Politics

राजस्थान राज्यसभा चुनाव को लेकर सुभाष चंद्रा ने किया बड़ा दावा, राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज़

subhash-chandra-on-rajasthan-rajya-sabha-elections
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

राजस्थान राज्यसभा चुनाव में चुनावी सरगर्मियों के साथ सियासी उठापटक जारी है। जहां सोमवार को कांग्रेस की ओर से नाराज विधायकों के बाड़ाबंदी में पहुंचने के बाद टारगेट पूरा होने की बात की जा रही थी। वहीं मंगलवार को सुभाष चंद्रा की ओर से किए गए दावे के बाद कांग्रेस खेमे में फिर से हलचल शुरू हो गई है।

सुभाष चंद्रा ने मंगलवार शाम को मीडिया से बातचीत में कहा कि 30 BJP विधायकों के अलावा 12 और विधायकों का समर्थन मेरे साथ है। कांग्रेस के 8 विधायक क्रॉस वोटिंग करेंगे। दूसरी पार्टियों के चार और विधायक भी उन्हें वोट करेंगे। चंद्रा ने कहा कि कांग्रेस के विधायक इसलिए क्रॉस वोटिंग करेंगे, क्योंकि वे विधायक इस राज से परेशान रहे हैं। एक तरह से जलालत महसूस कर रहे हैं। इसलिए मुझे समर्थन का भरोसा है। अब सुभाष चंद्रा की ओर से किए गए इस दावे के बाद कांग्रेस की फिर से मुश्किलें बढ़ा दी है।

ये भी पढ़ें -: भारत के मुसलमान बोलते रहे लेकिन पीएम मोदी हरकत में क़तर और सऊदी से आए : ओवैसी

सियासी जानकारों का कहना है कि सुभाष चंद्रा की ओर से किए गए दावे के बाद प्रदेश की राजनीति कभी भी पलट सकती है, लेकिन चुनाव में किसे मात मिलेगी, फिलहाल यह कहना सही नहीं होगा। इधर चंद्रा के दावे के बाद कांग्रेस ने भी चुनाव आयोग को पत्र लिखकर बीजेपी और उनपर हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाया है।

उल्लेखनीय है कि निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर राज्यसभा के चुनावी मैदान में उतरे चंद्रा ने जहां अपने दावे के जरिए कांग्रेस की टेंशन बढ़ाई है। वहीं एक और दांव खेला है, जिससे कांग्रेस दोहरी मुश्किलों में आ सकती है। मीडिया से बात करते हुए चंद्रा ने बताया है कि उन्होंने चुनाव आयोग को शिकायत भेजी है, जो बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए विधायकों को लेकर है।

ये भी पढ़ें -: सोनाक्षी सिन्हा जहीर इकबाल संग शादी पर बोली- रोका, मेहंदी, संगीत सब फिक्स है

चंद्रा ने कहा कि बसपा से कांग्रेस में आने वाले विधायक हो सकता है वोटिंग प्रोसेस में ही शामिल नहीं हो पाए, चूंकि जिस प्रक्रिया से उनका मर्जर हुआ है वह गलत है।

सुभाष चंद्रा ने मीडिया से बात करते हुए यह भी कहा कि – सीएम अशोक गहलोत से मेरे व्यक्तिगत संबंध हैं, वे मेरे मित्र हैं। राज्यसभा चुनाव में नामांकन से पहले मेरे प्रतिनिधि को भेजकर मैंने उनसे बात की। तब गहलोत ने कहा था कि पहले बात होती तो मैं आपकी कुछ मदद करता, लेकिन अभी कोई मदद नहीं कर पाऊंगा। यह अच्छी बात है कि उन्होंने मुझे अंधेरे में नहीं रखा।

ये भी पढ़ें -: नुपुर शर्मा मुद्दे पर पहली बार बोली कंगना रणौत, कही ये बात…, पढ़ें विस्तार से

ये भी पढ़ें -: BJP नेता हुवा गिरफ्तार: पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी करने का मामला, पुलिस ने कही ये बात…

सोर्स – navbharattimes.indiatimes.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-