Politics

पूर्व विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा का जब्त हो सकता है पासपोर्ट, विदेश भागने की आशंका, जानें पूरा मामला

passport-of-manjinder-singh-sirsa-may-be-confiscated
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

दिल्ली से पूर्व विधायक और सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति (DSGPS ) के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ( Manjinder Singh Sirsa) के खिलाफ दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की आर्थिक अपराध शाखा (EOW) जल्द ही उनका पासपोर्ट (Passport ) जब्त कर सकती है. दरअसल फर्जीवाड़ा, भ्रष्टाचार (Corruption ) और आर्थिक अपराध (Financial Corruption) से जुड़े एक मसले पर हुई कोर्ट में 9 जुलाई को सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने कोर्ट को बताया कि-

मनजिंदर सिंह सिरसा पिछले कुछ समय के दौरान अपनी काफी संपत्ति को बेच चुका है और आगे होने वाली कानूनी कार्रवाई से बचने के लिए ये विदेश भी भाग सकता है. लिहाजा इस मामले की गंभीरता को समझा जाए, ये मामला बेहद संगीन है.

इस मसले पर दोनों पक्षों की तमाम दलीलों को सुनने के बाद कोर्ट ने ये आदेश जारी किया है कि मनजिंदर सिंह सिरसा से जुड़े इस फर्जीवाड़ा मामले की सुनवाई के दौरान विदेश भाग न सकें. इस केस के मुख्य जांच अधिकारी शिखर चौधरी ये सुनिश्चित करें कि कैसे उनको विदेश भागने से रोका जा सके, इसके लिए मुख्य जांच अधिकारी आवश्यक कदम उठाने की आवश्यकता है. इस मामले में क्या कार्रवाई हुई, उसकी जानकारी केस के मुख्य जांच अधिकारी द्वारा कोर्ट को 26 जुलाई को बताया जाएगा. 9 जुलाई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के मार्फत कोर्ट की सुनवाई हुई थी और पुलिस को उचित कार्रवाई का निर्देश दिया गया था.

जनवरी महीने में दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा में मनजिंदर सिंह सिरसा सहित कुछ अन्य आरोपियों और कंपनी के खिलाफ लिखित तौर पर एक शिकायत दर्ज हुई थी. ये शिकायत भूपेंद्र सिंह नाम के एक शख्स ने दर्ज करवाई थी. मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ भ्रष्टाचार से जुड़े मामले की तफ़्तीश के लिए आदेश दिल्ली स्थित पटियाला कोर्ट में सुनवाई के दौरान दिया गया था. पिछले साल नवंबर महीने में कोर्ट ने प्राथमिक जांच मामला दर्ज करने का आदेश दिया था.

आरोप था कि दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (Delhi Sikh Gurudwara Management Committee) में जब वो महासचिव पद पर रहने के दौरान संस्था के कोष में लाखों रुपये के फर्जीवाड़े को अंजाम दिया गया था. इस मामले में मनजिंदर सिंह सहित कई अन्य आरोपियों के खिलाफ वित्तीय फर्जीवाड़ा के इस मामले की गंभीरता को देखते हुए शिकायत दर्ज करवाई गई थी. सिरसा पर फर्जी दस्तावेज का सहारा लेते हुए गुरुद्वारा के लाखों रुपये को चूना लगाया गया था. गुरुद्वारा के कोष के साथ अनियमितता को अंजाम दिए जाने का आरोप है.

ये भी पढ़ें -: JDU नेता जमा खान ने खुद को बताया हिंदू, बोले- पूर्वजों ने कबूल किया था इस्लाम इसलिए आज मुसलमान

आर्थिक अपराध शाखा के जांच के रडार पर मेसर्स राजा टेंट और डेकोरेटर और मेसर्स राइजिंग बॉल के तमाम लेनदेन भी शामिल हैं, जिसको पिछले करीब 8 महीनों से विस्तार से खंगाला जा रहा है. इसके साथ ही गोलक फंड्स नाम की कंपनी अकाउंट से मेसर्स राजा टेंट और डेकोरेटर के अकाउंट में हुए तमाम पैसों के हर लेनदेन को खंगालने के दौरान आर्थिक अपराध शाखा के तफ़्तीश करने वाली टीम को काफी महत्वपूर्ण जानकारी हाथ लगी है, जिसके बाद आगे की तफ्तीश के लिए अब तक करीब एक दर्जन लोगों से पूछताछ की जा चुकी है.

ये भी पढ़ें -: पूर्व IAS का मोदी सरकार पर तंज- जिसपर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए, अब वो कैबिनेट मैं…

ये भी पढ़ें -: दिल्ली मैं अब बिना इजाजत लाउडस्पीकर बजाया तो लगेगा 1 लाख रुपये तक जुर्माना, देखें पूरी लिस्ट

सोर्स – hindi.news18.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-