Politics

PM मोदी बोले- रोज खाता हूं 3 किलो गालियां, मेरे अंदर प्रॉसेस होकर बन जाती हैं…

20221112 154217 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को तेलंगाना पहुंचे। यहां उन्होंने केसीआर पर निशाना साधा। पीएम मोदी ने कहा कि उनके अंदर बहुत एनर्जी है वह इसलिए है क्योंकि वह बहुत गालियां खाते हैं। उन्होंने कहा कि वे निराशा, भय और अंधविश्वास के कारण मोदी को सुबह शाम गालियां देते हैं। पानी पी-पीकर गालियां देते हैं। पूरी उम्र इसी में खपा दी है, उनके पास गालियों के अलावा देने के लिए कुछ नहीं बचा है। आप परेशान मत होइए। मैं तो पिछले 20-22 सालों से वैराइटी-वैराइटी की गालियां खा चुका हूं। जरा भी परेशान मत होइए। वह बेगमपेट के रामागुंडम में रामागुंडम फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स लिमिटेड (RFCL) संयंत्र की शुरुआत करने पहुंचे थे।

पीएम ने कहा कि तेलंगाना के कार्यकर्ताओं से मेरा व्यक्तिगत अनुरोध है। कुछ लोग हताशा, भय और अंधविश्वास के कारण मोदी के लिए चुनी हुई गालियों का इस्तेमाल करेंगे। मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि आप इन युक्तियों से न भटकें। पीएम ने लोगों से कहा कि गालियों से परेशान नहीं होंगे न… सीना चौड़ा करके चलिए, देखिए हमें याद रखना है कि राजनीति सामान्य मानविकी सेवा करने और उनकी समस्या सुलझाने का माध्यम है। इससलिए राजनीति में हमारा अजेंडा और मकसद हमेशा सेवा भाव से भरा होना चाहिए और साकारात्मक होना चाहिए।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री पर हमला करते हुए पीएम ने कहा, ‘यहां तेलंगाना में अंधविश्वास के नाम पर क्या-क्या हो रहा है यह देश के लोगों को जानना चाहिए। अगर तेलंगाना का विकास करना है, उसे पिछड़े पन से निकालना है, तो उसे सबसे पहले यहां के हर तरह के अंधविश्वास को दूर करना होगा।

ये भी पढ़ें -: भगवान राम पर टिप्पणी कर विवादों में दृष्टि IAS के विकास दिव्यकृति, लोगों ने किया ट्रोल

उन्होने कहा कि यह शहर सूचना और प्रौद्योगिकी का किला है। जब मैं यह देखता हूं कि आधुनिक शहर में अंधविश्वास को बढ़ावा दिया जा रहा है तो बहुत दुख होता है। ऐसा लगता है कि यहां कि सरकार ने अंधविश्वास को राज्याश्रित दिया हुआ है। केसीआर पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा कि तेलंगाना में जिन लोगों को सत्ता मिली है उनका ध्यान सिर्फ मोदी को गाली देने और कोसने में लगा रहता है। उन्होंने कहा, ‘मैं कल सुबह दिल्ली में था, दोपहर को कर्नाटक में फिर रात को तमिलनाडु पहुंच गया और अब तेलंगाना में हूं। लोग मुझसे पूछते हैं कि इतनी एनर्जी कहां से आती है? मैं बताता हूं कि मैं रोज ढाई-तीन किलो गाली खाता हूं। परमात्मा ने मेरे अंदर ऐसी रचना कर दी है कि सारी गालियां अंदर जाकर न्यूट्रीशन में प्रॉसेस हो जाती हैं, सकारात्मक ऊर्जा बन जाती हैं। जो जनता की सेवा में काम आती हैं।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘जो दिन रात मुझे गाली देते हैं, नई-नई गालियां खोजते रहते हैं, मैं उन्हें कहना चाहता हूं कि चाहे कितनी ही गालियां दीजिए, मैं हजम कर जाऊंगा। बीजेपी को गालियां दीजिए कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन तेलंगाना के लोगों को गाली दी तो लेने के देने पड़ जाएंगे। लोगों के सपनों से मुकाबला किया तो मामला बहुत संगीन हो जाएगा।

पीएम ने कहा कि मोदी और बीजेपी को गाली देने से अगर तेलंगाना का भला होता है तो देते रहिए। अगर लोगों की सुख-सुविधा बढ़ती है तो देते रहिए। बीजेपी और मोदी को गाली देकर किसान समृद्ध होते हैं तो जरूर दीजिए। तेलंगाना के किसानों की स्थिति किसी से छिपी नहीं है। हल्दी किसान किन हालातों मे हैं किसी से छिपा नहीं है। विकास के रास्ते में रोड़े अटकाए जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें -: सेमीफाइनल में हार पर आया विराट कोहली का बयान, बोले- हम सपना पूरा नहीं कर सके लेकिन…

ये भी पढ़ें -: सहवाग ने कप्तान रोहित को सुनाई खरी-खोटी, बोले- टॉप ऑर्डर ने 12 ओवर में…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-