Entertainment

फ्रीडम फाइटर समिति की अध्यक्ष बोली- आजादी न होती तो कंगना उठाती अंग्रेजों के घोड़ों की लीद

if-there-was-no-freedom-kangana-would-have-taken-the-lead-of-the-british-horses-the-anger-of-prem-devi
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Prem Devi On Kangana Ranaut : ऑल इंडिया फ्रीडम फाइटर समिति की हिमाचल इकाई की अध्यक्ष प्रेम देवी शास्त्री ने कंगना रणौत (Prem Devi On Kangana Ranaut) पर तीखी टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि कंगना रणौत भूल गई है कि अगर देश आजाद नहीं हुआ होता तो वो भी आज शिमला के रिज मैदान पर अंग्रेजों के घोड़ों की लीद उठा रही होती। साथ ही मेमों की कुर्सी उठाकर घूम रही होती।

उन्होंने कंगना से सवाल किया कि अगर आजादी 2014 में मिली है तो बताओ 1947 में क्या मिला था। वो भीख, किस पात्र में मिली थी। पात्र थाली थी या भीख का कटोरा। प्रेम देवी ने कहा कि उन्हें स्वतंत्रता सेनानियों के परिवारों से लगातार फोन आ रहे है। वो अभिनेत्री की कारगुजारी से बेहद आहत है। उन्होंने कहा कि वो उस क्रांतिकारी परिवार से ताल्लुक रखती है, जिसने अंग्रेजों के राज में लगान नहीं दिया। साथ ही आम जन मानस को स्वाधीनता के प्रति जागरूक किया था। अगर क्रांतिकारी देश भर में प्राण न्यौछावर कर भारत माता को गुलामी की बेड़ियों से आजाद नहीं करवाते तो हालत क्या होती, ये हर कोई बखूबी समझ सकता है।

यह भी पढ़ें -: नवाब मलिक ने व्हाट्सएप चैट शेयर करके समीर वानखेड़े से पूछा- काशिफ के साथ उनका क्या रिश्ता?

प्रेम देवी शास्त्री ने सरकार से कंगना के खिलाफ मामला दर्ज करने की अपील करते हुए कहा कि वो कंगना को 7 दिनों के भीतर सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने की चेतावनी दे रही है। उन्होंने कंगना के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की भी मांग की है। उन्होंने कंगना के बयान को देशद्रोही व भड़काऊ करार दिया है। उन्होंने कहा कि कंगना ने उन वीर सपूतों का अपमान किया है, जिन्होंने भारत को आजाद करवाने के लिए अपने प्राणों को हंसते-हंसते न्यौछावर कर दिया था। उन्होंने ये भी स्पष्ट किया कि अगर भारत सरकार 7 दिन के भीतर कंगना के खिलाफ देशद्रोह का आपराधिक मामला दर्ज नहीं करवाती है तो वो खुद न्यायालय में याचिका दायर करेंगी।

यह भी पढ़ें -: सुब्रमण्यम स्वामी बोले- मोदी सरकार को चीन से अपमानित होने में मजा आता है या इसकी आदत पड़ गई है?

यह भी पढ़ें -: हार्दिक पंड्या ने 5 करोड़ रुपए कीमत वाली घड़ियां जब्त करने की खबरों को लेकर चुप्पी तोड़ी, कही ये बात…

बता दें कि कंगना रणौत मूलतः हिमाचल की ही रहने वाली हैं। पैतृक प्रदेश में कंगना के विवादित बयानों पर उसे सहानुभूति मिल जाती थी, लेकिन इस बयान पर अपना प्रदेश भी कंगना के खिलाफ है। गृह जिला मंडी में भी कंगना के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं, साथ ही मनाली में भी कंगना का पुतला फूंका गया। कोविड काल के दौरान कंगना ने अधिकतर समय अपने मनाली के घर में ही बिताया था।

यह भी पढ़ें -: सड़क किनारे नॉन-वेज बेचने वाले ठेलों पर बैन? CM पटेल बोले- लोग क्या खाते हैं उससे सरकार को मतलब नहीं

यह भी पढ़ें -: कंगना के बयान समर्थन करने वाले एक्टर पर स्वरा भास्कर का तंज- पद्म पुरस्कार आता ही होगा

सोर्स – mbmnewsnetwork.com.  Prem Devi On Kangana Ranaut


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-