Politics

महुआ मोइत्रा का योगी सरकार पर तंज, बोली- गंगा में शव फेंकते समय भी थी आस्था

tmc-mps-taunt-on-yogi-government
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

आस्था का हवाला देते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा कांवड़ यात्रा की दी गयी अनुमति और फिर सुप्रीम कोर्ट की तरफ से लगी फटकार के बाद अब राजनीति गर्म है। टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने तंज करते हुए कहा है कि गंगा में शव फेंकते समय भी थी आस्था।

महुआ मोइत्रा ने ट्वीट किया है कि यूपी के स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि कांवड़ यात्रा परंपरा और विश्वास का मामला है। हम कोविड से मजबूती के साथ लड़ रहे हैं। इतनी ही मजबूती के साथ कि कुछ हफ्ते पहले लोग गंगा में शवों को दफना रहे थे? बताते चलें कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान उत्तर प्रदेश में हालात काफी बिगड़ गए थे। शवों को जलाने के लिए श्मशानों में जगह नहीं बचे थे। इस हालत में कई शवों को गंगा नदी में बहा दिया गया था। मीडिया में खबर आने के बाद सरकार की काफी फजीहत हुई थी।

ये भी पढ़ें -: बंगाल BJP MLA शुभेंदु अधिकारी के घर पहुंची CID की टीम, लटकी गिरफ्तारी की तलवार

बताते चलें कि उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के कारण विपक्षी दल भी खुलकर कांवड़ यात्रा का विरोध नहीं कर रहे हैं। सपा के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया का कहना है कि किसी भी नागरिक की स्वास्थ्य और सुरक्षा की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती है। राज्य सरकार ये सुनिश्चित करें कि किसी भी नागरिक की स्वास्थ्य और सुरक्षा में कोई चूक न हो।

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने भी कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के बीच कांवड़ यात्रा की अनुमति देने के उत्तर प्रदेश सरकार के ‘‘चिंतित करने वाले’’ फैसले का बुधवार को स्वत: संज्ञान लिया और इस मामले पर ‘‘अलग-अलग राजनीतिक मत होने के मद्देनजर’’ केंद्र, उत्तर प्रदेश तथा उत्तराखंड की सरकारों से जवाब मांगा है।

ये भी पढ़ें -: BJP MLC बोले- नीतीश को जनसंख्या नियंत्रण कानून पर बोलने का कोई नैतिक अधिकार नहीं

न्यायमूर्ति आर एफ नरीमन और न्यायमूर्ति बी आर गवई की पीठ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान का जिक्र किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि कोविड-19 को रोकने के प्रयासों में कोई भी समझौता नहीं किया जा सकता। पीठ ने कहा कि 25 जुलाई से धार्मिक यात्रा शुरू करने की अनुमति देने के उत्तर प्रदेश सरकार के फैसले के बाद लोग हैरान हैं।

ये भी पढ़ें -: UP मैं पुलिस चौकी में घुसकर भीड़ ने दारोगा को पीटा, बुलानी पड़ी पीएसी, जानें पूरा मामला…

ये भी पढ़ें -: दिल्ली दंगाः कोर्ट ने कहा-लगता है पुलिस ही आरोपियों को बचा रही है, ठोंका जुर्माना

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-