Politics

4 बच्चों के पिता रविकिशन पेश करेंगे संसद में जनसंख्या नियंत्रण विधेयक, बताएंगे 2 से ज्यादा बच्चे क्यों नही होने चाहिए

ravi-kishan-to-present-population-control-bill-in-parliament
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

जनसंख्या नियंत्रण और समान नागरिक संहिता पर प्रस्तावित विधेयक देश में राजनीतिक विमर्श का पुराना मुद्दा रहा है और ये भाजपा के एजेंडे का हिस्सा भी रहा है। लोकसभा में उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के प्रतिनिधि रवि किशन और राजस्थान से राज्यसभा के सदस्य किरोड़ी लाल मीणा 19 जुलाई से आरंभ हो रहे संसद सत्र के पहले सप्ताह में जनसंख्या नियंत्रण और समान नागरिक संहिता पर गैर सरकारी विधेयक प्रस्तुत करेंगे।

ग़ौर करने वालीं बात यह है कि रवि किशन जो जनसंख्या नियंत्रण और समान नागरिक संहिता पर गैर सरकारी विधेयक प्रस्तुत करेंगे उनके खुद के चार बच्चे है जिन्होंने ख़ुद जनसंख्या नियंत्रण की नीति को नहीं अपनाया है। सोशल मीडिया पर रवि किशन को लेकर काफी बयानबाजी हो रही है।

ये भी पढ़ें -: भूपेश बघेल बोले- ढाई-ढाई साल CM का फॉर्मूला मंजूर नहीं, आलाकमान जिस दिन कहेगा, पद से हट जाऊंगा

रवि किशन के 4 बच्चे होने के बावजूद जनसंख्या नियंत्रण पर विधेयक प्रस्तुत करने पर digital initiatives के को-फाउंडर Dr Gaurav Garg ने ट्विटर के जरिए प्रतिक्रिया दी है कि गोरखपुर के सांसद रवि किशन 23 जुलाई को जनसंख्या नियंत्रण पर संसद में एक निजी सदस्य विधेयक पेश करेंगे। मजे की बात यह है कि उनके स्वयं 4 बच्चे हैं।

साथ ही आपको बता दें कि विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश जनसंख्या नीति 2021-2030 जारी की थी। उन्होंने कहा था कि बढ़ती हुई जनसंख्या विकास में एक बड़ी बाधा है. वहीं विश्व हिन्दू परिषद की ओर से कहा गया है कि दो बच्चों वाली नीति जनसंख्या नियंत्रण की ओर ले जाती है। लेकिन दो से कम बच्चों की नीति आने वाले समय में कई नकारात्मक प्रभाव पैदा कर सकती है।

ये भी पढ़ें -: पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर शिवराज के मंत्री बोले- जिंदगी में परेशानी ही सुख का आनंद देती है

विश्व हिन्दू परिषद द्वारा अपनी चिट्ठी में सवाल खड़े किए गए हैं कि अगर वन चाइल्ड पॉलिसी लाई जाती है तो इससे सामाज में आबादी का असंतुलन पैदा होगा. ऐसे में सरकार को इस बारे में फिर से विचार करना चाहिए, वरना इसका असर नेगेटिव ग्रोथ पर हो सकता है।

ये भी पढ़ें -: जम्मू-कश्मीर HC ने कहा- राष्ट्रगान पर खड़े न होना अपराध नहीं, लेक्चरर के खिलाफ FIR को किया रद

ये भी पढ़ें -: 2 से ज्यादा बच्चे होने पर UP में न मिलेगी सरकारी नौकरी, न लड़ पाएंगे निकाय चुनाव

सोर्स – boltahindustan.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-