World

हरियाणा की 17 साल की लड़की ने यूक्रेन से लौटने से किया इन्कार, बोली- यहां मेरी ज्यादा जरूरत

ukraine-17-year-old-brave-girl-from-haryana-refused-to-return-to-india
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

रूस के यूक्रेन पर हमलों के बाद ज्यादातर प्रवासी वहां से भागने की फिराक में हैं। लेकिन हरियाणा के चरखी दादरी की एक 17 साल की बहादुर लड़की अपने मकान मालिक की सहायता के लिए वहीं डटी है। उसका कहना है कि उन्हें मेरी बहुत ज्यादा जरूरत है। जब मुझे कोई आसरा देने को तैयार नहीं था तो वो मेरी मदद के लिए आगे बढ़कर आए थे। अब कर्ज चुकाने की बारी मेरी है। मैं यहां से नहीं लौटने वाली।

17 साल की नेहा की मां एक स्कूल में शिक्षिका हैं। उसके पिता भारतीय सेना में थे। उनकी मृत्यु हो चुकी है। वो वहां मेडिकल की पढ़ाई के लिए गई थी। लेकिन जब हॉस्टल में कमरा नहीं मिला तो मकान मालिक ने उसे आसरा दिया। नेहा की दोस्त सविता जाखड़ ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि कुछ समय के लिए नेहा का फोन ऑफ हो गया था। लेकिन अब उसने फोन चार्ज करने का साजोसामान जुटा लिया है। वो एक बंकर में छिपी है। जबकि उसके मकान मालिक के परिवार ने रूसी सेना के खिलाफ हथियार उठाकर देश की रक्षा का प्रण लिया है। वो कीव में एक बंकर में छिपकर अपनी रणनीति बना रहे हैं। झज्जर के झासवां गांव की रहने वाली सविता डेनमार्क में रहती हैं। वो वहां के स्कूल में बच्चों को पढ़ाने का काम करती हैं।

यह भी पढ़ें -: यूक्रेनी सैनिक ने रूसी सेना के टैंको को रोकने के लिए खुद को पुल के साथ उड़ाया

अपनी फेसबुक पोस्ट में सविता ने बताया कि मकान मालिक ने तीन दिन पहले हथियार उठाए थे। उनकी पत्नी और तीन बच्चों ने बंकर में शरण ली। नेहा उनके साथ ही है। वो उनकी देखभाल कर रही है। नेहा की मां ने भरसक कोशिश की कि उसे वहां से वापस बुला लिया जाए लेकिन उसने वापस लौटने से इन्कार कर दिया। सविता का कहना है कि वो हैरत में है कि कौन सी चीज उसे वहां रुके रहने की प्रेरणा दे रही है।

रूसी सेना के खिलाफ जंग में यूक्रेन की ब्यूटी क्वीन अनास्तासिया लेना सेना में शामिल हो गई हैं। 2015 में मिस यूक्रेन का खिताब जीत चुकीं अनास्तासिया की बंदूक थामे कई तस्वीरें सामने आई हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2015 में जब वो 24 साल की थीं, तब उन्होंने मिस यूक्रेन का खिताब अपने नाम किया था।

यह भी पढ़ें -: पोलैंड बॉर्डर तक पहुंचने के लिए पैदल ही निकल पड़े 40 भारतीय छात्र

हालांकि, अब वो अपनी ग्लैमरस लाइफस्टाइल के उलट किसी सौनिक की तर्ज पर रूसी सेना से युद्ध लड़ने के लिए तैयार हैं। लेना के इंस्टाग्राम के अनुसार हथियार चलाने के लिए वो कोई अजनबी नहीं हैं। हथियारों के साथ उनकी तमाम तस्वीरें वायरल हुईं हैं। उसका कहना है कि कब्जे की नीयत से जो कोई भी यूक्रेन की सीमा में घुसेगा, उसे दौड़ाकर मारा जाएगा।

यह भी पढ़ें -: मनोहर लाल खट्टर सरकार बोली- NCR से बाहर करें हरियाणा के ये इलाके, नफा से ज्यादा है नुकसान

यह भी पढ़ें -: रूस की स्वीडन और फिनलैंड को चेतावनी- नाटो में शामिल हुए तो अंजाम होगा बहुत बुरा

यह भी पढ़ें -: अमेरिका ने दिया यूक्रेन छोड़ने का ऑफर, राष्ट्रपति बोले- देश से गद्दारी नहीं करूंगा, अंत तक लड़ेंगे

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-