India

मंदिर-मस्जिद विवाद के बीच भावुक हुवे मदनी- बात अखंड भारत की करते हैं, पर सब चीजें बांटने की कोशिश करते हैं

maulana-mahmood-madni-cried-in-jamiat-e-ulema-hind-meeting-in-deoband-said-they-are-trying-to-divide-india
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

मंदिर-मस्जिद विवाद के बीच शनिवार (28 मई 2022) को उत्तर प्रदेश के देवबंद में जमीयत उलेमा-ए- हिंद की बैठक हुई। बैठक के दौरान जमीयत के अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी देश में चल रहे विवाद पर भावुक हो गए। उन्होंने इसे देश के लोगों को बांटने वाला करार दिया। मदनी ने रोते हुए कहा कि बात अखंड भारत की करते हैं, पर सब चीजें बांटने की कोशिश करते हैं।

ईदगाह मैदान पर मौलाना महमूद मदनी ने भावुक स्वर में कहा कि हमें अपने ही देश में अजनबी बना दिया गया है। उन्होंने मुसलमानों से अपील की कि हम आग से आग नहीं बुझा सकते। प्यार से नफरत को हराया जा सकता है। मौलाना मदनी ने अपने भाषण में देश की बात करते हुए सामाजिक एकता पर जोर दिया। इसके साथ ही उन्होंने मंदिर-मस्जिद के मुद्दे पर जारी महाभारत पर दुख भी जताया।

ये भी पढ़ें -: सिर्फ़ 12 घंटे में तैयार किया सीमा के लिए पैर औऱ दौड़ने लगी बिहार की बेटी…

नफरत के पुजारी आगे हैं: सभा को संबोधित करते हुए मदनी ने कहा कि जो नफरत के पुजारी हैं, आज वो ज्यादा नजर आ रहे हैं। अगर हमने उन्हीं के लहजे में जवाब देना शुरू किया तो वो अपने मकसद में कामयाब हो जाएंगे। जमीयत के अध्यक्ष ने कहा कि हम हर चीज से समझौता कर सकते हैं, लेकिन ईमान से समझौता बर्दाश्त नहीं है। वो देश को अखंड भारत बनाने की बात करते हैं, पर देश में मुसलमान का पैदल चलना भी दुश्वार कर दिया है। वो मुल्क के साथ दुश्मनी कर रहे हैं।

मुल्क पर आंच नहीं आने देंगे: मौलाना मदनी ने कहा, “मस्जिदों के बारे में चर्चा के बाद जमात फैसला करेगी। फैसले के बाद कोई कदम पीछे नहीं हटाया जाएगा। हमारा जिगर जानता है कि हमारी क्या मुश्किलें हैं। उन्होंने कहा कि मुश्किल झेलने के लिए हौसला चाहिए। हम जुल्म को बर्दाश्त कर लेंगे, दुखों को सह लेंगे, पर अपने मुल्क पर आंच नहीं आने देंगे।

ये भी पढ़ें -: सिर्फ़ 1 हफ्ते में ही मुंबई के सभी सिनेमाघरों से हटी कंगना रनोट की धाकड़

नफरत का जवाब मोहब्बत: मौलाना महमूद मदनी ने देश में नफरत फैलाने वालों को देश का दुश्मन और गद्दार बताया साथ ही नफरत को मोहब्बत से खत्म करने का लोगों को पैगाम दिया। मदनी ने देश में हाल में हुई कुछ साम्प्रदायिक घटनाओं का परोक्ष रूप से हवाला देते हुए कहा, ‘‘देश में नफरत की दुकान चलाने वाले मुल्क के दुश्मन हैं, गद्दार हैं।’’ उन्होंने कहा कि नफरत का जवाब कभी भी नफरत से नहीं दिया जाता बल्कि मोहब्बत से दिया जाता।

ये भी पढ़ें -: पर्पल कैप की रेस हुई रोचक, चहल औऱ हसरंगा के बीच कड़ी टक्कर…

ये भी पढ़ें -: Ajmer Sharif Dargah को हिन्दू मंदिर बताने वाले राजवर्धन सिंह का नया दावा…

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-