Politics

जिग्नेश मेवाणी बोले- 30-35 मुकदमों से डर कर हार्दिक पटेल ने विचारधारा से किया समझौता

jignesh-mevani-targets-hardik-patel-after-quits-congress-party
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

गुजरात कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रहे हार्दिक पटेल ने पार्टी छोड़ने का ऐलान करते हुए कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर निशाना साधा था। हार्दिक पटेल के बयानों पर अब उनके आंदोलन के साथी जिग्नेश मेवाणी ने पलटवार किया है। जिग्नेश मेवाणी ने कहा, “मैं डंके की चोट पर कहता हूं कि मैं कांग्रेस पार्टी के साथ हूं। उन्होंने कहा कि हार्दिक पटेल ने पार्टी छोड़ी, लेकिन मर्यादा का ख्याल नहीं रखा। जिग्नेश ने कहा कि अपने ऊपर चल रहे 30-35 मुकदमों से डर कर हार्दिक पटेल ने अपनी विचारधारा से समझौता किया है।

कांग्रेस पार्टी ने हार्दिक पटेल को गुजरात कांग्रेस पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया। जिसने चुनाव प्रचार के दौरान हेलिकॉप्टर मुहैया कराया। स्टार प्रचारक बनाया। कांग्रेस की टॉप लीडरशिप के साथ उनकी बातचीत थी। इन सबके बावजूद आप कांग्रेस पार्टी छोड़कर राहुल गांधी के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं। जिसने आपको इतना प्यार दिया।

ये भी पढ़ें -: MNS चीफ राज ठाकरे का अयोध्या दौरा कैंसल, हो रहा था विरोध

जिग्नेश ने कहा कि राहुल गांधी देश के सभी युवाओं को साथ लेकर चलना चाहते हैं, बेरोजगारी के मुद्दे पर कुछ करना चाहते हैं, कम से कम ऐसे व्यक्ति के खिलाफ हार्दिक पटेल को इस तरह की बयानबाजी नहीं करनी चाहिए थी। जिग्नेश ने कहा कि आज भी मैंने कांग्रेस पार्टी की प्राइमरी मेंबरशिप नहीं ली, लेकिन फिर भी जब असम की सरकार ने पीएमओ के कहने पर मुझे टारगेट किया था, तब कांग्रेस पार्टी डंके की चोट पर मेरे साथ खड़ी रही।

हार्दिक के कांग्रेस पार्टी छोड़ने और शीर्ष नेतृत्व पर आरोप लगाने पर जिग्नेश ने कहा कि हार्दिक मेरे आंदोलन का साथी था। उससे यह उम्मीद नहीं थी। उन्होंने कहा कि हार्दिक पटेल को कांग्रेस पार्टी में कोई भी दिक्कत थी तो शालीन तरीके से अल्पेश ठाकुर या दूसरे नेताओं की तरह छोड़कर जा सकते थे। उनको इस तरह की अनर्गल बयानबाजी नहीं करनी थी। उन्होंने कहा कि हार्दिक पटेल ने गाली-गलौच करके पार्टी के कार्यकर्ताओं का मनोबल तोड़ने की कोशिश की, उससे हमारा मनोबल टूटेगा नहीं।

ये भी पढ़ें -: भगवान शिव कैलाश पर विराजमान हैं जहां चीन का कब्जा और ‘भक्त’ उन्हें ताजमहल के नीचे ढूंढ़ रहे हैं: शिवसेना का तंज

जिग्नेश ने कहा कि मैं फिर से डंके की चोट पर कहता हूं कि मैं कांग्रेस के साथ हूं, गुजरात और पूरे मुल्क में लाखों लोगों को कांग्रेस पार्टी में जोड़ने की कोशिश करूंगा। बेरोजगारी, महंगाई और देश में जो समस्या है। उसके खिलाफ हम राहुल गांधी के नेतृत्व में सड़कों पर उतरेंगे।

कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को लिखे पत्र में हार्दिक पटेल ने पार्टी छोड़ने की वजह गिनाई थीं। अपने पत्र में हार्दिक ने शीर्ष नेतृत्व से किसी भी मुद्दे को गंभीरता से न लेने की बात भी कही थी। हार्दिक की नाराजगी इस बात को लेकर थी कि वह पिछले दो साल से कांग्रेस की गुजरात इकाई के कार्यकारी अध्यक्ष हैं, लेकिन कोई जिम्मेदारी नहीं सौंपी गई। पिछले दिनों उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था, दो साल से आपने वर्किंग प्रेजिडेंट बना रखा है, कोई जिम्मेदारी क्यों नहीं दी गई। पद देना कोई बड़ी बात नहीं होती, उस पद के बाद उपयोग करना, काम देना, उस काम में मैं सफल हूं या असफल यह देखना। वो आपकी जिम्मेदारी होती है। जो आज तक नहीं हुआ बस इसी का दुख है।

ये भी पढ़ें -: मैथ्यू वेड को ड्रेसिंग रूम में हेलमेट और बल्ला फेंकना पड़ा भारी, IPL ने उठाया बड़ा कदम

ये भी पढ़ें -: गुजरात के खिलाफ चमके विराट कोहली तो वाइफ अनुष्का शर्मा ने कह दी ये बात…, पढ़ें विस्तार से

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-