जिसे बीजेपी नेता ने मुस्लिम समझकर पी’टा, वो खुद था भाजपा लीडर का भाई

जिसे बीजेपी नेता ने मुस्लिम समझकर पी’टा, वो खुद था भाजपा लीडर का भाई
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

मध्यप्रदेश में पिछले दिनों बीजेपी कार्यकर्ता ने जिस बुजुर्ग को मुस्लिम समझकर पीटा उसका भाई भी बीजेपी नेता है। एक न्यूज चैनल की खबर के मुताबिक परिजनों का कहना है कि हमारा पूरा परिवार बीजेपी से जुड़ा है। 90 साल की मां सरपंच हैं तो चचेरा भाई पूर्व बीजेपी का ही पार्षद है। उनका सवाल है कि आखिर क्यों उनके परिवार के बुजुर्ग की हत्या की गई।

मृतक भंवरलाल के भाई राजेश जैन ने बताया कि वो तीन भाई हैं। भंवर लाल उनके सबसे बड़े भाई थे। वो परिवार के साथ धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होने चित्तौड़गढ़ गए भंवरलाल। वहां से लापता हो गए थे। पुलिस को उनकी गुमशुदगी की इत्तला दे दी थी। उनका कहना है कि आरोपी बीजेपी से जुड़ा है तभी बुल्डोजर उसके घर जाने के बाद लौट आया।

ये भी पढ़ें -: राज ठाकरे पर बोले BJP सांसद- 2008 से खोज रहा हूं, किसी दिन मिले तो दो-दो हाथ जरूर करेंगे

ध्यान रहे कि नीमच जिले के मनासा में बुजुर्ग भंवरलाल चत्तर नाम के शख्स की संदिग्ध मौत हो गई। वह रतलाम के सरसी गांव के थे। मनासा में उनका शव गुरुवार शाम मिला। उनकी मौत को लेकर कयास लग ही रहे थे कि मारपीट का एक वीडियो सामने आ गया है। जो व्यक्ति की बुजुर्ग भंवरलाल के साथ मारपीट कर रहा है वह मनासा का भाजपा नेता दिनेश कुशवाह है।

सोशल मीडिया पर लोग आरोपी शख्स पर बिफर पड़े। आलोक मिश्रा ने कहा कि दम है शिवराज सरकार में तो चलाओ उस हत्यारे के घर पे बुलडोजर। एक ने लिखा कि दगांबाजो के साथ रहोगे तो परिणाम तो भुगतना पड़ता है ना। डॉ. जगत के हैंडल से शायराना अंदाज में ट्वीट किया गया कि बड़े ज्ञानी और ध्यानी कह गए है एक वाणी। पाप की आंच घूम फिर कर अपने पर ही है आणी। सनातन धर्मी ने लिखा कि आग लगेगी तो घर जलेगे ही। चिंगारी के लिए ना कोई अपना है ओर ना पराया उसको नही दिखता किसका घर है। चंद छोडे़ हुए गुर्गे कब और कहां किसको अपनी चपेट मे लेगे कोई नही जानता।

ये भी पढ़ें -: टीम इंडिया में वापसी पर भावुक हुए दिनेश कार्तिक,  कही ये बात… पढ़ें विस्तार से…

नौशाद शेख ने लिखा कि तो क्या पार्टी हित को देखते हुए भंवरलाल जी की हत्या को बलिदान समझा जाए,क्यों की मारने वाला मरने वाला दोनों BJP का नेता समर्थक है। मार दिया जाने वाला मुस्लिम होता तो अभी तक मार दिए जाने पर ही लांछन लगाकर झूठा इल्ज़ाम लगाकर उसे ही दोषी ठहरा दिया गया होता और हत्यारे को राष्ट्रवादी। नुरुल हसन ने लिखा कि अब तो इंडिया में भी कानून होना चाहिए जान के बदले जान तभी देश सुधरेगा वरना ना जाने कितने लोग अपना परिवार का सदस्य खोते रहेंगे।

रंजीत यादव ने लिखा कि इसी बात पर एक शायर याद आ गया “लगेगी आग तो आएंगे कई घर जद में यहॉं पर सिर्फ हमारा मकान थोड़े है” और फैलाओ नफरत जब खुद पे आएगा तभी समझोगे। एक ने लिखा कि कुदरत का करिश्मा देखिए….बाहर फैलाई आग घर में कैसे फ़ैल गई पता भी नहीं चला। हमारा भारत ऐसा तो नहीं है, दुःखद।

ये भी पढ़ें -: एक झटके में दान कर दी 11 करोड़ की संपत्ति, पूरे परिवार ने एक साथ त्याग दिया सांसारिक जीवन

ये भी पढ़ें -: TMC में शामिल होते ही अर्जुन सिंह बोले- BJP सिर्फ फेसबुक वाली पार्टी औऱ…

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-