Politics

राष्ट्रपति के कानपुर दौरे पर बीमार महिला की गाड़ी रोकी, हो गई मौत, पुलिस ने अब मांगी माफी

up-police-apologised-over-womans-death-in-kanpur-delayed-by-traffic
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के तीन दिवसीय दौरे पर आए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों की लापरवाही से एक महिला की मौत हो गई है. राज्य सरकार ने कानपुर शहर में गंभीर रूप से बीमार महिला वंदना मिश्रा की मौत पर माफी मांगी है. राष्ट्रपति के कानपुर यात्रा के दौरान शुक्रवार की रात उसे और उसके परिवार को कथित तौर पर यातायात प्रतिबंध में रोक दिया गया था. इस वजह से महिला समय पर अस्पताल नहीं पहुंच सकी.

राष्ट्रपति कोविंद उत्तर प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर हैं और कल (शुक्रवार) रात ट्रेन से कानपुर पहुंचे थे. उनका पैतृक गांव पड़ोसी ‘कानपुर देहात’ जिले के अंतर्गत आता है.

मरने वाली 50 वर्षीय महिला वंदना मिश्रा इंडियन एसोसिएशन ऑफ इंडस्ट्रीज के कानपुर चैप्टर की महिला विंग की मुखिया थीं. बीमार पड़ने और गंभीर लक्षण विकसित होने के बाद उनके परिवार ने उन्हें कल रात एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया था. मिश्रा हाल ही में कोविड से रिकवर हुई थीं.

मिश्रा की हालत बिगड़ने पर उनका परिवार दूसरे अस्पताल में शिफ्ट कराने निकला था, तभी कानपुर में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद का आगमन हुआ. राष्ट्रपति की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों ने कथित तौर पर उसी रास्ते पर यातायात रोक दिया था जिस मार्ग पर वंदना मिश्रा का परिवार उन्हें अस्पताल ले जा रहा था. रिपोर्ट में कहा गया है कि इस स्थिति के कारण ट्रैफिक जाम लग गया और महिला को अस्पताल पहुंचने में अत्यधिक देरी हुई, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.

कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने इस घटना पर दुख जताया है और ट्वीट कर माफी मांगी है. उन्होंने लिखा है, “आईआईए की अध्यक्षा बहन वन्दना मिश्रा जी के निधन के लिए कानपुर नगर पुलिस और व्यक्तिगत रूप से मैं क्षमा प्रार्थी हूं. भविष्य के लिए यह बड़ा सबक है. हम प्रण करते हैं कि हमारी रूट व्यवस्था ऐसी होगी कि न्यूनतम समय के लिए नागरिकों को रोका जाए ताकि ऐसी घटनाओं की पुनरावृति न हो.

पुलिस के एक दूसरे ट्वीट में कहा गया कि राष्ट्रपति कोविंद इस घटना से परेशान हैं. ट्वीट में लिखा गया है, “महामहिम राष्ट्रपति जी बहन वन्दना मिश्रा जी के असामयिक व निधन से व्यथित हुए. उन्होंने पुलिस आयुक्त और जिलाधिकारी को बुलाकर जानकारी ली व शोक संतप्त परिवार तक उनका संदेश पहुंचाने को कहा. दोनों अधिकारियों ने अंत्येष्टि में शामिल होकर शोकाकुल परिवार तक महामहिम का संदेश पहुंचाया.

जहां वंदना मिश्रा का अंतिम संस्कार किया गया था, उस घाट की तस्वीरों में दोनों अधिकारियों को मृतक के परेशान परिवार के सदस्यों के साथ बातचीत करते देखा गया है.

इधर, पुलिस प्रशासन ने लापरवाही के आरोप और निर्देश से अधिक समय तक ट्रैफिक रोकने पर सब इन्स्पेक्टर सुशील कुमार और 3 मुख्य आरक्षियों को निलंबित कर दिया गया है और मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं. कानपुर के एडिशनल DCP SOUTH मामले की जांच करेंगे. पुलिस ने निर्देश दिया है कि ऐसी स्थिति में सुरक्षा के लिए नागरिकों को दिक्कत न हो, मेडिकल आपात स्थिति में तो बिल्कुल भी नहीं. अधिकारियों ने कहा कि व्यवस्था सुधारने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं ताकि ऐसी पुनरावृत्ति न हो.

ये भी पढ़ें -: न्यूज एंकर को नहीं मिली थी सैलरी, न्यूज पढ़ते वक्त ही मांगने लगा पैसे, वायरल हुआ Video

ये भी पढ़ें -: जॉर्ज फ्लॉयड मामले में बड़ा फैसला, दोषी पुलिस अधिकारी को मिली साढ़े 22 साल की सजा

सोर्स – ndtv.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-