Politics

पूर्व IAS का मोदी-योगी पर तंज, बोले- जब GDP कर दी डबल, तो चेहरा बनाने में क्या डर?

surya-pratap-singh-yogi-adityanath-gdp
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

उत्तर प्रदेश में 2022 का विधानसभा चुनाव बीजेपी किसके चेहरे पर लड़ेगी। इसके कयास लगाए जा रहे हैं। पिछले दिनों एक इंटरव्यू के दौरान यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य से यूपी में बीजेपी के सीएम प्रत्याशी के चेहरे पर सवाल पूछा गया था तो उन्होंने योगी आदित्यनाथ का नाम नहीं लिया था। जिसके बाद से ही यह चर्चा है कि योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री का चेहरा नहीं होंगे। इसी पर तंज करते हुए रिटायर्ड आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने बिना योगी आदित्यनाथ का नाम लिए कहा कि जब जीडीपी डबल कर दी तो चेहरा बनाने में क्या डर?

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि चेहरा ये होगा, चेहरा ये नहीं होगा l यूपी में क्या मजाक चल रहा है ? जब प्रति व्यक्ति आय व GDP डबल कर दी तो चेहरा बनाने में क्या डर ? जब कोरोना में कोई मरा नहीं, कोई दिक्कत नहीं हुई, तो चेहरा बनाने का क्या डर? भ्रष्टाचार खत्म, गंगा किनारे कोई शव नहीं मिले तो चेहरा बनाने में क्या डर?

ये भी पढ़ें -: पूर्व IAS का रामदेव पर तंज, बोले- गरीब का योग रोटी और रामदेव का योग मुनाफा

उत्तर प्रदेश सरकार के किए गए वादों पर सवाल करते हुए उन्होंने लिखा कि, ‘जब सब युवाओं को रोजगार मिल गया तो चेहरा बनाने में क्या डर ? जब राममंदिर के नाम से लूट नहीं हो रही तो चेहरा बनाने में काहे का डर? मठ में इतनी बड़ी यूनिवर्सिटी बन रही है,तो चेहरा बनाने में क्या दिक्कत है? जब गंगा निर्मल हो गई व बनारस क्योटो बन गया तो चेहरा बनाने में क्या डर’ ?

उन्होंने कोरोना से हुई मौतों के आंकड़े पर लिखा कि, ‘जब कोरोना में मौतों का आंकड़ा नहीं छुपाया, जब मृतकों का अंतिम संस्कार कर दिया हो, किसानों की समस्याएं खत्म हो गई , जब हर मृतक के परिजनों को 4 लाख मिल गया, पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पहली बरसात झेल गया, जब एक दिन में चार चार जनपनों का पाला छू लिया गया हो, तो चेहरा बनाने में क्या डर?

ये भी पढ़ें -: राकेश टिकैत बोले- इलाज तो करना पड़ेगा.., तो भड़क उठे अशोक पंडित, बोले- ख़ालिस्तानी मानने वाले…

उन्होंने अपने ट्वीट के जरिए हाल में हुई घटनाओं पर निशाना साधते हुए लिखा कि, ‘जब सैकड़ों करोड़ रु. के विज्ञापन दिए जा रहे हों, मनेरगा में कोई घोटाला नहीं हुआ, WHO से प्रसंशा मिली हो, PPE किट खरीद व सूचना विभाग में विज्ञापन/फर्जी मान्यता का कोई घोटाला नहीं हुआ, पत्रकारों व सोशल एक्टिविस्ट पर कोई फर्जी मुकदमे नही हुए तो चेहरा बनाने में क्या डर’ ?

उनके इस ट्वीट पर @NasimAl93983559 ट्विटर हैंडल से रियेक्ट करते हुए लिखा गया कि, ‘जब चीन-पाकिस्तान डर गया हो तो चेहरा बनाने में डर क्यों? जब किसानों को उनका हक मिल गया हो तो चेहरा बनाने में डर क्यों ? जब सरहदों पर जवान खुश हो,सड़को पर किसान खुश हो तो चेहरा बनाने में डर क्यों ?…

जब देश में आम जन खुश हो, अयोध्या में सब के राम खुश हो तो चेहरा बनाने में डर क्यों’ ? वहीं एक यूजर ने लिखा कि जिसके पास चेहरा ही नहीं वह क्या चेहरा बनाएगा।

ये भी पढ़ें -: जोमैटो डिलीवरी बॉय ने बारिश के बावजूद 15 मिनट में पहुंचाई चाय, मिला जबरदस्त तोहफा

ये भी पढ़ें -: क्या महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार में सबकुछ ठीक नहीं? तो क्या शिवसेना-बीजेपी फ़िर एक होंगें…

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-