Politics

कैबिनेट विस्तार पर बोले रवीश कुमार- ये मजबूर प्रधानमंत्री का मंत्रिमंडल है औऱ…

ravish-kumar-slams-pm-modi-ravishankar-parsad-and-dr-harshvardhan
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

नरेंद्र मोदी कैबिनेट के विस्तार और तमाम दिग्गज मंत्रियों के इस्तीफे पर वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने तीखी टिप्पणी की है। उन्होंने इसे प्रधानमंत्री राज्य मंत्री विस्तार योजना करार दिया है। अपने फेसबुक पेज पर लिखी पोस्ट में रवीश ने कहा कि मोदी दौर में पहली बार मंत्रिमंडल का आकार इतना बढ़ा है, जो किसी मजबूत प्रधानमंत्री का कम, मजबूर प्रधानमंत्री का ज्यादा लगता है।

कैबिनेट से दिग्गज मंत्रियों की छुट्टी पर चुटकी लेते हुए रवीश कुमार ने लिखा कि किसी खबर में संकेत नहीं था कि रविशंकर प्रसाद हटाए जा सकते हैं। एक कबीना मंत्री, जो पिछले कई दिनों से ट्विटर जैसी बहुराष्ट्रीय कंपनी में अपना मैनेजर रखवाने के लिए संघर्ष कर रहा था, हर दिन ट्विटर को धमका रहा था उसका बर्खास्त किया जाना अच्छा संकेत नहीं है। ऐसा संदेश जाएगा कि मंत्री जी कंपनी में अपना मैनेजर रखवा रहे थे और कंपनी ने मंत्री जी को ही हटवा दिया।

ये भी पढ़ें -: ममता बनर्जी ने नरेंद्र मोदी को बताया ‘बेशर्म प्रधानमंत्री’, कहा- हमें खरीदनी पड़ रही है वैक्सीन

रवीश ने आगे तंज कसते हुए लिखा, रविशंकर प्रसाद के बिना राहुल गांधी की आलोचना सुनसान हो जाएगी लेकिन उन्हें इनाम मिलना चाहिए, ताकि अमेरिका तक को यह संदेश जाता कि मोदी के मंत्री किसी से डरते नहीं है। इसी तरह डॉक्टर हर्षवर्धन का हटाया जाना उन सवालों की पुष्टि करता है कि वह एक नकारा स्वास्थ्य मंत्री थे और सरकार ने कोरोना लड़ने की कोई तैयारी नहीं की थी।

उन्होंने आगे लिखा अगर सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने की तैयारी की होती तो लाखों लोग नहीं मरते और स्वास्थ्य मंत्री को नहीं हटाना पड़ता। उन्होंने लिखा देश की अर्थव्यवस्था चौपट हो गई है, यह प्रधानमंत्री अच्छी तरह जानते हैं। इसलिए अगर वित्त मंत्री को हटाते तो बाजार में अच्छा संदेश नहीं जाता।

ये भी पढ़ें -: रविशंकर प्रसाद के इस्तीफे पर कांग्रेस नेता का तंज़- आज ट्विटर अनाथ हो गया

प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए एनडीटीवी से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने कहा, मंत्रियों की संख्या 54 से 78 करने का तुक समझ में नहीं आता है। मंत्रियों के आने जाने से सरकार का काम नहीं बदलता है। सिर्फ नेतृत्व अपनी नाकामी छिपाने के लिए यह सब करता है।

ये भी पढ़ें -: मोदी सरकार से रविशंकर, जावड़ेकर और हर्षवर्धन जैसे दिग्गज क्यों हुए बाहर, जानें वजह

ये भी पढ़ें -: बंगाल बीजेपी की यूथ विंग के चीफ ने छोड़ा पद, बोले-शुभेंदु ले रहे सारा क्रेडिट

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-