Politics

कश्मीरी पंडितों का ऐलान- आज से करेंगे सामूहिक पलायन

jammu-and-kashmir-target-killing-kashmiri-pandit-terrorism
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Kashmiri Pandit Target Killing: कश्मीर में लगातार टारगेट किलिंग की घटनाएं हो रही हैं. इन घटनाओं ने वहां रह रहे हिंदुओं को डरा दिया है. गुरुवार को आतंकियों ने एक हिंदू बैंक मैनेजर को गोलियों से भून दिया. इन घटनाओं के बाद अब कश्मीरी पंडितों ने घाटी से सामूहिक पलायन करने का ऐलान किया है. आज (3 जून) से कश्मीरी पंडित घाटी से एक साथ पलायन करेंगे.

गुरुवार को बैंक मैनेजर विजय कुमार की हत्या के बाद कश्मीरी पंडितों ने आपात बैठक बुलाई. इस बैठक में कई अहम फैसले लिए गए. कश्मीरी पंडितों ने तय किया है कि घाटी से जिन-जिन इलाकों में कश्मीरी पंडित प्रदर्शन कर रहे थे. उसे तत्काल बंद किया जाएगा. बैठक में कहा गया कि अब कश्मीर में रह रहे अल्पसंख्यकों के सामने कोई और विकल्प नहीं बचा है. इसलिए उन्हें पलायन करना होगा. बैठक में सभी लोगों से बनिहाल की नवयुग सुरंग के पास इकट्ठा होने के लिए कहा गया है.

ये भी पढ़ें -: सिद्धू मूसेवाला मर्डर केस में एक और गैंगस्टर आया सामने, कहा- हत्यारों का पता बताने वाले को…

कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षा कैंप में रह रहे प्रदर्शनकारी रंजन जुत्शी ने बताया कि पिछले 22 दिनों से सभी प्रदर्शन कर रहे हैं. हमारी मांग है कि हमें यहां से सुरक्षित निकाला जाए. आज विजय कुमार की और परसों रजनी बाला की निर्मम हत्या कर दी गई. जिस दिन राहुल भट्ट की हत्या हुई थी, हमने उस दिन ही कहा था कि हमें यहां से सुरक्षित निकाला जाए. जिस तरह 1990 में हमारा पलायन हुआ था. अब सभी उस तरह ही पलायन कर रहे हैं. करीब 3000 कर्मचारी पहले ही जम्मू पहुंच चुके हैं. मट्टन इलाके से 20 गाड़ियों में लोग गए हैं.

बता दें कि गृहमंत्री अमित शाह आज उप राज्यपाल मनोज सिन्हा के साथ हाई-लेवल मीटिंग करने वाले हैं. दोपहर के समय होने वाली इस बैठक में भी NSA डोभाल मौजूद रहेंगे. इसके अलावा मीटिंग में जम्मू-कश्मीर के डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (Director General of Police) दिलबाग सिंह, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के महानिदेशक कुलदीप सिंह और सीमा सुरक्षा बल के प्रमुख पंकज सिंह भी मौजूद रहेंगे.

ये भी पढ़ें -: 50 साल पुराने घर पर चला बुलडोजर, बोला- हमने योगी जी को वोट दिया, फिर भी मकान तोड़ दिया

2 जून को आतंकियों ने कुलगाम में एक बैंक मैनेजर पर फायरिंग की. इस हमले में बैंक मैनेजर विजय कुमार की मौत हो गई. वह हनुमानगढ़ राजस्थान के रहने वाले थे. विजय कुमार कुलगाम के मोहनपोरा में देहाती बैंक मे तैनात थे. आतंकियों ने उस पर फायरिंग कर दी. इसके बाद उनकी मौत हो गई. सुरक्षाबलों ने इलाके को घेरकर सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है. विजय कुमार के पिता ने बताया कि वह ट्रांसफर के लिए बैंक पीओ की तैयारी कर रहे थे, ताकि उसमें पास होकर ब्रांच मैनेजर बन सकें, लेकिन भगवान की कुछ और ही मंजूर था.

31 मई को कुलगाम में आतंकियों ने महिला टीचर रजनीबाला की गोली मारकर हत्या कर दी थी. वह सांबा की रहने वाली थीं. उनकी हत्या कुलगाम के गोपालपोरा में की गई थी. रजनी गोपालपोरा हाई स्कूल में टीचर थीं. फायरिंग के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया था. इलाज के दौरान उनकी मौत हुई थी.

12 मई को जम्मू कश्मीर के बडगाम में आतंकियों ने राजस्व विभाग के एक अधिकारी को गोली मारी. तहसील ऑफिस में घुसकर आतंकियों ने राहुल भट्ट नाम के अधिकारी को निशाना बनाया. राहुल की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. कश्मीरी पंडित राहुल लंबे समय से राजस्व विभाग में काम कर रहे थे.

ये भी पढ़ें -: सिद्धू मूसेवाला की हत्या मामले में बड़ा खुलासा- जेल में बंद गैंगस्टर मनप्रीत मुन्ना से जुड़ रहे हैं तार

ये भी पढ़ें -: UP CM के फिल्म ‘सम्राट पृथ्वीराज’ देखने पर अखिलेश बोले – इतिहास के आटे से…

सोर्स – aajtak.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-