India

गुड़गांव में खुले में हुआ नमाज का विरोध तो गुरुद्वारे ने जगह देने की पेशकश की, हिंदू यवक ने भी दी दुकान

Gurugram Namaz Controversy-sikh-community-opened-the-gurdwara-for-namaz-in-gurugram
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Gurugram Namaz Controversy : पिछले कुछ समय से कई शहरों या जगहों पर खुले में हर शुक्रवार को जुमे की नमाज पढ़ने का लगातार विरोध हो रहा है. हरियाणा के गुरुग्राम में भी इस पर विवाद जारी है और कई जगहों पर खुले में नमाज पढ़ने को लेकर विरोध हो रहा है या रोक लगा दी गई है.इस बीच सिख समुदाय की ओर से भाईचारे की मिसाल पेश करते हुए गुरुग्राम का सदर बाजार गुरुद्वारा नमाजियों के लिए खोल दिया गया है.

हेमकुंट फाउंडेशन से जुड़े हरतीरथ सिंह ने ट्वीट किया ” सदर बाजार गुरुद्वारा अब मुस्लिम भाइयों के लिए खोल दिया गया है. शहर में हालियों घटनाओं को देखते हुए वे यहां हर दिन नमाज पढ़ सकते हैं. दूसरी तरफ गुरुग्राम की गुरुद्वारा सिंह सभा कमिटी ने कहा है कि अगर मुस्लिम समाज चाहे, तो वे शहर के गुरुद्वारों में आकर नमाज अदा कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें -: महिला SHO ने 10 लाख लेकर तस्कर छोड़ा, रिश्वत लेने और बस में बिठाकर भगाने तक के फुटेज मिले 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड

गुरुग्राम गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी के प्रमुख शेरदिल सिद्धू ने इसे लेकर मुफ्ती सलीम को सदर बाजार का गुरुद्वारा दिखाया है. शुक्रवार को इस गुरुद्वारे में गुरुवाणी के साथ नमाज भी पढ़ी जाएगी. उन्होंने कहा कि अगर इस शुक्रवार को ऐसा कोई विरोध होता है तो मुस्लिम समुदाय के लोग गुरुद्वारे में आकर नमाज पढ़ सकते हैं. इस कमिटी के अंतर्गत 5 गुरुद्वारे सदर बाजार सब्जी मंडी, सेक्टर 39, सेक्टर 46, जैकबपुरा और मॉडल टाउन आते हैं.

इससे पहले गुरुग्राम के सेक्टर 12-A में अक्षय नाम के एक हिंदू युवक ने भी अपनी खाली दुकान नमाज के लिए दे दी है. अक्षय की मैकेनिक मार्केट में कई दुकानें हैं. इनमें से एक दुकान को उन्होंने मुस्लिम समुदाय को नमाज पढ़ने के लिए दे दिया है. वहीं, इस मामले पर गुरुग्राम के मुफ्ती सलीम ने कहा कि, “मैं बहुत खुश हूं कि लोग अपनी जगह की पेशकश कर रहे हैं. बस कुछ लोग हैं जो माहौल खराब करने में लगे हैं.

यह भी पढ़ें -: सपना चौधरी के खिलाफ लखनऊ कोर्ट ने जारी किया अरेस्ट वारंट, जानें पूरा मामला…

आपको बता दें कि गुरुग्राम के सेक्टर-12 A में शुक्रवार को खुले में नमाज को लेकर विरोध हो रही है. इसे लेकर कई हिंदू संगठनों की ओर से चेतावनी दी गई थी. जबकि दो साल पहले गुरुग्राम प्रशासन ने 37 जगह नमाज के लिए तय की थी. जिसे घटाकर अब 20 कर दिया गया है.

यह भी पढ़ें -: वीर दास की कविता पर भड़कीं कंगना रनौत, बोलीं- ये आतंकवाद से कम नहीं

यह भी पढ़ें -: राकेश टिकैत ने दी चेतावनी- पंचायत को रोका तो UP की जमीन पर न CM उतरेगा और न PM

सोर्स – abplive.com.  Gurugram Namaz Controversy


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-