Politics

अटकलों पर बोले केशव देव- शिवपाल यादव को BJP ने ऐसे ही नहीं दिया है बंगला

keshav-dev-maurya-spoke-to-aaj-tak-news-channel-on-the-possibility-of-shivpal-yadav-joining-bjp
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) व प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) के बीच तनातनी शुरू हो गई है। जिसके बाद इस बात को लेकर राजनीतिक गलियारों में चर्चा गर्म है कि शिवपाल जल्द ही बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। इस विषय पर अखिलेश यादव के सहयोगी दल महान दल के नेता केशव देव मौर्य (Keshav Dev Maurya) ने कहा कि बीजेपी ने उनको ऐसे ही बंगला नहीं दिया है।

दरअसल, केशव देव मौर्य ‘आज तक’ न्यूज़ चैनल से बात कर रहे थे। इस दौरान शिवपाल पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बीजेपी से उनका रिश्ता पुराना है। जब मायावती का बंगला सुप्रीम कोर्ट ने खाली करवा दिया तो उसे शिवपाल यादव को कैसे दे दिया गया है। इस हिसाब से समझा जा सकता है कि बीजेपी और शिवपाल एक दूसरे से मिले हुए हैं।

ये भी पढ़ें -: शिवपाल यादव के BJP में शामिल होने की अटकलों पर बोले केशव मौर्य- अभी तो वैकेंसी नहीं है

केशव देव मौर्य ने आगे कहा कि बीजेपी ने आज तक मेरी मदद क्यों नहीं की है क्योंकि मैं भाजपा की नीतियों का विरोध करता हूं। सपा गठबंधन के विधायक दल में हुई बैठक के बाद नाराज चल रहे शिवपाल को लेकर केशव देव मौर्य ने कहा कि वह केवल एक बहाना लेकर इस तरीके की बात कर रहे हैं। उन्होंने अपनी पत्नी का जिक्र कर कहा कि समाजवादी पार्टी के चिन्ह पर चुनाव लड़ी थी तो क्या सपा प्रमुख के कहने पर ही सारा काम करेंगी।

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए के केशव मौर्या कहते हैं कि गठबंधन के नाते वह सपा की विधायक होती लेकिन सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के आदेश पर काम नहीं करती। उन्होंने शिवपाल यादव को बुलाए ना जाने की बात पर सहमति जताते हुए कहा कि सपा ने उन्हें मीटिंग में न बुलाकर बिल्कुल सही किया है।

ये भी पढ़ें -: हाईवे मैं सफर होगा महंगा, आज से देना होगा ज्यादा टोल टैक्स

समाजवादी पार्टी के सिंबल पर शिवपाल के चुनाव लड़ने पर उन्होंने कहा कि मेरी बात को अन्यथा ना लिया जाए..चप्पल और जूता पैर में ही पहना जाता है लेकिन हम जूता पहनकर बरसात में निकलते हैं तो हमारे पैर की सुरक्षा होती है, वहीं चप्पल साफ तो रहता है लेकिन पीछे से कीचड़ भी उछालता रहता है इसलिए ऐसा साथ नहीं होना चाहिए।

ये भी पढ़ें -: हिजाब विवाद पर बोले RSS नेता- ड्रेस कोड का पालन नहीं करने वाले छात्र छोड़ दें देश

ये भी पढ़ें -: कर्नाटक के पाठ्यक्रम से टीपू सुल्तान को हटाने की चर्चा हुई तो शिक्षा मंत्री ने दी ये सफाई…

ये भी पढ़ें -: श्रीलंका में तनाव : भीड़ ने की राष्ट्रपति निवास पर धावा बोलने की कोशिश, पुलिस ने चलाई गोलियां

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-