India

नोएडा प्राधिकरण के गेट पर ताला मारने के मामले में 800 किसानों पर केस

up-police-registered-case-against-800-farmer-in-noida-authority-protest
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

एक तरफ देश में तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन कर रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर नोएडा में किसान मुआवजे को लेकर प्राधिकरण के खिलाफ उग्र रवैया अपना रखे हैं। इसी से संबंधित एक मामले में करीब 800 किसानों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

नोएडा प्राधिकरण कार्यालय के बाहर चल रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान महिलाओं सहित 800 प्रदर्शनकारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई। इन पर हत्या के प्रयास, दंगा, गलत तरीके से बंधक बनाने, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया गया है। नोएडा के 81 गांवों के सैकड़ों किसान, प्राधिकरण के खिलाफ पिछले दो महीनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

प्रदर्शनकारी किसान करीब एक दशक पहले विकास के लिए अधिग्रहित अपनी जमीन के लिए अतिरिक्त मुआवजे की मांग कर रहे हैं। किसान एकता परिषद के नेता सुखबीर यादव ने तब कहा था- हम कई दिनों से अधिक मुआवजे, आवासीय भूखंडों, आबादी के बंदोबस्त के साथ-साथ अन्य लाभ की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन नोएडा प्राधिकरण हमारी मांगों को पूरा करने के बजाय हमें धोखा देने की कोशिश कर रहा है।जब हमने अपनी मांगों को जोरदार तरीके से रखने के लिए प्राधिकरण कार्यालय में प्रवेश करने की कोशिश की, तो पुलिस ने हमें पीटना शुरू कर दिया और कई को घायल कर दिया”।

यह भी पढ़ें -: BJP नेता से मिले समीर वानखेड़े के परिजन तो नवाब मलिक बोले- बोतल से बाहर आ ही गया जिन्न

पुलिस अधिकारियों के अनुसार, किसान नेता खलीफा के नेतृत्व में प्रदर्शनकारियों ने सेक्टर 6 में नोएडा प्राधिकरण कार्यालय के मुख्य द्वार को बंद कर दिया था। इसके साथ ही घटनास्थल पर तैनात पुलिसकर्मियों पर भी हमला किया था।

पुलिस के अनुसार घटना वाले दिन- “प्रदर्शनकारियों ने हरोला में बारात घर से नोएडा प्राधिकरण की ओर एक मार्च शुरू किया, नारेबाजी की और अधिकारियों के खिलाफ गाली-गलौज की। मार्च का नेतृत्व करने वालों ने पुलिस की घोषणाओं और उन्हें शांत करने के प्रयासों पर कोई ध्यान नहीं दिया। प्रदर्शनकारियों ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लगाए गए बैरिकेड्स को तोड़ दिया था”।

अपर पुलिस उपायुक्त रणविजय सिंह के अनुसार हेड कांस्टेबल जितेंद्र प्रसाद ने किसान परिषद के अध्यक्ष सुखबीर खलीफा समेत करीब 800 किसानों के खिलाफ इस मामले में पुलिस में शिकायत की है। जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़ें -: अब सावरकर और सुषमा स्वराज पर रखे जाएंगे नए कॉलेज के नाम

यह भी पढ़ें -: शमी की ढाल बनकर ट्रोल्‍स के आगे खड़े हुवे विराट, इतिहास में ये पहले भी हो चुका है

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-