Politics

लालू यादव का नीतीश कुमार पर पलटवार- हम काहे गोली मारेंगे, तुम अपने मर जाओगे

rjd-lalu-prasad-yadav-rally-at-bihar-tarapur
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

RJD Chief Lalu Yadav : बिहार विधान सभा (Bihar Assembly) की दो सीटों पर हो रहे उप चुनाव के प्रचार में आज राजद अध्यक्ष लालू यादव (RJD Chief Lalu Yadav) भी चुनावी मैदान में उतरे. इस मौके पर तारापुर (Tarapur) में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए लालू यादव ने कहा कि उन्होंने कभी भी बीजेपी से कोई समझौता नहीं किया. पहली बार अपने सिर पर हरी टोपी और गले में हरा पट्टा पहने लालू यादव ने सभा को संबोधित करने के दौरान न सिर्फ राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा.

नीतीश कुमार पर पलटवार करते हुए राजद अध्यक्ष ने कहा, ‘हम काहे गोली मारेंगे, तुम अपने मर जाओगे’. एक दिन पहले ही नीतीश कुमार ने कहा था कि लालू जी चाहें तो हमें गोली मरवा दें. दरअसल, नीतीश कुमार लालू यादव के विसर्जन वाले बयान पर प्रतिक्रिया दे रहे थे, जिसमें राजद अध्यक्ष ने कहा था कि उसका (नीतीश) विसर्जन करने आए हैं.

यह भी पढ़ें -: BJP के पूर्व बंगाल चीफ ने कैलाश विजयवर्गीय की तुलना कुत्ते से की औऱ कह दी ये बात…

भीड़ से वोट करने की अपील करते हुए लालू यादव ने कहा, गोली चले या गोला, जीतेगा हमारा भोला, मतलब राजद का उम्मीदवार अरुण साह’. उन्होंने कहा, “हमने नीतीश को मुख्यमंत्री बनाया था लेकिन वो बीजेपी की गोद में जाकर बैठ गया. कहता था जो भी बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देगा, उसके साथ जाएंगे, तो क्यों नहीं दिलवाता विशेष दर्जा.

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए लालू यादव ने कहा कि मोदी सरकार देश में सबकुछ बेच रही है. रेल, जहाज सबकुछ बेच दिया. उन्होंने कहा कि आने वाले समय में प्लेटफॉर्म पर चढ़ने के लिए भी पांच हजार रुपया अडाणी लेगा. उन्होंने कहा कि उन्होंने रेल मंत्री रहते हुए एक रुपया भी किराया नहीं बढ़ाया लेकिन मोदी सरकार में रोज किराया बढ़ रहा है. ट्रेन में तो न बेडशीट मिल रहा है न पानी.

यह भी पढ़ें -: चुनावों को देखते हुवे योगी सरकार का बड़ा फैसला, कोरोना काल में दर्ज 3 लाख मुक़दमे वापस लेगी

उन्होंने कहा कि रेलवे जर्सी गाय थी लेकिन इन लोगों ने उसको भी बेच दिया. राजद अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने रेलवे को 50 हजार करोड़ का सरप्लस आय दिलवाया था.

लालू यादव ने जातिगत जनगणना का भी मुद्दा उठाया और कहा कि इस पर लंबी लड़ाई छेड़नी है. उन्होंने पूछा कि जब जानवरों की गिनती करवा सकते हो तो इंसानों की गिनती, पिछड़ी जाति के लोगों की गिनती कराने में क्या दिक्कत है? लालू यादव तीन साल बाद किसी चुनाव प्रचार में उतरे हैं.

यह भी पढ़ें -: इंडिया की हार का जश्‍न मनाने वाली ‘नीरजा मोदी स्कूल’ की टीचर को नौकरी से निकाला, अब मांग रही है माफी

यह भी पढ़ें -: हार्दिक पांड्या की फिटनेस पर बड़ी खबर, जानें न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलेंगे या नही

सोर्स – ndtv.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-