BJP सांसद का दावा- ताजमहल हमारी प्रॉपर्टी, शाहजहां ने हमारे पैलेस पर किया कब्जा

BJP सांसद का दावा- ताजमहल हमारी प्रॉपर्टी, शाहजहां ने हमारे पैलेस पर किया कब्जा
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

आगरा के ताजमहल पर जयपुर के पूर्व राजपरिवार ने अपना दावा किया है. जयपुर के पूर्व राजपरिवार की प्रिंसेस और बीजेपी सांसद दीया कुमारी ने कहा है कि ताजमहल हमारी प्रॉपर्टी है. जो हमारे परिवार के पैलेस की सम्पत्ति पर बना है. दीया कुमारी ने दावा किया है कि उनके पास ऐसे डॉक्यूमेंट्स मौजूद हैं, जो बताते हैं कि ताजमहल पहले जयपुर के पूर्व राजपरिवार का एक पैलेस था. जिस पर शाहजहां ने कब्जा कर लिया.

दीया कुमारी ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि जब शाहजहां ने जयपुर परिवार का वह पैलेस और लैंड ली थी, उस समय मुगल सरकार थी. इसलिए उसका विरोध नहीं कर सके. उन्होंने कहा आज भी कोई भी सरकार किसी जमीन को एक्वायर करती है तो उसके बदले में मुआवजा देती है. मैंने सुना है कि उसके बदले में कोई मुआवजा दिया. लेकिन उस समय ऐसा कोई कानून नहीं था कि उसके खिलाफ अपील कर सकते थे या उसके विरोध में कुछ कर सकते थे. अब अच्छा है किसी ने आवाज उठाई और कोर्ट में याचिका दायर की है. खोले जाएं ताजमहल के बंद कमरों के दरवाजे

ये भी पढ़ें -: BMC को मिले अवैध निर्माण के सबूत, राणा दंपत्ति की बढ़ी मुश्किलें, BMC उठाने जा रही है ये कदम

दीया कुमारी ने कहा कि बंद कमरे खोलकर पता करना चाहिए ताजमहल पहले क्या था. उन्होंने कहा कि मैं यह तो नहीं कहूंगी कि ताजमहल को तोड़ देना चाहिए, लेकिन उसके कमरे खोले जाने चाहिए. उन्होंने कहा ताजमहल में कुछ कमरे बंद हैं. कुछ पार्ट वहां लम्बे वक्त से सील है. उस पर निश्चित तौर पर इन्क्वायरी होनी चाहिए और उसे खोलना चाहिए. जिससे यह पता चले कि वहां क्या था, क्या नहीं था. वो सारे फैक्ट्स तभी स्टेबलिश होंगे जब एक बार उसकी प्रॉपर इन्क्वायरी होगी और कोर्ट जब आदेश देगा कि पता करना चाहिए कि पहले ताजमहल क्या था.

क्या कोर्ट में जयपुर के पूर्व राजपरिवार की ओर से भी याचिका दायर की जाएगी. इस सवाल पर उन्होंने कहा इसे हम अभी देख रहे हैं. हम एग्जामिन करेंगे कि क्या स्टेप लेना चाहिए.

ये भी पढ़ें -: अब कुतुबमीनार के पास हनुमान चालीसा पाठ, विष्णु स्तंभ घोषित करने की मांग

सांसद दीयाकुमारी ने कहा अगर दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी तो जयपुर के पूर्व राजपरिवार के हमारे ट्रस्ट में पोथीखाना भी है. हम तमाम डॉक्यूमेंट्स प्रोवाइड करेंगे. अगर कोर्ट आदेश देगा तो हम उसे डॉक्यूमेंट्स देंगे. हमारे पास मौजूद डॉक्यूमेंट्स में यह बात साफ है कि शाहजहां को उस वक्त वह पैलेस अच्छा लगा तो उन्होंने उसे ले लिया और एक्वायर कर लिया.

क्या वहां पर कोई मंदिर था? इस सवाल पर दिया कुमारी ने कहा मैंने अभी इतने सब डॉक्यूमेंट्स को देखा नहीं है. लेकिन वह प्रॉपर्टी हमारे परिवार की थी.

ताजमहल को लेकर यूपी में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में अयोध्या के भाजपा नेता डॉ. रजनीश सिंह ने याचिका दायर की है. डॉ. सिंह ने अपनी याचिका में ताजमहल के उन 22 कमरों को खोलकर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) से सर्वे कराने की मांग की है, जो लंबे वक्त से बंद हैं. याचिकाकर्ता का कहना है कि ताजमहल में हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियां और शिलालेख हो सकते हैं. अगर सर्वे होता है तो इससे मालूम चलेगा कि ताजमहज में हिंदू मूर्तियां और शिलालेख हैं या नहीं?

ये भी पढ़ें -: शेयर बाजार में गिरावट से अडानी-अंबानी की दौलत में लगी सेंध,चंद घंटों में 13.6 अरब डॉलर का झटका

ये भी पढ़ें -: राहुल द्रविड़ के बेटे ने 227 की औसत और 134 की स्ट्राइक रेट से 5 मैच में ठोके 681 रन

सोर्स – aajtak.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-