Sports

जानिए क्यों ऋषभ पंत के दस्ताने उतरवा दिए अंपायर ने. कोहली ने खुद की मदद.

rishabh-pant-illegal-tape-removed-by-umpires-against-england
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

India vs England Headingley test: भारत(India) और इंग्लैंड(England) के बीच चल रहे हेडिंग्ले टेस्ट में इंग्लैंड मजबूत स्थिति में है. भारत ने पहली पारी में सिर्फ 78 रन बनाए थे जिसके बाद इंग्लैंड भारत पर अच्छी खासी बढ़त बना चुका है. भारतीय टीम के लिए ये मैच बचाने की चुनौती तो बनी ही हुई है साथ ही विकेटकीपर बैट्समैन ऋषभ पंत(Rishabh Pant) को भी एक विवाद का सामना करना पड़ रहा है.

दरअसल हेडिंग्ले टेस्ट में दूसरे सेशन की आखिरी गेंद पर ऋषभ पंत ने इंग्लैंड के भरोसेमंद बल्लेबाज डेविड मलान का कैच पकड़ा था. इसके बाद टीमें ब्रेक के लिए चली गई थीं लेकिन जब मैच का तीसरा सेशन शुरु हुआ, उससे पहले अंपायर्स ने पंत के दस्तानों में लगी टेप हटाने के लिए कहा था.

पंत के साथ ही वहां कैप्टन कोहली भी मौजूद थे. पंत ने इस टेप से अपनी चौथी और पांचवीं उंगली को जोड़ रखा था. हालांकि ये क्रिकेट के नियम 27.2.1 के खिलाफ था. इस नियम के अनुसार, किसी टेप को सिर्फ तर्जनी(अंगूठे के साथ वाली उंगली) और अंगूठे के बीच लगाया जा सकता है और किसी दूसरी उंगलियों को टेप से जोड़ना नियमों के खिलाफ है.

इस घटना के दौरान इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन और डेविड लॉयड कमेंट्री कर रहे थे. हुसैन ने इस मामले में कहा कि तीसरे अंपायर रिचर्ड इंलिगवर्थ ने कहा है कि पंत को इसकी इजाजत नहीं दी जा सकती है और वे अपने दस्तानों को इस तरह से नहीं बांध सकते हैं. यही कारण है कि उन्हें टेप हटाने के लिए कहा गया.

वही लॉयड की इस मामले में काफी स्ट्रॉन्ग प्रतिक्रिया रही. उन्होंने कहा कि चूंकि पंत ने जिस अंदाज में दस्तानों को पहना हुआ था, वो अवैध है और उन्होंने डेविड का कैच भी लिया था, ऐसे में अंपायर्स को डेविड मलान को वापस बल्लेबाजी के लिए बुलाना चाहिए. गौरतलब है कि चायकाल से पहले पंत हाथों में इन टेप्स के साथ दिखे थे.

हालांकि चायकाल के बाद जब सेशल शुरु हुआ तो पंत के हाथों में ये टेप नदारद थी. गौरतलब है कि एम एस धोनी भी अपनी तर्जनी उंगली और अंगूठे के बीच टेप का काफी इस्तेमाल किया करते थे. कप्तान कोहली की हालांकि इस मुद्दे पर कोई राय सामने नहीं आई है.

इससे पहले पंत ने सिराज और इंग्लैंड फैंस के विवाद को लेकर अपनी राय रखी थी. उन्होंने कहा था कि ‘दर्शकों में से किसी ने सिराज पर गेंद मारी थी इसलिए कोहली नाराज थे. आप जो कुछ भी कहना चाहते हैं कह सकते हैं, लेकिन फील्डर्स पर चीजें न फेंके. मेरा मानना है कि यह क्रिकेट के लिये अच्छा नहीं है.

गौरतलब है कि भारत के 78 रनों के जवाब में इंग्लैंड ने 432 रनों का विशाल स्कोर बनाया है. इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने एक बार फिर शतक जमाया.

ये भी पढ़ें -: लव जिहाद कानून को हाईकोर्ट ने रोका, गुजरात सरकार ने जवाब मैं कही ये बात…,पढ़ें विस्तार से

ये भी पढ़ें -: पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर को UP पुलिस ने किया गिरफ्तार, जाने पूरा मामला…

सोर्स – aajtak.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-