India UpdateMarts

MP के स्कूलों में हिजाब पर लगेगा बैन, स्कूल शिक्षा मंत्री ने कही ये बात…

Inder Singh Parmar Hijab Banned In MP School Education Minister
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Hijab Banned In MP School Education Minister : मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने हिजाब को लेकर बड़ा बयान दिया है। कर्नाटक के स्कूलों में हिजाब को लेकर चल रहे विवाद के बीच स्कूल शिक्षा मंत्री परमार ने मंगलवार को कहा कि हिजाब यूनिफार्म का हिस्सा नहीं है। यदि प्रदेश में ऐसा कहीं हो रहा होगा तो इस पर पाबंदी लगाई जाएगी।

स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा कि देश में योजनाबद्ध तरीके से शिक्षा को गलत तरीके से पेश करने की कोशिश की जा रही है। भारत की मान्यता है कि जिस परंपरा में लोग निवास करते हैं। उसका पालन अपने घराें तक करें। स्कूलों में ड्रेस कोड का पालन करना चाहिए। मंत्री ने कहा कि देश और कर्नाटक में जान-बूझकर माहौल खराब करने की कोशिश की जा रही है।

यह भी पढ़ें -: राकेश टिकैत का BJP पर तंज- झूठ बोलने में ये गोल्ड मेडल जीत गए, देगा कौन ये नहीं पता…

उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग आगामी सत्र से विद्यालयों में बच्चों के लिए ड्रेस कोड पर काम कर रहा है। सभी विद्यार्थियों में समानता का भाव रहे, अनुशासन रहे और विद्यालय की एक अलग पहचान बनें। आने वाले दिनों में जिस स्कूल ने अपना जो यूनिफार्म तय किया है, उसे लागू करेंगे। बेटे और बेटियां ड्रेस कोड में ही स्कूल आएं, तभी अनुशासन बेहतर हो सकता है। प्रदेश में अगले सत्र से ही हम गणवेश की सभी सूचनाएं प्रेषित करेंगे। ताकि समय पर विद्यार्थी अपने गणवेश तैयार करा सकें।

उधर, शिक्षा मंत्री के इस बयान के बाद भोपाल के कांग्रेस नेता आरिफ मसूद की प्रतिक्रिया आई है। उन्होंने कहा कि इंदर सिंह परमार का बयान अफसोसजनक है। उन्होंने कहा कि बेटियां कवर्ड अच्छी लगती हैं। मैं अपनी बेटी को अच्छे वस्त्र पहनाना चाहता हूं, लेकिन चाहता हूं कि उसका जिस्म बाहर न दिखे। मैं जैसे अपनी बेटी के लिए सोचता हूं, वैसा ही इंदर सिंह परमार को भी दूसरों की बेटियों के लिए ऐसा सोचना चाहिए।

यह भी पढ़ें -: राम रहीम की फरलो पर एसजीपीसी ने कहा- पंजाब का माहौल बिगाड़ना चाहती है BJP

शिक्षा के क्षेत्र की जो वो बात कर रहे हैं, तो हिजाब से 70 साल में शिक्षा के जगत में कहीं कोई वातावरण खराब नहीं हुआ, बल्कि अच्छा हुआ। एक दौर ऐसा आया कि सबको मास्क लगाना पड़ा। जब मालिक की मार पड़ी तो पूरा देश मास्क लगा रहा है। तो मेहरबानी करके छेड़छाड़ न करें और बच्चियों को बच्चियों के सम्मान के साथ रहने दें। सरकार शिक्षा के क्षेत्र में क्वालिटी लाने की बात करे। मसूद ने कहा कि इंदर सिंह परमार सरकारी स्कूल तो जाकर देख लें। गांव – देहात नहीं, शहर के अंदर के स्कूल देख लें कि उनका क्या हाल है। मसूद ने कहा कि मध्यप्रदेश में किसी हाल में इस तरह की चीजों को नहीं चलने दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें -: लोकतंत्र मर चुका, जम्मू-कश्मीर में किसी को अपने दिल की बात कहने की इजाजत नहीं: महबूबा मुफ्ती

यह भी पढ़ें -: कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कितने शव गंगा नदी में बहाए गए थे? सरकार ने संसद मैं दिया ये जवाब…

सोर्स – amarujala.com. Hijab Banned In MP School Education Minister


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-