India

कभी 50 रुपये के लिए करते थे संघर्ष, आज हैं असिस्टेंट कमिश्नर, टीचर ने लिखा भावुक पोस्ट

super-30-anand-kumar-student-become-assistant-commissioner
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

आनंद कुमार, नाम तो सुना ही होगा। वह ‘सुपर-30’ के फाउंडर हैं, जिनकी कहानी पर साल 2019 में Super 30 नाम से फिल्म भी बन चुकी है। बिहार के 48 वर्षीय मैथमेटिशियन आनंद कुमार के कई छात्र ऊंचे ओहदे पर काम कर रहे हैं। हाल ही, जब उनका एक छात्र उनसे मिलने पहुंचा तो उन्होंने एक तस्वीर के साथ अपने उस स्टूडेंट की कहानी दुनिया के साथ शेयर की।

उन्होंने बताया कि उनका ये छात्र कभी 50 रुपये के लिए संघर्ष करता था लेकिन आज वह असिस्टेंट कमिश्नर है। आनंद कुमार ने 21 जून को यह तस्वीर ट्वीट की।

ये भी पढ़ें -: कंगना रनौत ने देश का नाम बदलने की कही बात, बोलीं- ‘इंडिया’ गुलामी का प्रतीक

कैप्शन में उन्होंने बताया, ‘कभी 50 रूपये के लिए संघर्ष करने वाला मेरा शिष्य कृष्ण राय यूपीएससी क्वालीफाई करके असिस्टेंट कमिश्नर बनकर आज मुझसे मिलने आया तब शिक्षक होने पर गर्व होने लगा। दबे-कुचले लोगों के प्रति उसकी संवेदनशीलता को देखकर मुझे लगा मेरे सीने में नहीं तो तेरे सीने में सही, हो कहीं भी आग, लेकिन आग जलनी चाहिए।

ये भी पढ़ें -: धर्मांतरण के मुद्दे पर संबित पात्रा पर भड़के सपा नेता, बोले- पाकिस्तानी UP में घुस गए, योगी सरकार इस्तीफा दे

आनंद कुमार का ये ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, जिसे न्यूज लिखे जाने तक इसे 31 हजार से अधिक लाइक्स और 3600 से ज्यादा री-ट्वीट मिल चुके हैं। साथ ही, सैकड़ों लोगों ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं तो कई आनंद कुमार के जज्बे को सलाम कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें -: नितिन गडकरी की किसानों के साथ मुलाकात के दौरान कुल्लू के SP औऱ हिमाचल CM के सुरक्षा अधिकारी में झड़प

ये भी पढ़ें -: न्यूज़क्लिक के ख़िलाफ़ दंडात्मक कार्रवाई पर रोक, हाईकोर्ट ने ED से माँगा जवाब

सोर्स – navbharattimes.indiatimes.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-