Politics

कोलकाता बैठक में जेपी नड्डा बोले- पश्चिम बंगाल चुनाव में भाजपा जीत गई होती लेकिन…

jp-nadda-said-bjp-would-have-won-elections-if-covid-not-affected
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के लोगों से संपर्क साधते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने बृहस्पतिवार को कहा कि पार्टी बंगाली गौरव को बनाए रखने के लिए अपनी लड़ाई जारी रखेगी और इसे (गौरव को) कम करने की कोशिश करने वालों को बेनकाब करेगी. नड्डा ने यहां एक बैठक को संबोधित करते हुए यह भी कहा कि यदि कोविड महामारी की दूसरी विनाशकारी लहर ने चुनाव प्रचार अभियान को प्रभावित नहीं किया होता तो भाजपा पिछले साल के विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में सत्ता में आ गई होती.

उन्होंने कहा, ‘‘हमें बंगाली गौरव को बनाए रखने और इसके लिए लड़ाई जारी रखने की जरूरत है. हमें बंगाली गौरव को कम करने की कोशिश करने वालों को बेनकाब करने की जरूरत है. नड्डा ने कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि अगली बार हम (राज्य में) सत्ता में आ जाएंगे और अपनी विजय रैली ब्रिगेड परेड ग्राउंड (कोलकाता में) करेंगे.

ये भी पढ़ें -: बिहार में सौहार्द है धर्मांतरण विरोधी क़ानून की कोई ज़रूरत नहीं : नीतीश कुमार

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘चुनाव प्रचार अभियान में जिस तरह की गति हमने पकड़ी थी, उससे स्पष्ट रूप से लग रहा था कि हम सत्ता में आएंगे. लेकिन, कोविड की दूसरी लहर के प्रकोप के कारण हमे चौथे चरण के मतदान के तुरंत बाद अपना प्रचार अभियान रोकने को मजबूर होना पड़ा. पिछले साल पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए आठ चरण में मतदान कराया गया था. जोरदार चुनाव प्रचार के बावजूद भाजपा राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को पराजित करने में विफल रही थी. 294 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा को 77 जबकि टीएमसी को 213 सीट पर जीत मिली थी.

वहीं, पड़ोसी राज्य बिहार के राजनीतिक परिदृश्य में बदलाव लाने के लिए भाजपा के संघर्ष का उल्लेख करते हुए नड्डा ने कहा कि किसी ने कभी सोचा नहीं था कि पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव जेल जाएंगे, लेकिन ‘‘यह हकीकत में तब्दील हुआ क्योंकि कानून ने अपना काम किया. उन्होंने कहा, ‘‘इसी तरह वह दिन दूर नहीं जब यहां (पश्चिम बंगाल) भी ऐसा ही कुछ होगा.

ये भी पढ़ें -: दिल्ली पुलिस ने नूपुर शर्मा, असदुद्दीन ओवैसी औऱ यति नरसिंहानंद के खिलाफ दर्ज की FIR, पढ़ें विस्तार से…

जैसे ही नड्डा ने अपना भाषण समाप्त किया, मेहमानों में से एक व्यक्ति ने उनसे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बात करने और सीबीआई द्वारा जांच किए जा रहे अपराधों में शामिल लोगों की सजा सुनिश्चित कराने का अनुरोध किया, जिस पर भाजपा अध्यक्ष ने जवाब दिया कि यह भी होगा.

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए तृणमूल कांग्रेस ने एक ट्वीट में सवाल किया कि नड्डा सजा के बारे में अभी से कैसे बात कर सकते हैं जबकि मौजूदा समय में मामलों की जांच जारी है. पार्टी ने आरोप लगाया कि इससे साबित होता है कि सीबीआई भाजपा के इशारे पर काम कर रही है. टीएमसी ने ट्वीट में कहा, ‘‘…क्या सीबीआई भाजपा के साथ मिलीभगत कर काम कर रही है? क्या सीबीआई नरेंद्र मोदी जी की महज एक कठपुतली है?

ये भी पढ़ें -: मजाक उड़ने के बाद कंगना रनौत ने डिलीट किए कतर एयरवेज के बॉयकॉट वाले पोस्‍ट

ये भी पढ़ें -: शाहरुख़, सलमान और आमिर पर बोले नसीरुद्दीन शाह- पता नहीं कैसे ये अपने जमीर को समझाते होंगे

सोर्स – ndtv.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-