Politics

टिकैत का बड़ा आरोप- 26 जनवरी की हिंसा में RSS वाले पुलिस ड्रेस में आए थे,संबित पात्रा ने दिया ये जवाब

rakesh-tikait-said-people-of-rss-were-involved-in-26-january-violence-in-police-uniform
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

नवंबर 2020 से शुरू हुए किसान आंदोलन को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार अभी तक कोई हल नहीं निकाल पाई है। इस बीच कई ऐसे मौके आए जब किसान आंदोलन की साख को ठेस पहुंची। 26 जनवरी को निकाली गई ट्रैक्टर परेड जब हिंसक हो गई और कुछ असामाजिक तत्व लाल किले पर चढ़ गए तो किसान नेताओं पर कई सवाल उठे। उसी बीच किसान आंदोलन के अग्रणी नेता और भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत हिंसा को लेकर मीडिया में रो पड़े जिसके बाद फिर से किसान आंदोलन में जान आ गई थी। अब राकेश टिकैत ने 26 जनवरी की हिंसा को लेकर कहा है कि उसमें पुलिस की वर्दी में RSS के लोग शामिल थे। उनकी इस बात पर BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा एक टीवी डिबेट के दौरान हंसने लगे।

दरअसल आज तक के डिबेट शो हल्ला बोल में संबित पात्रा और राकेश टिकैत शामिल थे जहां राकेश टिकैत ने कहा, ‘26 जनवरी को कोई हुड़दंग नहीं हुआ। वैसे वीडियो भी अब सामने आ रहे हैं जिसमें आरएसएस के लोग पुलिस की ड्रेस पहन रहे हैं। आरएसएस के लोग पुलिस की ड्रेस पहनकर हुड़दंग करेंगे? आरोप लगा रहे हो, ये भी बता दो कि जो रास्ते दिए गए थे, उन्हें ब्लॉक किया गया। कौन सी एजेंसी से जांच करवाएं?

उनकी इस बात पर संबित पात्रा हंसने लगे जिसे अनदेखा करते हुए राकेश टिकैत ने आगे कहा कि अगर इस मामले की जांच कोई विदेशी एजेंसी करती है तो क्या ये बात देश के लिए सही होगी। वो बोले, ‘बता दो अगर ये ठीक लगता है तो हम एक चिट्ठी लिख देते हैं। पूरे 26 तारीख के प्रकरण की जांच करवा दें। संयुक्त राष्ट्र में हम अपील करें, ये ठीक लगेगा आपको? देश को ठीक लगेगा?

उनके आरोपों का जवाब देते हुए संबित पात्रा ने कहा, ‘देखिए, ये पुलिस के लोग RSS के लोग थे ड्रेस पहनकर, अंजना जी मैंने आपके चैनल पर देखा है किस प्रकार गड्ढे में उन्हें धकेल दिया गया था जान बचाने के लिए। किस प्रकार तलवार भांजी जा रही थी। किस प्रकार उन पर हमला हुआ, एक महिला पुलिस के ऊपर हमला हुआ, ये सब हमने देखा है।

ये भी पढ़ें -: UP के चंदौली में दबंगों ने जमीन विवाद में दलितों के घर जलाए, अब खाना-पूर्ति में जुटी पुलिस

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए संबित पात्रा आगे बोले, ‘राकेश जी कल को आप आंदोलन समाप्त कर दोगे तो यही कांग्रेस वाले कहेंगे कि आप भी आरएसएस वाले लोग थे। ये बात अब पचती नहीं कि सारे लोग आरएसएस के हैं और कपड़े बदलकर घूम रहे हैं। दूसरी बात मुझे तकलीफ हुई कि अब UN में जाना पड़ेगा। मैं मानता हूं कि राकेश जी आप इस देश के संविधान पर विश्वास करते हैं। UN में क्यों जाना होगा?

संबित पात्रा ने राकेश टिकैत से सवाल पूछा कि क्या इस देश की किसी एजेंसी पर उन्हें विश्वास नहीं है। वो बोले, ‘मैं मानता हूं कि हमारे देश के किसानों को संविधान और एजेंसियों पर संपूर्ण विश्वास है। आप इतने बड़े नेता हैं, उसके बाद आप कह रहे हैं कि UN में जाएंगे। क्या अच्छा लगेगा? मुझे लगता है कि ऐसे शब्दों का प्रयोग किसी को नहीं करना चाहिए।

ये भी पढ़ें -: बनारस का एकमात्र अंधविद्यालय बंद, नेत्रहीन छात्रों ने किया प्रदर्शन

ये भी पढ़ें -: प्रेम में फंसाकर किया महिला का यौन शोषण, दारोगा के खिलाफ रेप की FIR दर्ज

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-