India

वसीम रिजवी के बाद अली अकबर ने अपनाया हिंदू धर्म, कही ये बात…

waseem-rizvi-and-ali-akbar-two-big-names-who-converted-to-hindu-religion
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

फिल्ममेकर अली अकबर और शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्‍यक्ष सैयद वसीम रिजवी… ये दो बड़े नाम हैं जिन्‍होंने पिछले 5 दिनों में इस्‍लाम से नाता तोड़ लिया। रिजवी ने चार दिन पहले हिंदू धर्म अपनाया और अपना नाम जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी रखा। अकबर ने घोषणा की है कि और उनकी पत्‍नी लुसीअम्मा इस्‍लाम छोड़ हिंदू धर्म अपनाएंगे।

रिजवी के कदम को लेकर जहां राजनीतिक निहितार्थ निकाले जा रहे हैं, वहीं अकबर का फैसला भावनात्‍मक ज्‍यादा है। वह देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत के खिलाफ टिप्‍पणियों और प्रतिक्रियाओं से खफा हुए और उनका इस्‍लाम से मोहभंग हो गया।

यह भी पढ़ें -: खुले मैं नमाज़ मुद्दे पर कम मनोहर लाल खट्टर ने गुरुग्राम प्रशासन के पुराने आदेश को पलटा

सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने जनरल रावत की मौत से जुड़ी खबरों पर हंसने वाले इमोजी से प्रतिक्रिया दी। मलयालम फिल्‍में बनाने वाली अली अकबर ने कहा कि मुस्लिमों की तरफ से ऐसी हरकत का विरोध इस्लाम के सीनियर नेताओं और धर्मगुरुओं ने भी नहीं किया है। देश के बहादुर बेटे का ऐसा अपमान स्वीकार्य नहीं है। अकबर ने सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट कर कहा कि उनका धर्म से विश्वास उठ गया है।

अपने बयानों से सुर्खियों में रहने वाले वसीम रिजवी ने 7 दिसंबर को गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर में धर्म परिवर्तन किया। धर्म परिवर्तन करने के बाद वसीम रिजवी ने कहा कि आज से वह सिर्फ हिंदुत्व के लिए काम करेंगे।

यह भी पढ़ें -: लाठीचार्ज से भड़के पूर्व IAS,बोले- योगी जी की पुलिस ‘परिवार स्वरूप’ जनता का आदर करती हुई

उन्होंने कहा कि मुसलमानों का वोट किसी भी सियासी पार्टी को नहीं जाता है। मुसलमान केवल हिंदुत्व के खिलाफ और हिंदुओं को हराने के लिए वोट करता है। शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन ने सनातन धर्म को सबसे बेहतर बताते हुए कहा कि ‘इस्लाम कोई धर्म नहीं है बल्कि एक आतंकी संगठन है। उन्होंने कहा कि हिंदुत्व ही सब धर्मों में सबसे बेहतर है।

यह भी पढ़ें -: ममता बनर्जी ने आखिर क्यों महुआ मोइत्रा को लगाई फटकार? पढ़ें विस्तार से…

यह भी पढ़ें -: सिंधिया के साथ दौड़ लगा रहे नेताजी बीच रास्ते हुए धड़ाम, वीडियो हुवा वायरल

सोर्स – navbharattimes.indiatimes.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-