India

पथराव के बीच सिपाही मुस्तफा ने जान की परवाह किए बिना अकेले लिया मोर्चा

kanpur-stone-pelting-constable-mustafa-khan
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

नई सड़क पर बवाल के दौरान उपद्रवी अलग-अलग छोर से पथराव कर रहे थे। पुलिस बल एक तरफ उन्हें खदेड़ता तो दूसरी ओर से पथराव शुरू हो जाता। दोनों गलियों की दिशाएं अलग-अलग और दोनों के बीच की दूरी भी अधिक थी। ऐसी स्थिति में पुलिस बल चकरघिन्नी बना था।

करीब साढ़े तीन बजे के लगभग पेंचबाग वाली गली से बाहर निकले उपद्रवियों ने चंद्रेश्वर हाता की ओर पहुंच कर पथराव शुरू कर दिया। शोर सुनकर जीप लेकर उद्धघोषणा कर रहा चौकी की जीप चालक ने जान का जोखिम लेकर गाड़ी से उपद्रवियों को दौड़ा लिया। खदेड़ते हुए वह उन्हें गली के अंदर तक ले गया। इस दौरान उपद्रवियों ने पुलिस की गाड़ी पर भी पथराव किया।

ये भी पढ़ें -: रविशंकर प्रसाद का दावा- नरेंद्र मोदी ने तीन घंटे तक रुकवाया था रूस-यूक्रेन यु’द्ध औऱ…

नई सड़क पर अलग-अलग गलियों में लगातार घर की छतों और अंदर की गलियों ने पथराव किया जा रहा था। संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी पुलिस बल के साथ चंद्रेश्वर हाते में लाउड होल्डर लेकर घुसे थे। गली में काफी अंदर जाकर एक ट्रांसफार्मर के पास पुलिस बल रुका तो मुंह में कपड़ा बांधे उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव कर दिया।

इसके बावजूद पुलिस उन लोगों से घरों में जाने की अपील करती रही। मोहल्ले के कुछ बुजुर्गों के समझाने के बाद कुछ देर के लिए भीड़ पीछे हटी तो पुलिस बल नई सड़क पर निकल कर सड़क की दूसरी पट्टी में मस्जिद के आगे की गली में जा रही थी। इसी बीच पेंचबाग से निकले उपद्रवियों ने चंद्रेश्वर हाते की ओर पथराव कर दिया।

ये भी पढ़ें -: शोएब जमई बोले- मोहन भागवत या तो ‘मेकओवर’ कर रहे हैं या इनका हाल भी तोगड़िया जैसा हो गया है

इस पर जीप से भीड़ को घरों में अंदर जाने, खिड़की और दरवाजे बंद रखने की उद्घोषणा कर रहे सद्भावना चौकी की जीप के चालक मुस्तुफा खां कुछ ही दूरी पर थे।

उन्होंने चौराहे से गाड़ी दौड़ा दी और अकेले उपद्रवियों से मोर्चा लेते हुए उन्हें पेंचबाग की गली तक दौड़ाया। इस दौरान उपद्रवियों ने पुलिस जीप पर भी ईंट पत्थर चलाए। उसके बाद बैकअप फोर्स पहुंचा और अश्रु गैस के गोले चलाए जिसके बाद भीड़ भागी।

ये भी पढ़ें -: अविमुक्तेश्वरानंद ने त्यागा अन्न-जल, ज्ञानवापी मैं नही घुसने दिया गया

ये भी पढ़ें -: पत्रकार राजदेव रंजन म’र्डर केस मैं CBI ने जिस गवाह को मृत घोषित किया वो कोर्ट पहुंच बोली- हुजूर, मैं जिंदा हूं

सोर्स – jagran.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-