पिता की आखिरी इच्छा पूरी करने के लिए हिंदू बहनों ने ईदगाह कमेटी को दान कर दी 1.5 करोड़ की जमीन

पिता की आखिरी इच्छा पूरी करने के लिए हिंदू बहनों ने ईदगाह कमेटी को दान कर दी 1.5 करोड़ की जमीन
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

उत्तराखंड के उधम सिंह नगर के काशीपुर में दो बहनों ने धार्मिक एकता की मिसाल पेश की है। दरअसल, दोनों बहनों ने अपने पिता की आखिरी इच्छा पूरी करने के लिए 1.5 करोड़ की जमीन ईदगाह कमेटी को दान में दे दी है। सरोज रस्तोगी और अनीता रस्तोगी के इस फैसले की मुस्लिम समुदाय के लोग खूब तारीफ कर रहे हैं। साथ ही ईद के मौके पर ईदगाह में सभी ने दोनों बहनों के स्वर्गवासी पिता की आत्मा की शांति के लिए दुआ भी मांगी।

सरोज और अनीता अपने परिवार के साथ दिल्ली और मेरठ में रहती हैं। हाल ही में दोनों को रिश्तेदारों से पता चला कि उनके पिता बृजनंदन प्रसाद रस्तोगी ईदगाह के पास वाली जमीन को दान में देना चाहते थे, जिससे ईदगाह का विस्तार हो सके, लेकिन 2003 में उनके अचानक निधन से परिवार को बृजनंदन की आखिरी इच्छा का पता नहीं चला और बात ठंडे बस्ते में चली गई।

ये भी पढ़ें -: महंत के बिगड़े बोल- मस्जिद में घुसकर मौलवी को मारूंगा, केस हुवा दर्ज

मगर जैसे ही पिता की आखिरी इच्छा के बारे में दोनों बहनों को पता चला, तो उन्होंने काशीपुर में ही रहने वाले अपने भाई राकेश रस्तोगी से जमीन दान करने की बात कही। राकेश ने भी पिता की इच्छा का सम्मान करते हए जमीन दान करने के लिए हामी भर दी। बस फिर क्या था, दोनों बहनों ने कानूनी कार्रवाई को पूरा करके जमीन दान कर दी।

hindu-sisters-donated-land-worth-15-crores-to-idgah-committee-said-respected-fathers-last-wish

ये भी पढ़ें -: पति बार-बार देता था पत्नी को ताना, पत्नी ने गुस्से मैं काट दी जीभ

ईदगाह कमेटी के सदस्य हसीन खान दोनों बहनों की तारीफ करते हुए कहते हैं, ‘सरोज रस्तोगी और अनीता रस्तोगी दोनों हमारी बहनें हैं। ईदगाह के विस्तार के लिए चार बीघा जमीन दान की गई है।

इस जमीन की बाउंड्री ईदगाह के पश्चिम वाले रास्ते तक जाती है। मैं पूरी कौम की तरफ से उनका तहे दिल से शुक्रिया करता हूं। उम्मीद करता हूं कि आगे भी सभी धर्मों के लोग एक-दूसरे के सुख-दुख में साथ देंगे।

ये भी पढ़ें -: जिग्नेश मेवानी और रेशमा पटेल को 3 महीने जेल औऱ 1 हज़ार का जुर्माना, जानें क्या था मामला…

ये भी पढ़ें -: मदरसे पर चला बुलडोजर, प्रिंसिपल बोले- जमीन हमारी निजी, जानबूझकर की गई कार्रवाई

ये भी पढ़ें -: मुरझाया चेहरा, आंखें बंद और हाथ जोड़ प्रणाम-  जेल से निकलते वक्त कुछ ऐसी दिखीं नवनीत राणा

सोर्स – bhaskar.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-