Politics

मोदी सरकार पर बरसे चढ़ूनी- सहनशीलता की सीमा होती है, धैर्य की परीक्षा मत लो

gurnam-singh-chaduni-in-rohtak-do-not-test-patience-haryana-govt
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

सिंघु बॉर्डर पर किसान आंदोलन में दलित युवक की हत्या को लेकर विवाद छिड़ा हुआ है. इसी बीच भारतीय किसान संघ (हरियाणा) प्रमुख गुरनाम सिंह चढ़ूनी केंद्र सरकार को धमकी देते नजर आए. रोहतक में किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने कहा कि हमारे धैर्य की परीक्षा मत लो.

गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने कहा, ‘सरकार सोच रही है कि हम डरकर धरने पर बैठे हैं. हम सहन कर रहे हैं. लेकिन सहनशीलता की भी एक सीमा होती है, हमारे धैर्य की परीक्षा मत लो, हालांकि मैं अपने भाइयों से कहना चाहता हूं कि हमें हिंसा नहीं करनी चाहिए. सरकार के पास इस मुद्दे को सुलझाने का समय है.

यह भी पढ़ें -: उद्धव ठाकरे बोले- ‘मैं फकीर नहीं हूं जो झोला उठाकर चल दूंगा’

गुरनाम सिंह चढ़ूनी भारतीय किसान यूनियन (BKU) की हरियाणा यूनिट के प्रमुख हैं. वे किसान आंदोलन का एक अहम चेहरा हैं. कृषि कानूनों के खिलाफ जब सितंबर 2020 में आंदोलन अपनी जड़ें मजबूत करने में जुटा था, तब गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने ही हरियाणा के पीपली गांव में पहली सभा का आयोजन किया था.

gurnam-singh-chaduni-in-rohtak-do-not-test-patience-haryana-govt

यह भी पढ़ें -: धोनी दूसरी बार बनने वाले हैं पिता? पत्नी साक्षी धोनी के प्रेग्नेंट होने की खबरें वायरल

चढ़ूनी ने जुलाई में मिशन पंजाब का ऐलान किया था. गुरनाम सिंह ने पंजाब में किसान आंदोलन के लिए काम करने वाले लोगों से विधानसभा चुनाव लड़ने की बात कही थी, साथ ही राजनीति में आकर सिस्टम बदलने को कहा था. लेकिन संयुक्त किसान मोर्चा ने गुरनाम सिंह के इस बयान पर नाराजगी जाहिर की थी और चढ़ूनी को 1 हफ्ते के लिए सस्पेंड कर दिया था.

यह भी पढ़ें -: कुमार विश्वास बोले- जब तक धर्म को देश से ऊपर मानोगे, उन्मादी भीड़ वाले कबीले रहोगे औऱ राजनीति…

यह भी पढ़ें -: हत्या सरकार की साजिश, प्रशासन को दिए करोड़ों रुपए : राकेश टिकैत

सोर्स – aajtak.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-