RTU प्रोफेसर के मोबाइल से खुले कई राज- छात्राओं की DP के स्क्रीनशॉट लेता था…

RTU प्रोफेसर के मोबाइल से खुले कई राज- छात्राओं की DP के स्क्रीनशॉट लेता था…
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी (RTU) कोटा के एसोसिएट प्रोफेसर गिरीश परमार पर रोज नए-नए आरोप लग रहे हैं बताया जा रहा है कि आरोपी प्रोफेसर छात्राओं के मोबाइल डीपी के फोटो अपने मोबाइल में रखता था. प्रोफेसर गिरीश परमार स्टूडेंट्स को व्हाट्सएप पर अपनी डीपी में फूल पत्तियों की जगह अच्छी फोटो लगाने की सलाह देता था. फिर डीपी से छात्राओं के फोटो के स्क्रीनशॉट लेकर अपने पास रख लेता था. SIT ने प्रोफेसर गिरीश परमार का मोबाइल जब्त किया था. जांच के दौरान उसके मोबाइल से कई स्टूडेंट्स के डीपी के स्क्रीन शॉट मिले हैं.

जानकारी के मुताबिक आरटीयू का प्रोफेसर बिचौलियों के जरिए स्टूडेंट को झांसे में लेने के लिए ब्लैकमेल करता था. साथ ही महंगे गिफ्ट देने का लालच भी देता था. एसपी केसर सिंह शेखावत ने बताया कि जांच में यह तथ्य सामने आए हैं कि परमार पेपर सेट कराने का काम भी अपने चहेते छात्र से करता था.

कॉपियों की जांच के अलावा अंकों में भी हेराफेरी भी की जाती थी. इस मामले से जुड़े सारे तथ्य कुलपति को बता दिए गए. इसी आधार पर उन्होंने गिरीश परमार को सस्पेंड किया. साथ ही गिरफ्तार छात्र अर्पित का भी निष्कासन किया है.

ये भी पढ़ें -: PM मोदी बोले- औरंगजेब ने कम उम्र के साहिबजादों को दीवार में जिंदा चुनवाने जैसी दरिंदगी क्यों की?

परमार के खिलाफ पहले से दो एफआईआर दर्ज है. अब एक और एफआईआर दर्ज की गई है. जो मोदी इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी की एक छात्रा ने दर्ज कराया है. इसकी जांच भी SIT करेगी. युवती का आरोप है कि उसे पास करने के एवज में रिश्वत मांगी गई थी. साथ ही शादी का झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने का प्रयास भी किया था. इससे पहले दादाबाड़ी थाने में 2 मामले दर्ज हुए थे यह दोनों आरटीयू की छात्राओं ने दर्ज करवाए थे और अब यह मामला आरके पुरम थाने में दर्ज हुआ है.

बता दें, छात्राओं ने गिरीश परमार पर कम मार्क्स देने, फेल करने, फिजिकल रिलेशन बनाने का दबाव डालने के आरोप लगाए थे. बीटेक फाइनल ईयर की छात्रा ने रिपोर्ट में लिखा था कि पहले एसोसिएट प्रोफेसर ने फेल कर दिया. बाद में बिचौलिए छात्र के माध्यम से वह फिजिकल रिलेशन का दबाव डालने लगा.

इससे परेशान होकर वह सुसाइड करने का मन बनाने लगी थी. जब उसने यह बात दोस्त को बताई तो उसने हिम्मत दिलाई और परिवार वालों को भी इस बारे में जानकारी दी. प्रोफेसर गिरीश परमार व यूनिवर्सिटी के छात्र अर्पित अग्रवाल के बीच बातचीत के ऑडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल भी हुए थे. इसके बाद पुलिस ने प्रोफेसर व स्टूडेंट को गिरफ्तार किया था.

ये भी पढ़ें -: कॉलेज की छात्रा को धमकाते हुवे बोला ट्रैफिक पुलिसकर्मी- दोस्ती करो या 10 हजार का चालान कटाओ…

ये भी पढ़ें -: दमोह में 250 लोगों ने अपनाया हिंदू धर्म, जानें पूरा मामला…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-