Politics

जावेद अख्तर ने कंगना रनौत के खिलाफ की गैर जमानती वॉरंट की मांग, जानें पूरा मामला…

javed-akhtar-seeks-non-bailable-warrant-against-kangana-ranaut-in-defamation-case
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

बॉलिवुड के जाने-माने स्क्रिप्ट राइटर और गीतकार जावेद अख्तर ने ऐक्ट्रेस कंगना रनौत के खिलाफ किए अपने मानहानि के मुकदमे में गैर जमानती वॉरंट इशू किए जाने की मांग की है। जावेद अख्तर के वकील जय भारद्वाज ने एक ने कोर्ट में एक ऐप्लिकेशन दाखिल करते हुए कहा है कि कंगना रनौत इस साल मार्च से अभी तक कई बार कोई न कोई कारण बता पेशी से छूट मांगती रही हैं।

कंगना रनौत पिछली बार 20 सितंबर को इस केस की सुनवाई में अंधेरी के मेट्रोपॉलिटन मैजिस्ट्रेट आरआर खान के कोर्ट में पेश हुई थीं। अपनी ऐप्लिकेशन में भारद्वाज ने कहा, ‘आरोपी के व्यवहार से ऐसा साफ नजर आ रहा है कि वह कोर्ट की कार्रवाई में देरी करने के लिए हर हथकंडा अपना रही हैं।’ इस ऐप्लिकेशन में यह भी दावा किया गया है कि कंगना ने कोर्ट के सामने ‘झूठे और गलत’ बयान दिए हैं।जावेद अख्तर की ऐप्लिकेशन के मुताबिक, केस की पिछली सुनवाई 21 अक्टूबर को हुई थी तब कंगना ने दावा किया था कि उन्हें तेज बुखार और बदन दर्द है जिसके कारण वह कोर्ट में पेश नहीं हो सकतीं।

यह भी पढ़ें -: पूर्व जस्टिस गोगोई के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव, जानें पूरा मामला…

ऐप्लिकेशन में कहा गया है कि कंगना ने अपने बीमार होने के दावा किया था मगर उनके इंस्टाग्राम हैंडल के 15 नवंबर के अपडेट्स से पता चलता है कि वह अपनी अगली फिल्म की शूटिंग में व्यस्त थीं। इससे पहले कंगना रनौत के वकील ने कहा था कि वह चीफ मेट्रोपॉलिटन मैजिस्ट्रेट के उस फैसले को चैलेंज करेंगे जिसमें उनके केस को ट्रांसफर किए जाने की याचिका को खारिज कर दिया गया था। जावेद की ऐप्लिकेशन में यह भी कहा गया है कि कंगना ने अभी तक मैजिस्ट्रेट के फैसले के खिलाफ कोई भी याचिका दाखिल नहीं की है।

ऐप्लिकेशन में कहा गया है कि यह साबित करता है कि कंगना रनौत जान-बूझकर केस की सुनवाई में देरी कर रही हैं जिससे शिकायतकर्ता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जावेद अख्तर की इस ऐप्लिकेशन पर कोर्ट ने कंगना रनौत के वकील से 4 जनवरी को अपना जवाब दाखिल करने का आदेश दिया है।

यह भी पढ़ें -: राकेश टिकैत बोले- कैराना पलायन सरकारी प्लान है, इसके बहकावे में मत आना

कोर्ट ने कंगना के वकील को यह भी आदेश दिया है कि वह यह सुनिश्चित करें कि अगली सुनवाई में कंगना रनौत कोर्ट में हाजिर रहें।बता दें कि कंगना रनौत के खिलाफ जावेद अख्तर ने नवंबर 2020 में मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया था।

यह केस कंगना के उन बयानों के बाद दर्ज कराया गया था जो उन्होंने एक टीवी इंटरव्यू के दौरान दिए थे। कंगना ने बॉलिवुड ऐक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद दिए इंटरव्यू में आरोप लगाया था कि जावेद अख्तर फिल्म इंडस्ट्री में गुटबाजी करते हैं और नेपोटिजम को बढ़ावा देते हैं।

यह भी पढ़ें -: जांच अधिकारी ने की आशीष मिश्रा के खिलाफ धाराएं बढ़ाने की अर्जी- लखीमपुर की घटना हादसा नहीं साजिश थी

यह भी पढ़ें -: श्रीनगर आतंकी हमला: बुलेट प्रूफ नहीं थी जवानों की बस, पास में नहीं थे हथियार

सोर्स – navbharattimes.indiatimes.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-