Politics

चीनी मिल के उद्घाटन मैं चीफ गेस्ट थे अजय मिश्रा, लेकिन राकेश टिकैत की धमकी के बाद नही पहुँचे मंत्री

narendra-modi-cabinet-minister-ajay-mishra-teni-chief-guest-inauguration-sugar-mill-but-bku-leader-rakesh-tikait-threat
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Rakesh Tikait On Ajay Mishra Teni : लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद किसान संगठन लगातार केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी की बर्खास्तगी की मांग कर रहे हैं। उनके खिलाफ लगातार हो रहे विरोध के बीच अजय मिश्रा ने लखीमपुर में दो सहकारी चीनी मिलों के उद्घाटन समारोह में जाने का अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया। बता दें कि समारोह में शामिल ना होने को लेकर किसान नेता राकेश टिकैत ने धमकी दी थी।

राकेश टिकैत ने इससे पहले कहा था कि ‘अगर चीनी मिल का उद्घाटन करने टेनी (अजय मिश्रा) आते हैं, तो उस चीनी मिल में कोई भी किसान गन्ना नहीं ले जाएगा। बल्कि गन्ना जिलाधिकारी के कार्यालय ले जायेंगे, चाहे उन्हें कितना भी नुकसान हो।’ भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत की इस धमकी के बाद दो सहकारी चीनी मिलों के उद्घाटन में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री (गृह) अजय मिश्रा ने भाग नहीं लिया। जिले के बेलरायां और संपूर्ण नगर में दोनों चीनी मिलों में मुख्य अतिथि के रूप में अजय मिश्रा को शामिल होने के लिए निमंत्रण कार्ड भेजे गए थे, जिसमें बुधवार को 2021-22 के लिए पेराई सत्र की शुरुआत के लिए जिले के बेलरायां और संपूर्ण नगर में दो चीनी मिलों का उद्घाटन कार्यक्रम था।

यह भी पढ़ें -: ममता बनर्जी से मिले सुब्रमण्यम स्वामी बांधे तारीफों के पुल, अटकले तेज…

गौरतलब है कि अजय मिश्रा के ना आने पर जिला प्रशासन की ओर से लखीमपुर खीरी के एडीएम संजय कुमार इस कार्यक्रम में शामिल हुए। मिश्रा के निजी सचिव अमित मिश्रा ने बताया कि मंत्री का रांची में केंद्रीय गृह मंत्रालय का कार्यक्रम था इसलिए वे चीनी मिलों में कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके।

बता दें कि तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में 4 किसानों समेत 8 लोगों की मौत हुई थी। दरअसल किसान यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे का विरोध कर रहे थे। इसी दौरान किसानों पर वाहन चढ़ा दिए गए थे। इसको लेकर अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा पर आरोप लगा है। ऐसे में किसान टेनी के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें -: त्रिपुरा में BJP विधायकों ने अपनी ही पार्टी पर उठाए सवाल, हिंसा पर मुख्यमंत्री से पूछे ये सवाल

वहीं 22 नवंबर सोमवार को लखनऊ के इको गार्डन में आयोजित किसान महापंचायत में राकेश टिकैत ने आंदोलन की अन्य मांगों को लेकर कहा कि किसान कानूनों के अलावा हमारी मांग है कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी की बर्खास्तगी हो, एमएसपी पर गांरटी कानून बने। उन्होंने कहा कि आंदोलन के दौरान 750 लोगों की जान गई है, उनके परिवारों को मुआवजा मिले।

बता दें कि एक साल से चल रहे किसान आंदोलन की मुख्य मांगों में कृषि बिल वापसी शामिल थी। जिसको लेकर 19 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में कृषि कानून वापस लेने का ऐलान कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें -: जान से मारने की धमकी के बाद बढ़ाई गई गौतम गंभीर की सुरक्षा, मेल मैं लिखी थी ये बातें…

यह भी पढ़ें -: आंदोलनकारी किसानों को खालिस्तानी कहने पर कंगना पर मुंबई मे एक औऱ FIR दर्ज

सोर्स – jansatta.com.  Rakesh Tikait On Ajay Mishra Teni


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-