Politics

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का एलान- इसी साल निजी हाथों में जाएंगी ये 5 सरकारी कंपनियां

government-ready-to-take-all-necessary-steps-for-the-revival-of-the-economy
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने गुरुवार को उद्योग जगत को आश्वस्त किया कि सरकार आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिए हर जरूरी कदम उठाने को तैयार है। सीतारमण ने उद्योग मंडल सीआईआई (CII) की सालाना बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिए लगाई गई पाबंदियों को हटाए जाने के बाद से अर्थव्यवस्था में तेजी और रिवाइवल के संकेत हैं।

उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष में अब तक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) में 37 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। वहीं विदेशी मुद्रा भंडार जुलाई में बढ़कर 620 अरब डॉलर पर पहुंच गया। वित्त मंत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार सुधारों को लेकर प्रतिबद्ध है। यहां तक कि महामारी के दौरान भी सरकार ने सुधारों को आगे बढ़ाया गया। पिछले साल केंद्र ने कृषि कानूनों और श्रम सुधारों को आगे बढ़ाया।

ये भी पढ़ें -: सैफ-करीना के बेटे के नाम पर दीपक चौरसिया बोले- आने वाली पीढ़ी इनका मजाक बनाएगी, हुवे ट्रोल

उन्होंने उद्योग जगत को आगे आने और अर्थव्यवस्था में निवेश बढ़ाने का आह्वान किया। वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार इस वित्त वर्ष में 1.75 लाख करोड़ रुपये के विनिवेश लक्ष्य को पूरा करंने के लिए कृतसंकल्प है। एयर इंडिया (Air India), भारत पेट्रोलियम (Bharat Petroleum), बीईएमएल (BEML), शिपिंग कॉरपोरेशन (Shipping Corp) और कंटेनर कॉरपोरेशन (Container Corp) का निजीकरण इसी साल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में इकॉनमी को उबारने के लिए सरकार आरबीआई के साथ मिलकर काम कर रही है।

ये भी पढ़ें -: जस्टिस रोहिंटन फली नरीमन के रिटायर होने पर बोले CJI- सुप्रीम कोर्ट से एक ‘शेर जज’ चला गया

ये भी पढ़ें -: लड़की से छेड़खानी पर पड़ोसी ने डांटा तो छत पर रख दिया IED, आतंकी बता पुलिस को दी सूचना, खुद गिरफ्तार

सीतारमण ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था अभी उस स्तर पर नहीं पहुंची है कि केंद्रीय बैंक लिक्विडिटी को वापस लेना शुरू कर दे। उन्होंने कहा कि एशिया की तीसरी सबसे बड़ी इकॉनमी अभी कोरोनावायरस की दो बड़ी लहरों के प्रभाव से उबर रही है। आरबीआई इस बात को अच्छी तरह समझता है कि इकॉनमी से तुरंत लिक्विडिटी निकालना जरूरी नहीं है। उन्होंने कहा कि महंगाई रोकने के लिए हरसंभव प्रयास किए जाएंगे और विकास सरकार की प्राथमिकता बना रहेगा।

ये भी पढ़ें -: कोरोना वैक्सीन बता नर्स ने 9 हजार लोगों को बनाया उल्लू, लगा दिया नमक के पानी का इंजेक्शन

ये भी पढ़ें -: इस्‍माइल ने हेलिकॉप्‍टर बना डाला पर टेस्टिंग में हादसे ने खत्‍म कर दिया सब कुछ

सोर्स – navbharattimes.indiatimes.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-