World

Twitter में फिर होगी छंटनी, Elon Musk के निशाने पर अब इस डिपार्टमेंट के कर्मचारी

20221120 191726 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Twitter में एक बार फिर छंटनी होने वाली है। ब्लूमबर्ग ने रविवार को अपने रिपोर्ट में बताया कि ट्विटर के नए मालिक और सीईओ Elon Musk कथित तौर पर और अधिक कर्मचारियों को बर्खास्त करना चाह रहे हैं, इस बार मस्क कई इंजीनियरों के इस्तीफे के बाद अब कंपनी के सेल्स और पार्टनरशिप डिपार्टमेंट पर फोकस कर रहे हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्विटर पर और छंटनी सोमवार को हो सकती है। बता दें कि मस्क ट्विटर के 7500 कर्मचारियों में से 50 प्रतिशत से ज्यादा कर्मचारियों को पहले ही निकाल चुके हैं।

मस्क द्वारा ट्विटर कर्मचारियों को अल्टीमेटम दिए जाने के कुछ ही दिनों बाद ये खबर सामने आई है। अपने अल्टीमेटम में मस्क ने कहा था कि या तो ट्विटर के “हार्डकोर” वर्क कल्चर में लंबे समय तक बने रहें, या सेवरेंस पे लेकर इस्तीफा दे दें। मस्क की इस चेतावनी के बाद ट्विटर पर इस्तीफों की झड़ी लग गई थी।

कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया कि इस दौरान करीब 1200 कर्मचारियों ने इस्तीफा दे दिया था। सेल्स, पार्टनरशिप और अन्य समान भूमिकाओं की तुलना में, टेक्निकल रोल्स में अधिक कर्मचारियों ने छोड़ने का फैसला किया। ये बात रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कही गई है।मस्क ने सेल्स और पार्टनरशिप डिपार्टमेंट्स के लीडर्स से और अधिक कर्मचारियों को निकालने के लिए कहा – रॉबिन व्हीलर, जो मार्केटिंग और सेल्स की देखरेख करते थे, ने ऐसा करने से इनकार कर दिया, और मैगी सनविक, जिन्होंने पार्टनरशिप का प्रबंधन किया, ने इस मांग का विरोध किया।

ये भी पढ़ें -: सूर्यकुमार ने आखिरी 19 बॉल में ठोक दिए 61 रन, देखते रह गया न्यूजीलैंड

रिपोर्ट में कहा गया है कि परिणामस्वरूप दोनों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा। रिपोर्ट ने सूत्रों के हवाले से कहा, व्हीलर ने इस महीने की शुरुआत में ट्विटर छोड़ने पर विचार किया था, लेकिन उन्हें रहने के लिए राजी किया गया था। उसने स्पॉन्सर्स तक पहुंचने के अपने प्रयासों में मस्क की मदद की है जो ट्विटर की बदलती प्राथमिकताओं और लक्ष्यों से अवगत हैं। प्रमुख कंपनियों ने घोषणा की है कि वे अपने ट्विटर खर्च को रोक रही हैं।

महीनों चली बातचीत के बाद, दुनिया के सबसे अमीर आदमी और टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ मस्क ने अक्टूबर में $44 बिलियन की डील में ट्विटर का टेकओवर किया है। कार्यभार संभालने के कुछ घंटों बाद, मस्क ने ट्विटर के सीईओ पराग अग्रवाल और पॉलिसी हेड विजया गड्डे को निकाल दिया था। उन्होंने कुल कर्मचारियों में से 50 फीसदी की छंटनी के अपने कदम को भी सही ठहराया। उन्होंने कहा कि उनके पास कोई विकल्प नहीं था क्योंकि कंपनी को प्रतिदिन 4 मिलियन डॉलर का नुकसान हो रहा था।

“ट्विटर की बल में कमी के संबंध में, दुर्भाग्य से, कोई विकल्प नहीं है जब कंपनी $ 4M प्रतिदिन से अधिक खो रही है। उन्होंने कहा बाहर निकलने वाले सभी को 3 महीने के सेवरेंस की पेशकश की गई थी, जो कानूनी रूप से आवश्यक से 50 प्रतिशत अधिक है।

ये भी पढ़ें -: सरकारी बंगले को लेकर बिहार में गरमाई सियासत, BJP के इन नेताओं को बंगला खाली करने का मिला नोटिस

ये भी पढ़ें -: बुलडोजर ऐक्शन पर हाई कोर्ट की तल्ख टिप्पणी, बोला- कल को आप ये कोर्टरूम भी खोद दोगे…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-