Politics

मोदी सरकार के मंत्री बोले- भारत में हो रही घटनाओं के पीछे है पाकिस्तान का हाथ

prahlad-patel-says-pakistan-is-behind-riots
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Prophet Muhammad Row: TV Debate Show में BJP से निलंबित की गई प्रवक्ता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के बयान के बाद से देशभर में उन्माद फैल गया है। नूपुर शर्म के बयान को लेकर जब केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल से बात की गई तो उन्होंने कहा, जुमे की नमाज के बाद देश के अलग-अलग शहरों में दंगे भड़के हैं। देश की अमन और शांति को भंग करने के पीछे पाकिस्तान का हाथ है। केंद्रीय मंत्री ने कहा, क्योंकि कुछ देश भारत की बढ़ती लोकप्रियता और प्रतिष्ठा को देख जल रहे हैं. केंद्रीय मंत्री ने कहा, ये बात आप भी जानते हैं और देश का हर राजनीति दल भी जानता है कुछ लोग हमारे देश की शांति और भारत की बढ़ती हुई प्रतिष्ठा को देखकर जलते हैं और ईर्ष्या कर रहे हैं वो कौन हैं? हमारा पड़ोसी पाकिस्तान है धर्म के नाम पर कुछ उन्मादियों को उपयोग करते हुए अगर कोई इस रास्ते पर जा रहा है तो देश को सजग होना पड़ेगा। सरकार तो सजग है ही। कानून के दायरे में जो कुछ भी हो सकता है वो सरकार करने वाली है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा हमारी इस मिली जुली संस्कृति का जिसमें कोई टकराव नहीं है, वहां ये परिस्थिति पैदा कर रहा है ये देश के लिए चुनौती है और चिंता का विषय भी है हम सबको मिलकर इसके लिए सजग रहना होगा। आपको बता दें कि विपक्षी राजनीतिक दल देश में हो रही इन हिंसक घटनाओं के बाद पीएम मोदी और यूपी के सीएम योगी पर भी लगातार तंज कसे हैं।

ये भी पढ़ें -: UP के कई जिलों में हंगामा, पथराव के बाद ATS हुवी सक्रिय, CM योगी ने दिए सख्त निर्देश

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) की मुखिया महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक ‘‘कंगारू अदालत’ चला रहे हैं, जहां अल्पसंख्यकों की इमारतों पर बुलडोजर चलाया जा रहा है। मुफ्ती की यह टिप्पणी उत्तर प्रदेश में कानपुर विकास प्राधिकरण द्वारा शनिवार को की गई एक कार्रवाई के बाद आई है, जिसके तहत शहर में पिछले सप्ताह हुए हिंसक विरोध प्रदर्शन के मुख्य आरोपी के एक करीबी सहयोगी के स्वामित्व वाली एक बहुमंजिला इमारत को जमींदोज कर दिया गया। भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा, ‘अगर मोदी सरकार ने समय पर ही नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल पर मुकदमा दर्ज कर उनको जेल भेज दिया होता तो प्रदेश में जो हिंसक घटनाएं हुई हैं वह नहीं होती।’ राजभर ने सत्तारूढ़ बीजेपी पर जमकर हमला बोला और सरकार पर बयान देने वाले नेताओं को बचाने का आरोप लगाया। उन्होंने शुक्रवार को हुई हिंसक घटनाओं को लेकर कहा, ‘आग लगाने का काम करने वाले नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के खिलाफ सरकार ने अगर कार्रवाई कर दी होती तो कोई घटना नहीं होती।

पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने कहा कि पैगंबर मोहम्मद के बारे में विवादित बयान देने वालों को ‘हल्का’ बताना उचित नहीं है। उन्होंने इस बात का भी उल्लेख किया कि विभिन्न ‘धर्म संसदों’ में अल्पसंख्यकों और मुस्लिमों के खिलाफ नफरती भाषण दिए जाने पर सरकार ‘मौन’ रही। पूर्व उपराष्ट्रपति ने यह भी कहा कि इस मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘‘चुप्पी’’ आकस्मिक नहीं, बल्कि ‘बहुत अर्थपूर्ण’ थी।

ये भी पढ़ें -: आस्था से आहत के नाम पर आहत की आस्था आफ़त पैदा करती है, दंगाई बनाती है : रवीश कुमार

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को बीजेपी के संकल्प पत्र (चुनाव घोषणा पत्र) पर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार ने जो वादा किया था, वह झूठा साबित हुआ। शनिवार की रात यादव ने हिरासत में होने वाली मौत के मामले में उत्तर प्रदेश को नंबर एक करार देते हुए ट्विटर पर हवालात में पुलिस द्वारा एक युवक की पिटाई का वीडियो भी साझा किया।

सपा मुख्यालय से शनिवार को जारी एक बयान में पार्टी प्रमुख यादव ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार ने किसानों को कई धोखे दिए हैं। उन्होंने कहा कि अपने पांच साल पुराने संकल्प-पत्र (चुनाव घोषणा पत्र-2017) में किसानों की आय दोगुना करने का वादा किया था और इसे पूरा करने की अवधि 2022 थी।

ये भी पढ़ें -: NCB अधिकारी से आर्यन का सवाल- आपने मेरी इज्जत मिट्टी में मिला दी, क्या मैं इसके लायक था?

ये भी पढ़ें -: दूसरे शुक्रवार को ही इतनी रह गई ‘सम्राट पृथ्‍वीराज’ कमाई, कई जगहों पर नहीं बिका एक भी टिकट

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-