Politics

लालू यादव के आवास पर CBI रेड से विहार की सियासत गर्म, CM नीतीश ने बुलाई आपात्तकालीन बैठक

rabri-devi-cbi-raid-nitish-kumar-meeting-jdu-rajya-sabha-seat
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

बिहार के मौसम का मिजाज क्या बदला लोगों को गर्मी से राहत मिली, लेकिन लगे हाथों राजद नेता और पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर सीबीआई की रेड ने बिहार के सियासी मौसम को गरमा दिया. रेड के बाद तमाम राजनीतिक दलों की राय आने लगी. उसके बाद अचानक खबर आई कि इस छापेमारी के बीच बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने अपने सरकारी आवास पर जदयू कोटे के मंत्रियों की आपात्तकालीन बैठक बुला ली. इसमें जदयू कोटे के तमाम मंत्री के साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह और प्रदेश अध्यक्ष को भी बुलावा भेज दिया गया.

राज्य सभा उम्मीदवार को लेकर बैठक में चर्चा? नीतीश कुमार ने बैठक क्यों बुलाई और किसलिए बुलाई, इसकी चर्चा बाद की बाद है, लेकिन इस बैठक के बारे में किसी को जानकारी नहीं मिल रही है. बैठक को लेकर एक मंत्री ने मीडिया को जानकारी दी कि इस बैठक के बारे में किसी को जानकारी नहीं है.

ये भी पढ़ें -: मैं जिंदा हूं… यह बताने 900 KM दूर जाना पड़ता, तब मिलता सेकंड वर्ल्ड वॉर के सैनिक की पत्नी 6,000 रुपये का पेंशन

वहीं मिडिया के अलावा राजनीतिक दलों में चर्चा चल रही है कि राज्य सभा उम्मीदवार को लेकर बैठक में चर्चा होगी और उम्मीदवार को लेकर एक राय बनाने की कोशिश की जाएगी ताकि उम्मीदवार को लेकर कोई विवाद पार्टी में ना हो. राजद और जदयू की नजदीकी को लेकर बीजेपी परेशान? बताया जा रहा है कि आरसीपी सिंह की उम्मीदवारी को लेकर पार्टी में संशय बरकरार है. इस बैठक को बिहार की सियासत में महत्वपूर्ण बैठक बताया जा रहा है.

खासकर जदयू के लिए जहां मुख्यमंत्री ने सबकी राय के हिसाब से फैसला लेने वाले हैं. वहीं ख़बर ये भी है की आज सुबह राबड़ी देवी के आवास पर हुई CBI रेड और उसके बाद बिहार के सियासत पर पड़ने वाले प्रभाव पर भी चर्चा होने की संभावना है. राजनीतिक जानकारों की मानें, तो जातीय जनगणना के मुद्दे पर राजद और जदयू की नजदीकी को लेकर बीजेपी परेशान है.

ये भी पढ़ें -: मोईन अली ने उतारा बोल्ट का बुखार- एक ओवर में कूट दिए 26 रन, देखें वीडियो

केंद्र की पूरी निगाह इन दिनों बिहार की सियासत पर टिकी हुई है. और इस छापेमारी का सीधा कनेक्शन उसी से जोड़कर देखा जा रहा है. हालांकि मुख्यमंत्री की ओर से बुलाई गई बैठक को लेकर सियासी गलियारों में चर्चा है कि ये पूरी तरह से राज्यसभा चुनाव में उम्मीदवारी को लेकर बैठक है. इसमें राजद और राबड़ी आवास पर छापेमारी को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है. हां, अचानक बैठक बुलाने को लेकर कई तरह की संभावनाओं से इनकार नहीं किया जा सकता.

क्योंकि नीतीश कुमार के मन में क्या चल रहा है कोई नहीं बता सकता. वैसे भी जदयू में प्रश्न करने की हैसियत बहुत कम नेताओं को मिली हुई है, इसलिए मुख्यमंत्री की बैठक को किसी सियासी मसले से जोड़कर देखना ठीक नहीं है.

ये भी पढ़ें -: अमिताभ, शाहरुख, अजय और रणवीर पर पान मसाला को प्रमोट करने पर केस दर्ज

ये भी पढ़ें -: ज्ञानवापी मामले मैं पोस्ट करने वाले DU के प्राफेसर रतनलाल गिरफ्तार, छात्रों ने किया विरोध-प्रदर्शन

सोर्स – aajtak.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-