India

नहीं रहे पत्रकार विनोद दुआ, लंबी बीमारी के बाद निधन

vinod-dua-no-more-veteran-journalist-died-after-prolonged-illness
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Vinod Dua No More : वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ (Vinod Dua) का शनिवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. जाने-माने पत्रकार विनोद दुआ ने 67 साल की उम्र में ली आख़िरी सांस ली. विनोद दुआ की दो बेटियां मल्लिका दुआ (Mallika Dua ) और बकुल दुआ (Bakul Dua) हैं. मल्लिका एक हास्य अभिनेत्री जबकि बाकुल साइकोलॉजिस्ट हैं. एनटीडीवी से विनोद दुआ का पुराना वास्ता रहा है. विनोद दुआ के साथ बेहद करीब से काम करने वाले एनडीटीवी के डॉ. प्रणय रॉय हमेशा कहते रहे हैं, “विनोद न केवल महानतम पत्रकारों में से एक थे, बल्कि वह अपने युग के पत्रकारों में सर्वश्रेष्ठ थे.

एनडीटीवी पर ‘ख़बरदार इंडिया’ कार्यक्रम किया है. ‘विनोद दुआ लाइव’ जैसे अहम कार्यक्रम भी किया. NDTV पर ‘ज़ायका इंडिया का’ बहुत चर्चित कार्यक्रम रहा. दूरदर्शन पर ‘जनवाणी’ से बनाई अपनी पहचान. दूरदर्शन पर चुनाव विश्लेषण के लिए भी विनोद दुआ खूब चर्चित रहे.

यह भी पढ़ें -: कंगना को किसानों ने घेरा तो माफी मांगते हुवे लगाया किसान एकता जिंदाबाद का नारा

उन्हें कुछ वक्त पहले कोरोना संक्रमण हुआ था. उनकी बेटी मल्लिका दुआ ने सोशल मीडिया पोस्ट कर पिता के निधन की जानकारी दी. विनोद दुआ को डॉक्टरों की सलाह पर पिछले दिल्ली के अपोलो हास्पिटल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था.मल्लिका ने कहा, हमारे निर्भय और असाधारण पिता हमारे बीच नहीं रहे. हास्य कलाकार मल्लिका दुआ ने इंस्टाग्राम पोस्ट में यह लिखा. उन्होंने कहा कि रविवार दोपहर लोधी क्रेमेटोरियम में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

इस साल की शुरुआत में कोरोना के कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. कोरोना वायरस से संक्रमित होने के चलते इसी साल जून में उन्होंने अपनी पत्नी और रेडियोलॉजिस्ट पद्मावती दुआ को खो दिया था. मल्लिका ने लिखा, उन्होंने एक अद्वितीय जीवन जिया, दिल्ली की शरणार्थी कॉलोनी से शुरू करते हुए 42 सालों तक श्रेष्ठ पत्रकारिता के शिखर तक बढ़ते हुए और हमेशा सच के साथ खड़े रहे.

यह भी पढ़ें -: इतिहासकार चमनलाल बोले- भगत सिंह कह रहे थे फांसी मत दो, गोली मार दो, सावरकर माफी मांग रहे थे

उन्होंने लिखा कि वह अब हमारी मां, उनकी प्यारी पत्नी चिन्ना के साथ स्वर्ग में है, जहां वे गीत गाना, खाना बनाना, यात्रा करना और एक दूसरे से लड़ना-झगड़ना जारी रखेंगे.

देश में कोरोना की दूसरी लहर के चरम पर रहने के दौरान विनोद दुआ और उनकी पत्नी गुरुग्राम के एक अस्पताल में भर्ती कराए गए थे. उनकी सेहत तब से खराब थी और उन्हें बार-बार अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था. लेकिन उनका स्वास्थ्य बिगड़ता चला गया.

यह भी पढ़ें -: 2017 से पहले लुंगी छाप गुंडे घूमते थे, टोपी वाले धमकाते थे, ये सब याद रखना- केशव प्रसाद मौर्य

यह भी पढ़ें -: अखिलेश यादव ने किया ममता बनर्जी के मोर्चे का ‘स्वागत’, कांग्रेस के बारे मैं कही ये बात…

सोर्स – ndtv.in.  Vinod Dua No More


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-