Politics

मुकेश सहनी बोले- BJP ने मेरे साथ गलत किया, आज से संघर्ष के रास्ते पर निकल पड़ा हूं

vip-party-three-mlas-joins-bjp-support-to-bjp-candidate
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

बिहार की राजनीति में विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी की मंत्रिमंडल से बर्खास्तगी ने बड़ा सियासी भूचाल ला दिया है. कल तक सिर्फ सोशल मीडिया पर भावुक संदेश देने वाले मुकेश सहनी ने अब आक्रमक रुख अपना लिया है और बीजेपी पर अन्याय करने का आरोप लगा दिया है.

प्रेस कॉन्फ्रेस करते हुए विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी ने कहा है कि मैं आज फिर से संघर्ष करने के रास्ते पर निकला हूं. नीतीश कुमार को धन्यवाद कि उनके मंत्रिमंडल में काम करने का मौका मिला. एक अति पिछड़ा के बेटे के साथ लोगों ने गलत किया है. अपनी आगे की रणनीति को लेकर भी मुकेश सहनी ने विस्तार से बात की है.

ये भी पढ़ें -: The Kashmir Files देखकर लौटे युवक ने उद्धव ठाकरे के बारे मैं कही ऐसी बात कि शिवसैनिकों ने कर दी धुनाई

वे कहते हैं कि मैं जनता के बीच में जाऊंगा और मेरे साथ जो अन्याय हुआ है उन्हें बताऊंगा. अब जनता मेरा न्याय करेगी. अगले महीने से पूरे बिहार का दौरा करूंगा और अपनी बात रखूंगा. बीजेपी ने मेरे साथ गलत किया. जब मैं साथ था तो मुझे राम को पार लगाने वाला केवट बना दिया और अब मैं उनके लिए रावण हो गया हूं.

वैसे मंत्रिमंडल से बर्खास्तगी से पहले भी मुकेश सहनी ने बीजेपी पर हमला बोला था. तब उन्होंने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा था कि मेरे सहयोग से बीजेपी बिहार में अब सबसे बड़ी पार्टी बन गई है. मेरी वजह से बीजेपी को बिहार विधानसभा चुनाव में 74 सीट मिले थे और अब मेरे तीन विधायक बीजेपी में चले गए हैं जिससे उनकी संख्या 77 हो गई है.

ये भी पढ़ें -: मैंने राज्यसभा में तनख्वाह और सांसद निधि कश्मीरी पंडितों को देने का प्रस्ताव दिया तो भाजपाई भाग खड़े हुए- संजय सिंह

अब जानकारी के लिए बता दें कि मुकेश सहनी संग बीजेपी की तनातनी तब चरम पर पहुंच गई थी जब यूपी चुनाव के दौरान वीआईपी प्रत्याशियों को बीजेपी उम्मीदवारों के खिलाफ मैदान में उतार दिया गया था. उसके बाद से ही बिहार बीजेपी के नेता उन पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे.

सीएम नीतीश कुमार पर भी दवाब था कि वे उनके खिलाफ कोई एक्शन लें. बाद में उनकी तरफ से मुकेश सहनी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की अनुशंसा राज्यपाल से कर दी थी जिसके अनुमोदन के बाद सचिवालय ने इसे लेकर नोटिफिकेशन जारी किया था और फिर आखिर में उन्हें मंत्रिमंडल से हटा दिया गया.

ये भी पढ़ें -: गैर हिंदू होने पर भरतनाट्यम डांसर को मंदिर में परफॉर्म करने से रोका, मंदिर कमेटी ने दिया ये जवाब

ये भी पढ़ें -: मुकेश सहनी की बर्खास्तगी पर बोले शाहनवाज हुसैन- हमारे नेता को मोदिया, योगिया बोल रहे थे

सोर्स – aajtak.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-