India

बीमा के नाम पर 300 से ज्यादा लोगों से ठगी का मामला- लड़की आवाज में बात करता था मास्टरमाइंड

main-accused-girl-used-to-talk-in-voice-cheated-more-than-300-people-in-name-of-insurance
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

People cheated Name Of Insurance : नोएडा की कोतवाली सेक्टर-58 पुलिस ने बीमा कराने के नाम पर देशभर के 300 से अधिक लोगों से पांच करोड़ से ज्यादा ठगने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह का खुलासा किया है। बुजुर्गों को निशाना बनाकर उनकी गाढ़ी कमाई और सेवानिवृत्ति की रकम हड़पने वाले गिरोह सरगना सहित आठ आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

आरोपियों के पास से पुलिस ने 47.55 लाख रुपये, हार्ले डेविडसन बाइक, चार कारें, लैपटॉप व 16 मोबाइल बरामद किए हैं। आरोपियों की संपत्ति की भी जांच की जा रही है। डीसीपी राजेश एस ने बताया कि एनटीपीसी से सेवानिवृत्त जीएम रियाज हसन ने बीमा कराने के नाम पर 1.44 करोड़ रुपये ठगने की शिकायत 2021 में की थी। रियाज की सेवानिवृत्ति का पूरा पैसा ठगों ने हड़प लिया था।

मामले की जांच के बाद कोतवाली सेक्टर-58 के प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार की टीम ने मंगलवार को मेरठ के जानी निवासी नीरज कुमार, बुलंदशहर निवासी अजहरउद्दीन, मसूरी निवासी अमरपाल, लोनी निवासी विकास, सोहन, नीतू आर्या व नीतू का पति सुनील और बुलंदशहर निवासी सुनील को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपियों ने वर्ष 2017 में रियाज से संपर्क किया और भारती एएक्सए इंश्योरेंस का अधिकारी बताकर अच्छा मुनाफा बताकर निवेश करा लिया। रियाज को झांसा देकर आरोपियों ने दस बीमा कराए थे और 1.44 करोड़ रुपये जमा करा लिए। पिछले साल उन्होंने इंश्योरेंस कंपनी में जाकर पता किया तो फर्जीवाड़े का पता चला। इसके बाद उन्होंने की शिकायत की।

एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि गिरोह के सरगना अजहरउद्दीन और नीरज कुमार हैं। दिव्यांग नीरज एमबीए कर चुका है और मुंबई की एक कंपनी में 25 लाख के पैकेज पर काम कर रहा है। इससे पहले वह नोएडा में 15 लाख के पैकेज पर कोलोप्लास्ट कंपनी में काम करता था। अजहर 12वीं पास है।

विकास, सोहन व नीतू वर्ष 2017 में इंडिया इंफो फाइनेंस लिमिटेड, सेक्टर-63 में काम करते थे। यहां इनकी मुलाकात नीरज, अजहर व अमरपाल से हुई। कंपनी के पास देश की कई इंश्योरेंस कंपनियों का डाटा था। इसके आधार पर आरोपियों ने गिरोह बना लिया और लोगों से संपर्क कर आकर्षक ऑफर देकर ठगने लगे।

एसीपी रजनीश वर्मा ने बताया कि आरोपियों ने फर्जी नाम रखे हुए थे। सभी फर्जी नाम से बीमा कराने का झांसा देते थे। नीरज लड़की की आवाज निकालता था और डीपी में भी युवतियों की फोटो लगाकर व्हाट्स एप चैट करता था। नीतू भी आकर्षक ऑफर का झांसा देती थी। अमरपाल ने एमसीए कर रखा है। हार्ले डेविडसन बाइक भी अमरपाल की है।

एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि आरोपियों ने कई शहरों में संपत्ति खरीदी है। अमरपाल ने डासना, राजनगर एक्सटेंशन व देहरादून में फ्लैट खरीदे हैं। नीरज ने गाजियाबाद में प्लॉट व फ्लैट और अजहर ने मसूरी व डासना में संपत्ति खरीदी है। आरोपियों की बाकी संपत्तियों के बारे में पता किया जा रहा है। इन पर गैंगस्टर की कार्रवाई की जाएगी और अवैध धन से अर्जित संपत्ति को कुर्क किया जाएगा।

एसीपी रजनीश वर्मा ने बताया कि ये आरोपी पहले बुजुर्गों से बातचीत कर उनका हालचाल लेते थे और फिर आकर्षक ऑफर बताकर इंश्योरेंस कंपनियों में निवेश कराने के लिए तैयार करते थे। इसके बदले उन्हें कंपनी के फर्जी कागज भेजते थे। कुछ पैसे निवेश कराने के बाद उन्हें उससे अधिक रकम कुछ समय में ही रिफंड कर देते थे। इससे बुजुर्गों का विश्वास बढ़ जाता था। पीड़ित रियाज हसन को भी इन आरोपियों ने पहले सात लाख रुपये वापस कर दिए थे। इसके बाद उनका विश्वास इन पर बढ़ गया था और 1.44 करोड़ रुपये निवेश कर दिए।

यह भी पढ़ें -: स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे से BJP को सता रहा है ओबीसी वोट खोने का डर, उठाया ये कदम…

यह भी पढ़ें -: मथुरा में सड़क बनने से पहले ही लग गया लोकार्पण का बोर्ड, भड़के गाँव वाले..

सोर्स – amarujala.com.  People cheated Name Of Insurance


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-