भारत में Tesla कार उत्पादन पर बोले Elon Musk- जहां कार बेचने की इजाजत नहीं, वहां प्लांट भी नहीं

भारत में Tesla कार उत्पादन पर बोले Elon Musk- जहां कार बेचने की इजाजत नहीं, वहां प्लांट भी नहीं
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

मशहूर इलेक्ट्रिक कार निर्माता कंपनी टेस्ला के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एलन मस्क (Tesla CEO Elon Musk) ने संकेत दिया है कि वह भारत में टेस्ला का मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट नहीं लगाएंगे. एलन मस्क ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि जब तक कंपनी को पहली बार दक्षिण एशियाई देश में आयातित कारों को बेचने और सेवा देने की अनुमति नहीं दी जाती है, तब तक वहां कार प्लांट स्थापित नहीं हो सकता है. ट्विटर पर एक व्यक्ति ने मस्क के साथ-साथ टेस्ला की भारत में प्लांट लगाने की योजना पर सवाल उठाया था.

इस पर अरबपति कारोबारी मस्क ने जवाब दिया, “टेस्ला ऐसे किसी भी स्थान पर प्रोडक्शन प्लांट नहीं लगाएगी, जहां हमें पहले से कार बिक्री और कार सर्विसिंग की अनुमति नहीं है. एलन मस्क की इन टिप्पणियों से पता चलता है कि भारत और टेल्सा के बीच देश में विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने पर गतिरोध जारी है. इससे पहले अप्रैल में, भारत में ऑटोमोबाइल निर्माण के लिए अनुकूल वातावरण पर प्रकाश डालते हुए, केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा था कि एलन मस्क का भारत में ई-वाहनों के निर्माण के लिए स्वागत है, लेकिन अगर टेस्ला के मालिक चीन में कार मैन्यूफैक्चरिंग और भारत में उसकी बिक्री करना चाहते हैं तो यह “अच्छा प्रस्ताव” नहीं हो सकता है.

ये भी पढ़ें -: इस क्रिकेटर की पत्नी ने जोस बटलर को बताया अपना ‘दूसरा पति’, जानिए क्या है पूरा मामला

गडकरी ने भारत में “उच्च करों ” पर टेस्ला की चिंताओं पर एक सवाल का जवाब देते हुए दिल्ली में एक निजी कार्यक्रम में बोलते हुए यह टिप्पणी की थी. गडकरी ने कहा, “यह एक बहुत ही आसान विकल्प है; अगर एलन मस्क भारत में टेस्ला कार का निर्माण करने के लिए तैयार हैं, तो कोई समस्या नहीं है. हमारे पास सभी योग्यताएं हैं, विक्रेता उपलब्ध हैं. हमारे पास सभी प्रकार की तकनीक है और इसके कारण, वह लागत कम कर सकते हैं.

टेस्ला को भारत में विनिर्माण शुरू करने के लिए आमंत्रित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत एक बहुत बड़ा बाजार है, और निर्यात को सक्षम करने के लिए बंदरगाहों जैसे बुनियादी ढांचे उपलब्ध हैं. उन्होंने कहा, “भारत में उनका स्वागत है. हमें कोई समस्या नहीं है, लेकिन, मान लीजिए, वह चीन में निर्माण करना चाहते हैं और भारत में बेचना चाहते हैं, तो यह भारत के लिए अच्छा प्रस्ताव नहीं हो सकता है. हमारा उनसे अनुरोध है, भारत आओ और यहां मैन्यूफैक्चरिंग करें.

ये भी पढ़ें -: मंदिर में साईं की मूर्ति देख भड़के स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद, बोले-मंदिर में इनका क्या काम, दोबारा नहीं आऊंगा

पिछले कुछ वर्षों में भारत में ई-वाहन क्षेत्र में जबरदस्त वृद्धि का हवाला देते हुए, गडकरी ने आगे कहा कि “एलन मस्क को मेरा सुझाव है, भारत में, उन्हें एक अच्छा बाजार मिलेगा और भारतीय बाजार बहुत बड़ा है. यह -दोनों के लिए जीत की स्थिति होगी.

उन्होंने कहा कि चीन में उपलब्ध सभी गुणवत्ता वाले विक्रेता और ऑटोमोबाइल स्पेयर पार्ट्स भारत के पास भी हैं. गडकरी ने कहा, “उनके लिए भारत में इसे बनाना और भारत में बेचना आसान हो सकता है. उन्हें इससे अच्छा मुनाफा होगा, यहां की अच्छी अर्थशास्त्र है. मैं उनसे भारत आने और यहां निर्माण शुरू करने का अनुरोध करूंगा.

ये भी पढ़ें -: वकील ने याचिका दायर कर ठोका दावा, बोला- आगरा के किले में दबी है “ठाकुर जी” की प्रतिमा

ये भी पढ़ें -: मोटरसाइकिल और स्कूटर चालक सावधान- अब हेलमेट पहने होने पर भी कटेगा 2000 का चालान

सोर्स – ndtv.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-