India

नए पेट्रोलियम मंत्री का तेल कंपनियों ने किया “स्वैग से स्वागत”, आज फिर महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल

new-petroleum-minister-today-petrol-diesel-became-expensive-again
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

सरकारी तेल कंपनियों (Government Oil Companies) ने गुरुवार को नए पेट्रोलियम मंत्री को सलामी पेश की। इस दिन पेट्रोल के दाम में फिर 35 पैसे की बढ़ोतरी हुई। साथ ही डीजल भी हर लीटर पर 9 पैसे महंगा किया गया। दरअसल, दोनों ईंधन की बढ़ती कीमतों को देखते हुए कल ही, सात साल से पेट्रोलियम मंत्रालय (Petroleum Ministry) पर निष्कंटक राज करने वाले मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) को हटा कर शिक्षा मंत्री बनाया गया है। उनके स्थान पर हरदीप सिंह पुरी को लाया गया है। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्च तेल की कीमतों में गिरावट जारी है। बुधवार को कच्चा तेल फिर करीब दो फीसदी टूटा। दिल्ली के बाजार (Delhi Market) में गुरुवार को इंडियन ऑयल (IOC) के पंप पर पेट्रोल 100.56 रुपये प्रति लीटर पर चला गया। यहां डीजल भी 89.62 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।

ऐसा देखा गया है कि अपने यहां जब कोई महत्वपूर्ण चुनाव होता है तो पेट्रोल और डीजल की कीमतें (Petrol Diesel Price) नहीं बढ़ती। कई राज्यों में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) की प्रक्रिया चलने की वजह से बीते मार्च और अप्रैल में पेट्रोल की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई। इसलिए, उस दौरान कच्चा तेल महंगा (Crude Oil Dearer) होने के बाद भी पेट्रोल-डीजल के दाम (Petrol Diesel Price) में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई थी। लेकिन, बीते चार मई से इसकी कीमतें खूब बढ़ी। कभी लगातार तो कभी ठहर कर, 38 दिनों में ही पेट्रोल 10.24 रुपये प्रति लीटर महंगा हो गया है।

ये भी पढ़ें -: मोदी के हनुमान बोले- अगर पशुपति पारस LJP कोटे से मंत्री बनते हैं तो वह कोर्ट…

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) के लिए चुनाव आयोग (Election Commission) ने बीते 26 फरवरी को अधिसूचना जारी की थी। इसके बाद सरकारी तेल कंपनियों ने अंतिम बार 27 फरवरी 2021 को डीजल के दाम में 17 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की। इसके बाद दो महीने से भी ज्यादा दिनों तक इसके दाम में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई। चुनाव बीतने के बाद बीते 4 मई से इसमें रूक-रूक कर बढ़ोतरी होना शुरू हुआ। आमतौर पर देखा जाता है कि जिस दिन पेट्रोल के दाम बढ़ते हैं, उसी दिन डीजल के भी दाम बढ़ते है। लेकिन शुक्रवार, दो जुलाई 2021 को सिर्फ पेट्रोल के दाम बढ़े थे। डीजल के दाम नहीं बढ़े थे। सोमवार, 5 जुलाई को भी सिर्फ पेट्रोल के दाम बढ़े जबकि डीजल के स्थिर रहे। इस तरह डीजल में 36 दिन दाम बढ़े हैं और इतने दिनों में ही यह 8.83 रुपये प्रति लीटर महंगा हो चुका है।

पिछले सप्ताह कच्चे तेल उत्पादक देशों (Crude Oil Producing Countries) के संगठन ओपेक प्लस (OPEC+) की वियना में महत्वपूर्ण बैठक हुई थी। उस दौरान कुछ कंक्रीट फैसला नहीं हो पाया था। इसलिए इस सप्ताह की शुरूआत में ही कच्चे तेल के बाजार (Crude Oil Market) में भारी तेजी दर्ज की गई थी। लेकिन मंगलवार को सुबह बाजार खुलते ही यह बरकरार नहीं रह पाई। अमेरिकी बाजार में मंगलवार को ब्रेंट क्रूड 3.72 फीसदी टूटा था। गुरुवार को भी यह करीब दो फीसदी टूटा। उस दिन शाम को कारोबार बंद होते समय ब्रेंट क्रूड (Brent Crude) 73.43 डॉलर प्रति बैरल पर था जो कि पिछले सोमवार के मुकाबले 1.10 डॉलर कम है। इसी तरह वहां यूएस वेस्ट टैक्सास इंटरमीडियएट या डब्ल्यूटीआई क्रूड (WTI Crude) 1.27 डॉलर कम हो कर 72.20 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ था।

ये भी पढ़ें -: रविशंकर प्रसाद के इस्तीफे पर कांग्रेस नेता का तंज़- आज ट्विटर अनाथ हो गया

पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) के भाव रोजाना बदलते हैं और सुबह 6 बजे अपडेट हो जाते हैं। पेट्रोल-डीजल का रोज़ का रेट आप SMS के जरिए भी जान सकते हैं (How to check diesel petrol price daily)। इंडियन ऑयल (Indian Oil) के कस्टमर RSP स्पेस पेट्रोल पंप का कोड लिखकर 9224992249 नंबर पर और बीपीसीएल (BPCL) के ग्राहक RSP लिख कर 9223112222 नंबर पर भेज जानकारी हासिल कर सकते हैं। वहीं, एचपीसीएल (HPCL) के ग्राहक HPPrice लिख कर 9222201122 नंबर पर भेजकर भाव पता कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें -: मोदी सरकार से रविशंकर, जावड़ेकर और हर्षवर्धन जैसे दिग्गज क्यों हुए बाहर, जानें वजह

ये भी पढ़ें -: आधार कार्ड पर बड़ी खबर ! Aadhaar से जुड़ी ये 2 सेवाएं हुई बंद, जानें क्यों?

सोर्स – navbharattimes.indiatimes.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-