World

अब पाकिस्तान में भी ‘घुसा’ तालिबान, इस्लामाबाद के मदरसे पर फहराया झंडा

taliban-influence-in-pakistan-islamic-emirate-of-afghanistan-taliban-flags
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

अफगानिस्तान में तालिबान को मिली सफलता का जश्न अब पाकिस्तान में खुलेआम मनाया जाने लगा है। यही कारण है कि राजधानी इस्लामाबाद सहित कई शहरों में कट्टरपंथियों की भीड़ तालिबान के झंडे लहरा रही है। इतना ही नहीं, पाकिस्तान के कई मौलाना तो खुले मंच से तालिबान को जीत की बधाई दे रहे हैं। इस्लामाबाद के जामिया हफ्सा मदरसे पर तालिबान का झंडा फहराता दिखा है।

जामिया हफ्सा पहले महिलाओं का एक मदरसा हुआ करता था। बाद में कट्टरपंथियों ने इसे बंद कर दिया। यह मदरसा इस्लामाबाद की विवादित लाल मस्जिद के पास स्थित है। लाल मस्जिद का मौलाना अब्दुल अजीज कई बार पाकिस्तानी सरकार को खुली चुनौती दे चुका है। इसी मस्जिद पर सैन्य कार्रवाई करने के आरोप में पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को गिरफ्तार किया जा चुका है।

ये भी पढ़ें -: केंद्रीय मंत्री ने रवींद्रनाथ टैगोर पर ऐसा क्या कह दिया कि पश्चिमी बंगाल में विवाद हो गया.

पहले कहा जाता था कि पाकिस्तान का प्रभाव तालिबान पर है। अब तालिबान का प्रभाव पाकिस्तान पर ज्यादा दिखाई दे रहा है। आतंकियों का समर्थन करने वाली पाकिस्तानी सरकार अनजाने मे अपने ही देश में कट्टरपंथियों को बढ़ावा दे रही है। यही कट्टरपंथी पाकिस्तान में तबाही भी मचा रहे हैं। इसके बावजूद पाकिस्तान सरकार की आंख नहीं खुल रही। कुछ महीने पहले ही तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान के समर्थकों ने पूरे देश में जमकर बवाल काटा था।

नौबत यहां तक आ गई कि इस कट्टरपंथी समूह को प्रतिबंधित करने के बावजूद इमरान खान सरकार को इसके मुखिया को रिहा करना पड़ा था। इतना ही नहीं, खुद देश के आंतरिक मंत्री शेख रशीद ने कट्टरपंथियों के साथ बैठक कर उनकी मांगे मानी थी। यह वही संगठन है जिसने पाकिस्तान सरकार को फ्रांसीसी राजदूत के निष्कासन को लेकर अल्टीमेटम दिया था।

ये भी पढ़ें -: अखिलेश का CM योगी पर निशाना- बुलडोजर की प्रथा चलाने वाले रखें याद, बने होंगे उनके भी मकान

तालिबानी राज का असर यह होगा कि आने वाले बरसों में पाकिस्तान में सुन्नी और वहाबी चरमपंथ में इजाफा होगा। लोग धार्मिक नेताओं के हाथ की कठपुतली बन जाएंगे। इतना ही नहीं, इससे पूरे पाकिस्तान पर नकारात्मक असर पड़ेगा। पहले से ही आर्थिक तंगी से जूझ रहा पाकिस्तान गृहयुद्ध की आग में जल सकता है।

ये भी पढ़ें -: तालिबान के खिलाफ अफगानिस्तान में मजबूत होने लगा विरोधी गुट, सालेह का साथ देंगे वारलॉर्ड रशीद दोस्तम

ये भी पढ़ें -: जनआशीर्वाद यात्रा के खिलाफ उद्धव सरकार की FIR के बाद BJP का पलटवार, कही ये बात…

सोर्स – navbharattimes.indiatimes.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-