India

भड़के मां-बाप ने बेटा-बहू पर ठोंका केस, कहा- सालभर में पोता दो या 5 करोड़ रुपए

parents-sue-son-and-daughter-in-law-asking-either-give-grandson-or-pay-5-crore-rupees
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

भारतीय कोर्ट्स में यूं ही लाखों-करोड़ों केसेस पेंडिंग पड़े हैं. कई बार इसकी वजह से कोर्ट की फजीहत भी होती है. स्लो कानून व्यवस्था की वजह से अपराधी कई-कई सालों तक खुले में घूमते हैं या फिर मामले का निपटारा होने से पहले ही उनकी मौत हो जाती है. इन सारे पेंडिंग केसेस में कई छोटे-मोटे झगड़ों के मामले भी शामिल हैं. इनमें से कई बेवजह कोर्ट का समय वेस्ट करने के लिए भी दर्ज कर दिए जाते हैं.

हाल ही में उत्तराखंड से एक ऐसा ही केस दर्ज किया गया है. इसमें एक बुजुर्ग दम्पति ने अपने बेटे और बहू पर केस ठोंकते हुए कहा कि या तो वो लोग उन्हें सालभर में पोते का मुंह दिखाए या फिर हर्जाने के तौर पर 5 करोड़ का भुगतान करें. हरिद्वार के रहने वाले इस कपल का कहना है कि उन्होंने अपनी जिंदगी भर की कमाई बेटे की पढ़ाई पर खर्च कर दी. उन्होंने उसे अमेरिका में पढ़ाया. इसके बाद घर बनाने के लिए उन्हों लोन लिया. इस लोन को चुकाने के लिए अब उनके पास पैसे नहीं है. अब उन्हें बहू से इसका हर्जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें -: कश्मीरी पंडितों के समर्थन में बडगाम जाना चाहती थीं महबूबा मुफ्ती, हुवी हाउस अरेस्ट

ऐसे में पेरेंट्स ने शर्त रखी है कि या तो बेटा-बहू उन्हें पोता दे. अगर ऐसा नहीं करते हाँ तो फिर उन्हें दोनों से ढाई-ढाई करोड़ का हर्जाना चाहिए. इस खबर ने लोगों को हैरान कर दिया. माता-पिता द्वारा किया गया ऐसा डिमांड लोगों के लिए शॉक की तरह है.

वकील ने बताया समाज का सच पेरेंट्स की तरफ से केस लड़ रहे एडवोकेट एके श्रीवास्तव ने कहा कि ये केस समाज का सच सामने लेकर आया है. आज की मॉडर्न सोसाइटी में पेरेंट्स अपनी जिंदगीभर की कमाई बच्चों के ऊपर खर्च कर देते हैं ताकि बच्चे अच्छे से सेटल हो जाएं. लेकिन बदले में बच्चे बुढ़ापे में उन्हें यूं ही छोड़ देते हैं. बच्चों की नैतिक जिम्मेदारी है अपने मां-बाप की फाइनेंशियल मदद करना. ऐसे में इस पेरेंट्स ने भी अपने बच्चों से एक पोता या फिर 5 करोड़ रुपए की डिमांड की है.

ये भी पढ़ें -: कश्मीरी पंडित की अंतिम यात्रा में पहुंचे BJP नेताओं का विरोध, लोगों ने कही ये बात…

इस केस के सामने आते ही लोगों ने कपल का जमकर मजाक बनाना शुरू किया. कई लोगों ने लिखा कि जब बुजुर्ग के पास पैसे नहीं है तो वो पोते के लिए इतने परेशान क्यों हैं? एक यूजर ने लिखा कि पोता होने से कपल की आर्थिक स्थिति कैसे बदल जाएगी?

एक ने लिखा कि पेरेंट्स पहले अपनी मर्जी से बच्चों की शादी करवाते हैं, फिर उम्मीद करते हैं कि सालभर के अंदर उनके बच्चे हो जाएं. बताया जा रहे है कि इस कपल ने अपने बेटे की शादी 2016 में करवाई थी. अब उन्होंने अपने बेटे से ऐसी डिमांड की है.

ये भी पढ़ें -: ज्ञानवापी मस्जिद के बाद अब मथुरा ईदगाह पर कोर्ट में दाखिल हुई याचिका, जानें पूरा मामला

ये भी पढ़ें -: PM मोदी बोले- राजनीति नहीं सेवा के लिए आया हूं, लोग चुटकी लेते हुवे करने लगे ऐसी बातें…

ये भी पढ़ें -: अरबाज खान के बाद अब सोहेल खान भी पत्नी से हुवे अलग, तलाक के लिए कोर्ट मैं दी अर्जी

सोर्स – hindi.news18.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-