Entertainment

‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री बोले- मैं एक नफरत अभियान का शिकार हो गया

the-kashmir-files-fame-filmaker-vivek-ranjan-agnihotri-press-conference-cancelled-by-foreign-correspondents-club
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्देशक विवेक रंजन अग्निहोत्री को लेकर सोशल मीडिया पर एक बार फिर चर्चा हो रही है। लोग विवेक अग्निहोत्री के समर्थन में लगातार मैसेज लिख रहे हैं। मामला विदेशी पत्रकारों के एक समूह की तरफ से विवेक अग्निहोत्री के प्रेस कॉन्फ्रेंस को अचानक कैंसल करने से से जुड़ा है। विवेक अग्निहोत्री ने ट्वीट कर कहा कि नई दिल्ली स्थित फॉरेन कॉरेस्पोंडेंट्स क्लब 5 मई को होने वाली मेरे प्रेस कॉन्फ्रेंस को अलोकतांत्रिक तरीके से एक हेट कैंपेन के हिस्से के रूप में कैंसल कर दिया है। विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि मैं अब 5 तारीख को शाम 4 बजे प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में एक ओपन-हाउस प्रेस कॉन्फ्रेंस करूंगा। उन्होंने इसमें सभी मीडिया को इनवाइट भी किया।

विवेक अग्निहोत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस को रद्द किए जाने को लेकर सोशल मीडिया पर कई यूजर विवेक अग्निहोत्री के समर्थन में आगे आए हैं। एक यूजर ने लिखा कि नई दिल्ली के फॉरेन कॉरेस्पॉन्डेंट्स क्लब में विवेक अग्निहोत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द करने वालों पर शर्म आती है। क्या यह क्लब ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाया जाता है। लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की आजादी के लिए यह काला दिन है।

ये भी पढ़ें -: शाहरुख, धौनी, कोहली व रोहित के खिलाफ मध्य प्रदेश में जनहित याचिका दायर, जानिए क्या है मामला…

एक यूजर ने लिखा कि आप और मजबूत हों। भारत के लोग आपके पीछे मजबूती से खड़े हैं। दुनिया के लिए हमारी आवाज बनें और दुनिया भर में सच बोलने और बहस करने और बात करने दें। धन्यवाद और सत्यमेव जयते। एक अन्य यूजर ने लिखा, क्या यह कई लेवल पर पाखंड नहीं है, फ्री स्पीच के लिए लड़ना और उसी के अस्तित्व को खतरे में डालना? सब लोग अपना फायदा देखते हैं?

वहीं, कुछ यूजर ने विवेक पर तंज भी कसा। एक यूजर ने लिखा रोना नहीं है रोना नहीं है बस पापा को आने दो फिर देखना। इसके जवाब में एक अन्य यूजर ने लिखा कि इसे रोना नहीं कहते, झूठ को बेनकाब करना कहते हैं। ब्रिटिश-मुगल-चीनी अतीत-आक्रमणकारियों मिलकर भारत का सच्चा इतिहास सामने आने से रोका क्योंकि उनकी सारी पोल खुल जाती।

ये भी पढ़ें -: मोदी सरकार ने पवन हंस में अपनी हिस्सेदारी बेची, प्रबंधन नियंत्रण भी छोड़ेगी

इससे पहले विवेक अग्निहोत्री ने कहा था कि कल, मेरे साथ एक असामान्य, चौंकाने वाली और बेहद अलोकतांत्रिक बात हुई। मैं एक नफरत अभियान का शिकार हो गया। मेरे स्वतंत्र भाषण को फ्री-स्पीच के प्रहरी, मीडिया की तरफ से बैन कर दिया गया। अग्निहोत्री ने कहा कि कुछ दिन पहले, कश्मीरी पंडितों ने मुझे सूचित किया कि नई दिल्ली में विदेशी संवाददाता क्लब एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए मुझे बुलाना चाहते हैं।

कई विदेशी मीडिया मुझसे कश्मीर फाइल्स और कश्मीरी हिंदू की सच्चाई के बारे में बात करना चाहते थे। इसके लिए 5 मई को फॉरेन कॉरेस्पोंडेंट्स क्लब, नई दिल्ली में शाम 7 बजे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस तय की गई थी। लेकिन कल मुझे उनका फोन आया अध्यक्ष ने कहा कि इस आयोजन को रद्द करना होगा क्योंकि कुछ बहुत शक्तिशाली मीडिया ने इस कॉन्फ्रेंस पर कड़ी आपत्ति जताई है।

ये भी पढ़ें -: शिवपाल यादव का अखिलेश यादव पर तीखा वार, बोले- जिसे हमने चलना सिखाया वो हमें…

ये भी पढ़ें -: महाराष्ट्र की अदालत ने राज ठाकरे के खिलाफ जारी किया गैर जमानती वारंट, पढ़ें विस्तार से…

सोर्स – navbharattimes.indiatimes.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-