Politics

हार्दिक पटेल ने कांग्रेस पार्टी से दिया इस्तीफा, कही ये बात…

gujarat-congress-leader-hardik-patel-resigns
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है। पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। हार्टिक पटेल ने इस्तीफे की जानकारी अपने ट्विटर हैंडल पर दी। उन्होंने लिखा, “आज मैं हिम्मत करके कांग्रेस पार्टी के पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूँ। मुझे विश्वास है कि मेरे इस निर्णय का स्वागत मेरा हर साथी और गुजरात की जनता करेगी। मैं मानता हूं कि मेरे इस कदम के बाद मैं भविष्य में गुजरात के लिए सच में सकारात्मक रूप से कार्य कर पाऊँगा।

हार्दिक पटेल ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर अपना इस्तीफा सौंपा। उन्होंने पत्र में लिखा कि अनेक प्रयासों के बाद भी कांग्रेस पार्टी द्वारा देशहित एवं समाज हित के बिल्कुल विपरीत कार्य करने के कारण मैं पार्टी से इस्तीफा दे रहा हूं।

ये भी पढ़ें -: कांग्रेस नेता बोले- ताजमहल और कुतुब मीनार हिंदुओं को सौंप दे मोदी सरकार

उन्होंने आगे लिखा, देश के युवा एक सक्षम और मजबूत नेतृत्व चाहते हैं, लेकिन कांग्रेस पार्टी सिर्फ विरोध की राजनीति तक सीमित रह गई है। जबकि, देश के लोगों को विरोध नहीं, ऐसा विकल्प चाहिए जो भविष्य के बारे में सोचता हो।

अपने इस्तीफे में पाटीदार नेता ने लिखा कि अयोध्या में राम मंदिर हो, सीएए-एनआरसी का मुद्दा हो, कश्मीर में अनुच्छेद 370 हो या जीएसटी लागू करने का निर्णय…देश लंबे समय से इन समस्याओं का समाधान चाहता था और कांग्रेस पार्टी सिर्फ इसमें एक बाधा बनने का काम करती रही। उन्होंने आरोप लगाया कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व में गंभीरता की कमी है। मैं जब भी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से मिला तो लगा उनका ध्यान गुजरात के लोगों से ज्यादा अपने मोबाइल और बाकी चीजों पर रहा।

ये भी पढ़ें -: जिस बच्चे ने नीतीश कुमार से मांगी थी मदद उसकी पढ़ाई का खर्च उठाएंगी गौहर खान

जब देश में संकट था तो हमारे नेता विदेश में थे। उन्होंने कहा, हमारे कार्यकर्ता अपने खर्च पर 500 से 600 किमी की यात्रा कर जनता के बीच जाते हैं और देखते गुजरात के बड़े नेताओं का ध्यान सिर्फ इस पर रहता है कि दिल्ली से आए नेता को चिकन सैंडविच समय पर मिला या नहीं।

हार्दिक पटेल के इस्तीफे के बाद गुजरात कांग्रेस नेता शक्तिसिंह गोहिल का बयान सामने आया है। उन्होंने हार्दिक पर तंज कसते हुए कहा, अगर आप पार्टी के नेतृत्व की बात करें तो आप कुछ दिन पहले राहुल गांधी के साथ एक मंच साझा कर रहे थे। आपको उनसे मिलने से किसने रोका? हमारे पास आंतरिक लोकतंत्र है। आंतरिक लोकतंत्र और अनुशासनहीनता के बीच एक पतली रेखा है। भाजपा के पास आंतरिक लोकतंत्र नहीं है।

ये भी पढ़ें -: रोज़गार राजा बिप्लब की विदाई पर युवाओं के नाम रवीश कुमार का पत्र

ये भी पढ़ें -: ज्ञानवापी में सर्वे के लिए नियुक्त टीम में कमिश्नर पद से हटाने पर अजय मिश्र बोले- मेरे साथ धोखा हुवा

ये भी पढ़ें -: सलमान को कंगना ने बताया क्लोज फ्रेंड, बोली- मेरे दबंग हीरो के रहते में अब…

सोर्स – amarujala.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-