Politics

मनोहर लाल खट्टर के खुले में नमाज वाले बयान पर उमर अब्दुल्ला का पलटवार, कही ये बात…

jammu-kashmir-omar-abdullah-on-haryana-cm-manohar-lal-khattar-namaz-remark
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Jammu Kashmir Leader Omar Abdullah On CM Khattar: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के खुले में नमाज़ को लेकर दिए बयान पर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि अगर ये रोक हर धर्म पर होती तो ये ठीक होता, लेकिन चुनने और छांटने की पॉलिसी दिखाती है कि एक खास धर्म निशाने पर है. उन्होंने कहा कि जम्मू और कश्मीर इस भारत में शामिल नहीं होगा.

हरियाणा के गुरुग्राम में कई हफ्तों से खुले में होने वाली जुमे की नमाज़ का विरोध हो रहा है. इस बीच बीते रोज़ सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि खुले में नमाज पढ़ने की प्रथा को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. सीएम खट्टर ने कहा कि जिला प्रशासन के खुले स्थानों पर नमाज के लिए कुछ स्थानों को आरक्षित करने का पूर्व निर्णय वापस ले लिया गया है और राज्य सरकार अब इस मुद्दे का सौहार्दपूर्ण समाधान निकालेगी.

यह भी पढ़ें -: सऊदी अरब सरकार ने तबलीगी जमात पर की बड़ी कार्रवाई, जानें विस्तार से…

मुख्यमंत्री ने गुरुग्राम में खुले स्थानों पर नमाज अदा करने पर कई दक्षिणपंथी संगठनों द्वारा उठाई गई आपत्तियों को लेकर एक सवाल के जवाब में गुरुग्राम में कहा, ‘‘यहां (गुरुग्राम) खुले में नमाज पढ़ने की प्रथा बर्दाश्त नहीं की जाएगी…लेकिन हम सौहार्दपूर्ण समाधान निकालेंगे.

खट्टर ने कहा, ‘‘सभी को (प्रार्थना करने के लिए) सुविधा मिलनी चाहिए लेकिन किसी को भी दूसरों के अधिकारों का उल्लंघन नहीं करना चाहिए. इसकी अनुमति नहीं दी जाएगी.” खुले स्थानों पर नमाज के लिए कुछ स्थान निर्धारित करने के जिला प्रशासन के फैसले को वापस लेने पर उन्होंने कहा, “हमने पुलिस और उपायुक्त से कहा है कि इस मुद्दे को सुलझाया जाए…अगर कोई नमाज अदा करता है, किसी के स्थान पर पाठ करता है तो हम उस पर कोई आपत्ति नहीं है.

यह भी पढ़ें -: PM मोदी का Twitter अकाउंट हैक, बिटकॉइन को लेकर किया ये ट्वीट…

उन्होंने कहा, ‘‘धार्मिक स्थल इसी मकसद से बनाए जाते हैं कि लोग वहां जाएं और पूजा-अर्चना करें. इस तरह के कार्यक्रम खुले में नहीं होने चाहिए.’’ खट्टर ने कहा, ‘‘खुली जगहों पर नमाज पढ़कर टकराव से बचना चाहिए. हम (दो पक्षों के बीच) टकराव की भी इजाजत नहीं देंगे.’’ पिछले कुछ महीनों में, कुछ हिंदू संगठनों के सदस्य उन जगहों पर इकट्ठा हो जाते हैं जहां मुस्लिम समुदाय के लोग खुले स्थान पर नमाज अदा करते हैं और भारत माता की जय और जय श्री राम के नारे लगाते हैं. हालांकि पिछले कुछ हफ्तों से इजाज़त वाली जगहों पर पुलिस की सुरक्षा में नमाज़ हो रही है.

यह भी पढ़ें -: बिहार में श्रम अधिकारी दीपक शर्मा के घर रेड, मिले नोटों के बंडल ही बंडल

यह भी पढ़ें -: बेटी बचाओ अभियान का 79% फंड विज्ञापन पर खर्च- सिर्फ प्रचार से पढ़ेंगी और बढ़ेंगी बेटियां?

सोर्स – abplive.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-