पर बोले JDU नेता- हम जबरन इतिहास बदलने के खिलाफ हैं

ये भी पढ़ें -: राहुल भट के पिता बोले- युवा कश्मीरी पंडितों को नौकरी, पुनर्वास के नाम पर मार डालने की योजना बनाई है

ये भी पढ़ें -: हिंदी बोलने वाले पानी पूरी बेचते हैं… वाले बयान पर अब मंत्री ने दी सफाई

सोर्स – ndtv.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-