India

शव यात्रा रोकी तो दलित परिवार ने ग्राम पंचायत कार्यालय के सामने किया अंतिम संस्कार

stopped-from-taking-out-procession-dalit-family-conducts-funeral-outside-gram-panchayat-office
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

महाराष्ट्र के सोलापुर जिले से शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. यहां एक दलित परिवार को कथित तौर पर उच्च जाति के लोगों द्वारा अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया गया. इससे भी ज्यादा चौंकाने वाली बात ये रही कि स्थानीय पुलिस ने भी शव यात्रा निकालने से रोक दिया था. इससे नाराज परिजनों ने ग्राम पंचायत कार्यालय के सामने दाह संस्कार कर दिया.

घटना शनिवार को मलशीरस तहसील के मालेवाड़ी गांव की है. जानकारी के अनुसार, ग्राम सरपंच दशरथ साठे के भाई धनाजी साठे का शनिवार तड़के निधन हो गया था. दशरथ का उच्च जाति के कुछ ग्रामीणों के साथ लंबे वक्त से विवाद चल रहा है. दशरथ ने आरोप लगाया कि विरोधियों द्वारा पार्थिव शरीर को श्मशान ले जाने से रोका गया था.

ये भी पढ़ें -: मध्‍यप्रदेश में ‘शाही सवारी’ निकालने पर भाजयुमो-हिंदू संगठनों मैं झड़प, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

दशरथ साठे ने आरोप लगाया, “हमें गांव में खेतों से गुजरने से रोक दिया गया. यहां तक कि पुलिस के वाहन भी हमें रोकने के लिए खड़े थे. हम पुलिस के सामने निवेदन करते रहे, लेकिन उन्होंने कोई ध्यान नहीं दिया.

लगभग पूरे दिन तकरार चलती रही. वायरल हुए एक वीडियो में मृतक के परिवार के सदस्य पुलिस से हाथ जोड़कर अनुरोध करते हुए दिखाई दे रहे हैं कि अंतिम संस्कार के लिए जाने दिया जाए. पुलिस शव को ले जा रहे वाहन की चाबी भी निकालती नजर आ रही है.

ये भी पढ़ें -: पूर्व फौजी ने 21 दिन से फ्रीजर में रखा है बेटे का शव, प्रशासन ने दिया नोटिस

इस मामले में 13 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, जिसमें 7 दलित परिवार के लोग भी शामिल हैं. उन पर कोरोना नियमों की अनदेखी करते हुए अंतिम संस्कार करने के लिए केस दर्ज हुआ है. वहीं, सोलापुर के एसपी तेजस्वी सतपुते ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है.

ये भी पढ़ें -: र‍िपोर्ट का दावा: 60 खरब की सरकारी संपत्‍त‍ि बेचेगी मोदी सरकार, बन रहा है रोडमैप

ये भी पढ़ें -: कुमार विश्वास बोले- चूड़ीवाले को मारने वाले वीर नहीं बल्कि देशद्रोही हैं, इस अराजकता पर खामोश नहीं रहना चाहिए

सोर्स – aajtak.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-