Politics

उद्धव ठाकरे बोले- हनुमान चालीसा पढ़ना है तो घर पर आकर पढ़िए, दादागीरी करेंगे तो तोड़ना आता है…

hanuman-chalisa-row-cm-uddhav-thackeray-statement-bjp
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा पर छिड़ा विवाद शांत होता नहीं दिख रहा है. बीजेपी के तीखे तेवर के बाद अब सूबे के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कड़ी नसीहत दी है. उन्होंने कहा है कि हनुमान चालीसा पढ़नी है तो घर पर आकर पढ़िए. इसका एक तरीका होता है, लेकिन दादागीरी करके मत आइए. अगर ऐसा करेंगे तो बाला साहब ने सिखाया है कि दादागीरी कैसे तोड़नी है.

सीएम उद्धव ने कहा कि हम घंटाधारी हिंदुत्व नहीं, गदाधारी हिंदुत्व का पालन करते हैं. मै जल्द ही एक रैली करूंगा, जहां सबका समाचार लिया जाएगा. ये कमजोर हिंदुत्ववादी आए है. ये नकली नए हिंदुत्ववादी हैं. इनके बीच स्पर्धा चल रही है कि इसकी कमीज मुझसे ज्यादा भगवी कैसे? कुछ लोगों के पेट मे एसिडिटी हो गई है. उन्हें कोई काम नहीं है. बिना काम के भोंगे बजाना ही उनका काम है. मैं उन्हें अहमियत नहीं देता.

ये भी पढ़ें -: सुप्रीम कोर्ट मैं ज़मानत याचिका खारिज होने पर आशीष मिश्र ने किया सरेंडर, फिर भेजा गया जेल

बता दें कि निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा ने शुक्रवार को उद्धव ठाकरे के घर ‘मातोश्री’ के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान किया था. राणा दंपति के इस ऐलान के बाद सुबह से ही उनके घर के बाहर शिवसैनिक भारी संख्या में जुट गए थे. शिवसैनिकों ने राणा दंपति पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया. पुलिस में दर्ज करवाई गई शिकायत में शिवसैनिकों ने कहा उनके लिए मातोश्री मंदिर की तरह है. राणा दंपति ने उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचाई है.

सीएम उद्धव ने कहा कि ये कैसे हिंदुत्ववादी हैं, जो बाबरी के वक्त बिल में छुप गए थे. राम मंदिर का फैसला अदालत ने किया है और उसके लिए भी लोगों के सामने झोली फैलाई है. अब शिवसेना दिखाएगी भीमरूप और महारुद्र क्या होता है?

ये भी पढ़ें -: हार्दिक पटेल की BJP मैं जाने की अटकलें तेज, पढ़ें विस्तार से…

इस मामले में गिरफ्तार अमरावती की सांसद नवनीत राणा को बॉम्बे हाईकोर्ट से भी राहत नहीं मिली है. हाईकोर्ट ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की याचिका खारिज करते हुए उन्हें फटकार भी लगाई. अदालत ने कहा कि सार्वजनिक जीवन वालों की जिम्मेदारी ज्यादा है. वहीं, नवनीत राणा के वकील ने अब सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कही है.

इस विवाद को लेकर सोमवार को बीजेपी का प्रतिनिधमंडल दिल्ली पहुंचा. बीजेपी के इस दल में किरीट सोमैया भी शामिल रहे. डेलीगेशन ने गृह सचिव से मुलाकात की है. बता दें कि किरीट सोमैया पर खार पुलिस थाने पर हमला हुआ था. इसे लेकर बीजेपी ने सवाल उठाया था. दिल्ली पहुंचने के बाद बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने कहा कि मुंबई पुलिस कमिश्रर के इशारे पर मुझ पर FIR दर्ज की गई है. उन्होंने कहा कि शिवसेना का प्रवक्ता धमकी देता है.

ये भी पढ़ें -: छेड़खानी की शिकायत करने वाली लड़की को ही पुलिस ने लॉकअप में किया बंद, माँ ने लगाए ये आरोप

ये भी पढ़ें -: एक मामले में बेल मिलते ही दूसरे मामले में अरेस्ट हुवे जिग्नेश मेवानी, जानें पूरा मामला…

सोर्स – aajtak.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-