Politics

योगी सरकार पर फ़िर बरसे पूर्व IAS, बोले- UP में आज आपातकाल से कुछ कम है क्या?

ias-surya-pratap-singh-accused-cm-yogi-adityanath-government-for-sending-legal-notice-over-his-twitter-account
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आपातकाल पर ट्वीट करते हुए कांग्रेस पार्टी पर लोकतंत्र पर कुठाराघात करने का आरोप लगाया। उनके इस ट्वीट पर रिटायर IAS सूर्य प्रताप सिंह ने योगी सरकार पर तंज कसते हुए लिखा कि, ‘यूपी में आज आपातकाल से क्या कुछ कम है योगी जी’।

गौरतलब है कि आज से 46 साल पहले देश में आपातकाल लागू कर दिया गया था। इस एलान के बाद सरकार की आलोचना करने वालों को जेल में ठूंस दिया गया था। यहां तक लिखने बोलने और सरकार के खिलाफ होने वाले विचारों तक पर भी पाबंदी लगाई गई। इसी पर ट्वीट करते हुए योगी आदित्यनाथ ने लिखा कि, ‘ वर्ष 1975 में आज ही के दिन कांग्रेस पार्टी ने भारत के महान लोकतंत्र पर कुठाराघात कर देश पर ‘आपातकाल’ थोपा था। मैं उन सभी पुण्यात्मा सत्याग्रहियों को नमन करता हूँ, जिन्होंने ‘आपातकाल’ की अमानवीय यातनाओं को सह कर भी देश में लोकतंत्र की पुनर्स्थापना में सहयोग दिया था’।

ये भी पढ़ें -: स्टडी में दावा- कोविशील्ड टीके का असर, फैल रहा गुलियन बेरी सिंड्रोम, कमजोर हो रही चेहरे की मांसपेशियां

उनके इसी ट्वीट पर रिटायर IAS सूर्य प्रताप सिंह ने योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए लिखा कि यूपी में आज आपातकाल से क्या कुछ कम है, योगी जी? आगे उन्होंने एफआईआर और रासुका पर सवाल पूछते हुए लिखा कि फर्जी रासुका ,फर्जी इनकाउंटर, ईमानदार मीडिया व सोशल एक्टिविस्ट पर फर्जी मुकदमे किसी को दिखते नहीं? उन्होंने अपने ट्वीट के जरिए बेरोजगारी और किसानों पर भी सवाल पूछा। उन्होनें लिखा कि बेरोजगार युवाओं व किसानो पर जुर्म, लाखों मौतें, असंख्य चिताएं, गंगा में बहती -रेत में दफन लाशें? बेरोजगारी, मंहगाई की आफत ऊपर से।

योगी आदित्यनाथ के इस ट्वीट पर पत्रकार अभिसार शर्मा ने भी हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘सिद्दीक कप्पन, पवन जैसवाल , सूर्य प्रताप सिंह जी, हाथरस की बलात्कार पीड़िता का देर रात अंतिम संस्कार, ऑक्सीजन मांगने वालों पर FIR, डॉक्टर्स पर FIR का डर। बात बात पर FIR क्योंकि जवाबदेही से डरते हैं। और अभी तो आपातकाल भी नहीं है। (औपचारिक तौर पर) फेहरिस्त बहुत लंबी है योगी जी।

ये भी पढ़ें -: राकेश टिकैत की ललकार- लालकिला तो कुछ भी नहीं, अब संसद जाएंगे ट्रैक्टर औऱ…

पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह के इस ट्वीट पर @amar1301 टि्वटर हैंडल से सहमति जताते हुए लिखा गया कि, ‘ पिछले 7 सालों से हम इमरजेंसी में ही तो जी रहे हैं। कितने सारे पत्रकार जेल में है, कुछ लोगों का तो पता ही नहीं चला। आज भी लोग डर डर के जी रहे हैं। काश इंदिरा जी की इमरजेंसी के नाम पर कुछ लोगों को निपटा चुकी होती। फिर आज हमें यह दिन देखना नहीं पड़ता’। एक यूजर ने लिखा कि आपातकाल डरावना था लेकिन आज के दौर से बेहतर लाख दर्जा बेहतर था।

ये भी पढ़ें -: शर्मनाक: कपड़े पहनने तक की नहीं दी मोहलत, गालियां देते हुए युवती को थाने ले आई MP पुलिस

ये भी पढ़ें -: अनुपम खेर बोले- मैं चुल्लू भर पानी में डूब सकता हूं ?

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-