World

कुवैत में प्रवासियों को प्रदर्शन करना पड़ा भारी, जारी हुवा सख़्त आदेश, पढ़ें विस्तार से…

kuwait-protested-against-nupur-sharma
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

पैग़ंबर मोहम्मद पर बीजेपी के पूर्व प्रवक्ताओं की विवादित टिप्पणी के बाद भारतीय राजदूत को तलब कर चुके कुवैत ने अब उन लोगों को गिरफ़्तार करके वापस उनके मुल्क भेजने का फ़ैसला किया है, जिन्होंने बीते शुक्रवार इस मसले पर विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा लिया था. इकनॉमिक टाइम्स की ख़बर के अनुसार, जुमे की नमाज़ के बाद कुवैत में भी लोगों ने प्रदर्शन किया था.

कुवैत सरकार ने इस विवाद पर नए निर्देश जारी किए हैं, जिसके मुताब़िक बयान को लेकर जिन्होंने प्रदर्शन किया, उन्हें उनके संबंधित देशों में वापस भेजा जाएगा. सरकार ने कहा है, “सभी प्रवासियों को क़ानून का सम्मान करना चाहिए और किसी भी तरह के धरना-प्रदर्शन में हिस्सा नहीं लेना चाहिए.

ये भी पढ़ें -: मोदी सरकार के मंत्री बोले- भारत में हो रही घटनाओं के पीछे है पाकिस्तान का हाथ

प्रदर्शनकारियों में पाकिस्तानी, बांग्लादेशी और अरब देशों के प्रवासियों के साथ ही भारतीय भी शामिल हो सकते हैं. इकनॉमिक टाइम्स ने सूत्रों के हवाले से ये भी लिखा है कि प्रदर्शनकारी प्रवासियों को हमेशा के लिए कुवैत में घुसने से रोका जा सकता है. शुक्रवार, 10 जून को जुमे की नमाज़ के बाद कुवैत के फ़हाहील इलाक़े में 40-50 प्रवासियों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया और नारेबाज़ी भी की थी.

कुवैत में विदेशियों के प्रदर्शन और आंदोलन करने को गंभीर अपराध माना जाता है. प्रशासन इस मामले को लेकर मिसाल भी पेश करना चाहता है ताकि भविष्य में प्रवासी इस तरह से क़ानून का उल्लंघन न कर पाएं. कुवैत सरकार उन स्थानीय लोगों पर भी उपयुक्त कार्रवाई कर सकती है, जो इस धरना-प्रदर्शन में शामिल हुए थे.

ये भी पढ़ें -: अच्छे दिन आ गए हैं, अब और अच्छे दिन आएंगे : अमित शाह

कुवैत इस क्षेत्र में भारत के सबसे पुराने सहयोगी देशों में से है और यहाँ के शाही परिवार का भारत से ऐतिहासिक संबंध हैं. कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट की वजह से भारत में आई दूसरी लहर के दौरान कुवैत भारत को मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाला प्रमुख देश था.

बीते साल विदेश मंत्री एस. जयशंकर पीएम मोदी का संदेश लेकर कुवैत पहुँचे थे. इस दौरान उन्होंने यहाँ के प्रधानमंत्री सहित सभी शीर्ष अधिकारियों से मुलाक़ात की थी.

ये भी पढ़ें -: संजय राउत बोले- 48 घंटे के लिए ईडी सौंप दो, देवेंद्र फडणवीस भी हमें वोट देंगे

ये भी पढ़ें -: दरोगा जी ने काटा लाइनमैन का चालान, तो लाइनमैन ने काट दी पुलिस चौकी की बिजली

सोर्स – बीबीसी हिंदी


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-